Live News »

जोधपुर सेंट्रल जेल में अवैध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए लगाए 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरे

जोधपुर सेंट्रल जेल में अवैध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए लगाए 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरे

जोधपुर: तिहाड़ के बाद सबसे सुरक्षित समझे जाने वाले जोधपुर की सेंट्रल जेल में आए दिन मोबाइल और सिम के अलावा नशीले पदार्थ के बरामद होने की घटनाएं बढ़ने से चिंतित जेल प्रशासन द्वारा समय-समय पर जेल में तलाशी अभियान तो चलाया ही जाता है. जिसमें कई बार मोबाइल और सिम बरामद भी होते है. ऐसे मे जेल की सुरक्षा को और कड़ा करने की जरूरत को महसूस करते हुए जहां 100 और सीसीटीवी कैमरे लगाए गए है जिनको शुरू करने की तैयारी चल रही है.  

100 से अधिक हाई रेंज के उच्च क्वालिटी वाले सीसीटीवी कैमरे लगाए: 
जोधपुर की सेंट्रल जेल में 100 से अधिक हाई रेंज के उच्च क्वालिटी वाले सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं. उम्मीद की जाती है कि अब जोधपुर की सेंट्रल जेल में मोबाइल और सिम के अलावा नशीली पदार्थ अंदर नहीं जाएंगे और जाएंगे तो आरोपियों के साथ साथ मिलीभगत में शामिल जेल के अधिकारियों और जेल प्रहरियों पर गाज गिरेगी. जोधपुर की सेंट्रल जेल में आए दिन छोटी मोटी गैंगवार की वारदात होती है. बन्दी आत्महत्या की कोशिश करते हैं तो वहीं दूसरी और वर्चस्व की लड़ाई को लेकर जोधपुर की जेल में आकाओं को जो खेल चलता है उस पर भी इन सीसीटीवी कैमरों के जरिए नजर रखने का अवसर मिलेगा. सेंट्रल जेल अधीक्षक कैलाश त्रिवेद्वी ने कहा कि तिहाड़ के बाद सबसे सुरक्षित जोधपुर की सेंट्रल जेल को समझा जाता है और यहां पर 1500 से अधिक कैदी रहते है एसे में जेल की सुरक्षा की जिम्मेदारी और भी अधिक बढ जाती है. हमारे पास वर्तमान में 150 सीसीटीवी कैमरे लगे हुए है जिनमें वर्किंग कंडिशन में अगर बात करे तो 19 कैमरे काम कर रहे है बाकि कैमरे तो लगा दिए गए है मगर उनका काम चल रहा है जो जल्द ही पूरा हो जाएगा उसमें मॉनिटरिंग के लिए जहां स्क्रिन इत्यादी लगानी बाकी है. जेल अधीक्षक कैलाश त्रिवेद्वी ने कहा कि हम लगातार एजेंसियों के टच में है कोशिश कर रहे है कि जल्द ही यह कैमरे शुरू हो जाए.  

नशीले पदार्थो और मोबाइल-सिम इत्यादी पर भी अंकुश लगेगा: 
जोधपुर की सेंट्रल जेल में लगे 150 सीसीटीवी कैमरे जो कि अभय कमांड कंट्रोल रूम और अलग-अलग एजेंसियों द्वारा लगाए गए है जिनका काम चल रहा है. यहां की सीधी मॉनिटरिंग अभय कमांड कंट्रोल रूम मे भी होगी. फिलहाल 19 कैमरे ही वर्किंग कंडिशन में है. जल्द ही बाकी के कैमरे शुरू होने के बाद जेल में सुरक्षा और अधिक बढ़ जाएगी जिससे अंदर जाने वाले नशीले पदार्थो और मोबाइल-सिम इत्यादी पर भी अंकुश लग सकेगा. आपको बता दे कि यह वही सेंट्रल जेल है जहां जेलर भारत भूषण भट्ट का कत्ल दिया कर दिया था, अंदर अलग-अलग गैंग काम करती है जिन पर नजर रखने के लिए जेल प्रशासन मुस्तैद है. इसलिए पुराने कैमरे हटाकर उनके स्थान पर नए और प्रभावी कैमरे लगाए गए है. 

...राजीव गौड़ फर्स्ट इंडिया न्यूज जोधपुर

और पढ़ें

Most Related Stories

जोधपुर में जघन्य हत्याकांड का हुआ खुलासा, पुलिस ने पत्नी सीमा सहित 4 आरोपियों को किया गिरफ्तार

जोधपुर में जघन्य हत्याकांड का हुआ खुलासा, पुलिस ने पत्नी सीमा सहित 4 आरोपियों को किया गिरफ्तार

जोधपुर: जोधपुर कमिश्नरेट क्षेत्र में 3 दिन पहले हुई निर्मम हत्या के मामले में पुलिस ने राज फाश करते हुए जघन्य हत्याकांड के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 11 अगस्त को नांदड़ी गौशाला के पीछे लगे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में एक अज्ञात व्यक्ति के कटे हुए हाथ, पैर व सिर मिला था. जिसकी सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव के टुकड़ों को कब्जे में लिया. इस मामले में बनाङ थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया.

पूर्व आईएएस अशोक सिंघवी की सुप्रीम कोर्ट से जमानत, खान घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में मिली जमानत

चरणसिंह उर्फ सुशील चौधरी के रूप में हुई शिनाख्त:
शव की शिनाख्त मेड़ता सिटी के चरणसिंह उर्फ सुशील चौधरी के रूप में हुई. पुलिस ने मामले का अनुसंधान शुरू किया. जांच में सामने आया कि मेड़ता पब्लिक पार्क के पास दो युवतियों ने मृतक की मोटरसाइकिल रखी थी , जिस पर पुलिस ने संदेह के आधार पर भीयाराम, सीमा, प्रियंका, बबीता को हिरासत में लिया और उनसे पूछताछ शुरू की.

हत्या करने के बाद शव के किए कई टुकड़े:
पूछताछ में सामने आया कि चरण सिंह का विवाह सीमा के साथ हुआ था, लेकिन सीमा का मुकलावा नहीं हुआ था. मृतक चरण सिंह उसकी पत्नी सीमा के मध्य आपसी विवाद होने के बात सामने आई थी जिसके कारण सीमा ने अपनी बहन और प्रियंका व बबीता व अभियुक्त भीयाराम के साथ मिलकर इस जघन्य हत्याकांड को नांदड़ी में किराए के मकान में अंजाम दिया. हत्या के बाद आरोपियों ने शव के टुकड़े किए और उन्हें अलग-अलग कट्टों में डालकर ट्रीटमेंट प्लांट में फेंक दिया. पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और उनसे अब पूछताछ की जा रही है.

MLA खरीद-फरोख्त से जुड़े ऑडियो टेप मामला: एमएलए भंवरलाल शर्मा के मामले में हाईकोर्ट ने मांगी रिपोर्ट मांगी

लोहावट में बाइक-ट्रक भिड़ंत, बाइक सवार दंपति की मौके पर मौत 

लोहावट में बाइक-ट्रक भिड़ंत, बाइक सवार दंपति की मौके पर मौत 

जोधपुर: प्रदेश के जोधपुर जिले के लोहावट के फलोदी-जोधपुर स्टेट हाईवे पर पश्चिमी ढाणी के निकट गुरुवार को दर्दनाक हादसा पेश आया, जहां बाइक और ट्रक की आमने-सामने हुई भिड़ंत में भाखरी निवासी बाइक सवार पति-पत्नी विष्णु औ भूरी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. 

जांच करवाने आये थे अस्पताल:
प्राप्त जानकारी के मुताबिक लोहावट के भाखरी गांव निवासी विष्णु भाटिया और भूरी भाटिया अपनी जांच करवाने लोहावट के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आये थे. जांच करवाने के बाद पति-पत्नी दोनों बाइक पर सवार हो कर फलोदी की तरफ जा रहे थे. 

भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो की भावना के साथ डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है- सीएम गहलोत

दंपति की मौके पर मौत:
स्टेट हाईवे पर पश्चिमी ढाणी के निकट सामने से आ रहे ट्रक से बाइक की सीधी टक्कर होने से बाइक के परखच्चे उड़ गए और बाइक सवार दंपति की घटनास्थल ही मौत हो गई. दुर्घटना की सूचना मिलने पर लोहावट थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दुर्घटना ग्रस्त वाहनों को जब्त कर दोनों मृतक दंपति के शवों को लोहावट सीएचसी स्थित मोर्चरी में रखवाया है.

16 अगस्त से शुरू होने वाली माता वैष्णो देवी यात्रा पर संशय, 8 पुजारी मिले कोरोना संक्रमित!

मुख्यमंत्री गहलोत ने जोधपुर पहुंच बहन विमला देवी से बंधवाई राखी, रिश्तों की दी अहमियत

मुख्यमंत्री गहलोत ने जोधपुर पहुंच बहन विमला देवी से बंधवाई राखी, रिश्तों की दी अहमियत

जोधपुर: प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने जोधपुर प्रवास के दौरान आज कई सामाजिक सरोकार निभाएतो वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाई के रूप में भी अपनी जिम्मेदारी बखूबी रूप से निभाई. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत फ्री होते ही अपनी बहन के घर पहुंच गए जहा अपनी बड़ी बहन विमला देवी से जहां अशोक गहलोत ने राखी बंधवाने के साथ ही उन के पैर छूकर आशीर्वाद लिया.

VIDEO: जैसलमेर से जयपुर लौटे विधायक, सरकार की रणनीति के तहत अगले कुछ दिन होटल में ही रहेंगे 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत रिश्तों को अहमियत देना नहीं भूलते:  
आपको बता दें कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चाहे रक्षाबंधन का त्यौहार हो या फिर भाई दूज का वक्त भले ही देरी ही क्यों ना हो जाए मगर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत रिश्तों को अहमियत देना नहीं भूलते. इस दौरान भांजे जसवंत सिंह कच्छवाहा सहित परिवार के अन्य सदस्य भी साथ रहे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस दौरान अपने भांजे जसवंत सिंह कच्छवाह के पूरे परिवार के साथ फोटो भी खिंचवाई. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के अलावा राजस्थान के चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा साथ रहे वहीं जोधपुर के पुलिस कमिश्नर जोस मोहन, संभागीय आयुक्त समित शर्मा व जिला कलेक्टर इंद्रजीत सिंह भी मौजूद रहे. 

अमेरिका की आर्थिक पैकेज की चर्चा से सोने-चांदी की कीमतों में भारी गिरावट, जानिए आज का भाव 

कोरोना में सरकार और प्रदेश वासियों ने डटकर किया मुकाबला - मुख्यमंत्री गहलोत

कोरोना में सरकार और प्रदेश वासियों ने डटकर किया मुकाबला - मुख्यमंत्री गहलोत

जोधपुर: एक दिवसीय दौरे पर जोधपुर पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिला कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 को लेकर अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली. बैठक में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, मौजूद थे. बैठक के बाद पत्रकारों से वार्ता करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से राजस्थान सरकार के साथ प्रदेश वासियों ने मिलकर मुकाबला किया है और जिस तरह से प्रदेश सरकार ने कोरोना की रोकथाम के लिए प्रयास किए उसे पूरे देश ने सराहना की है. भीलवाड़ा मॉडल की चर्चा देशभर में रही है. राजस्थान सरकार का प्रयास है कि घर घर जाकर स्क्रीनिग की जाए. प्रदेश के चिकित्सा इंफ्रास्ट्रक्चर को भी डवलप किया गया और अब प्रतिदिन 50,000 जांचे हो रही है.

जोधपुर सेंट्रल जेल से मर्डर का आरोपी फरार, बंदियों की जब हुई गिनती तब एक कैदी निकला कम 

राजस्थान सरकार प्रतिदिन 5 हजार कोरोना जांच नि:शुल्क करेगी:
गहलोत ने कहा कि हमने अपने पड़ोसी राज्यों से भी आग्रह किया कि यदि उन्हें आवश्यकता है तो राजस्थान सरकार प्रतिदिन 5 हजार कोरोना जांच नि:शुल्क करेगी. प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मरीजों के सवाल पर गहलोत ने कहा कि प्रदेश में सर्वाधिक जांचे हो रही है और इससे मरीजों की संख्या बढ़ी है. समय पर जांच होने से संक्रमण फैलने का खतरा कम रहता है और समय पर उपचार भी शुरू होता है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में मृत्यु दर काफी कम है और रिकवरी भी अच्छी है. कोरोना संक्रमण काल में जिला प्रशासन के अधिकारी, कर्मचारी, पुलिस प्रशासन जनप्रतिनिधियों ने भी पूरा सहयोग किया. 

अभिनेता संजय दत्त को स्टेज-3 का लंग कैंसर, संजय दंत की पत्नी मान्यता ने जारी किया बयान  

80 हजार स्वास्थ्य मित्र भी बनाए गए:
उन्होंने कहा कि सरकार ने भी आगे बढ़कर प्लाज्मा थेरेपी और महंगे इंजेक्शन भी नि:शुल्क उपलब्ध कराए हैं. 80 हजार स्वास्थ्य मित्र भी बनाए गए हैं जो आमजन में जाकर जागरूकता फैला रहे हैं. गरीबों को आर्थिक संबल देने के लिए सरकार ने नि:शुल्क गेहूं और चावल बांटे ₹3500 की नकद सहायता भी दी गई. निजी अस्पतालों में भी कोरोना के उपचार को लेकर आदेश जारी कर दिया गया है और अब निजी अस्पताल उपचार से मना नहीं कर सकते. लोकतंत्र बचाने की मुहिम को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी लोकतंत्र बचाने का प्रयास कर रही है जिसमें जनता ने भी पूरा साथ दिया है इसलिए उन्होंने जनता का आभार जताया. 11 पाक विस्थापित नागरिकों के मौत के मामले में अशोक गहलोत ने कहा कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाएगी. 

जोधपुर सेंट्रल जेल से मर्डर का आरोपी फरार, बंदियों की जब हुई गिनती तब एक कैदी निकला कम

जोधपुर सेंट्रल जेल से मर्डर का आरोपी फरार, बंदियों की जब हुई गिनती तब एक कैदी निकला कम

जोधपुर: तिहाड़ के बाद सबसे सुरक्षित समझी जाने वाली जोधपुर की सेंट्रल जेल एक बार फिर चर्चाओं में है. सेंट्रल जेल से मर्डर का आरोपी कैलाश उर्फ दूधिया फरार होने के बाद से जेल प्रशासन की सांसे फूल गई है. जेल में बंदियों की जब गिनती हुई तब जाकर कैदी को कम पाया गया. पड़ताल करने पर जेल प्रशासन के होश फाख्ता हो गए. 

अभिनेता संजय दत्त को स्टेज-3 का लंग कैंसर, संजय दंत की पत्नी मान्यता ने जारी किया बयान  

इसी साल 24 मई को यह आरोपी जेल पहुंचा: 
आनन-फानन में पुलिस कंट्रोल रूम और रातानाड़ा पुलिस के अलावा जेल के उच्च अधिकारियों को सूचना दी गई. इसी साल 24 मई को यह आरोपी जेल पहुंचा है. जेल अधीक्षक कैलाश त्रिवेदी ने आरोपी के फरार होने की पुष्टि करते हुए कहा कि कोरोना क्वेरंटाइल सेंटर से फरार हुआ है. लाइन में खड़े होकर पहले भोजन लिया था. बाद में गच्चा देकर वहां से गायब हो गया. रातानाड़ा पुलिस की टीम आरोपी की पड़ताल कर रही है. विभिन्न इलाको में नाकेबंदी की गई है. दल्ले खां की चक्की इलाके में फरार आरोपी कैलाश उर्फ दूधिया रहता था.  

नागौर जिले में तैनात सब इंस्पेक्टर की गाड़ी से 11.36 लाख रुपए और शराब की 21 बोतलें बरामद 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जोधपुर दौरा, देचू में 11 लोगों की मौत पर किया शोक व्यक्त

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जोधपुर दौरा, देचू में 11 लोगों की मौत पर किया शोक व्यक्त

जोधपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पिछले दिनों देचू में 11 पाक शरणार्थियों की हुई आकस्मिक मौत के मामले को गंभीरता से लेते हुए जैसलमेर से सीधे जोधपुर पहुंचे और पाक विस्थापितों की बस्ती में पहुंचकर मृतकों को श्रद्धांजलि देने के साथ विश्वास दिलाया कि इस पूरे मामले की जांच गहनता से से करवाई जाएगी और हर सुख दुख की घड़ी में सरकार पाक विस्थापितों के साथ खड़ी थी और खड़ी रहेगी. 

VIDEO: हमने कभी सरकार गिराने की कोशिश नहीं की, हमें बागी या विरोधी कहना बिल्कुल गलत- विश्वेन्द्र सिंह 

दिवंगत आत्माओं को श्रद्धा सुमन अर्पित किए:
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जैसलमेर से जोधपुर पहुंचने के बाद सीधा सड़क मार्ग के जरिए गंगाना रोड स्थित अल्कोसर नगर पहुंचे जहां पर हाल ही में देचू में 11 पाक शरणार्थियों की हुई असामयिक मौत को लेकर आवश्यक फीडबैक लेने के साथ ही दिवंगत आत्माओं को श्रद्धा सुमन अर्पित किए. गहलोत ने देचू में 11 लोगों की आकस्मिक मृत्यु पर शोक व्यक्त किया. इस दौरान पाक विस्थापित नेता हिंदूसिंह सोढ़ा व भी समाज की नेता कीर्ति सिंह के अलावा बड़ी संख्या में पाक शरणार्थी भी मौजूद रहे. गहलोत के साथ मंत्री हरीश चौधरी, पीसीसी अध्यक्ष गोविंद डोटासरा, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, विधायक महेन्द्र विश्नोई व कांग्रेस नेता उम्मेद सिंह के अलावा बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनिवाल साथ रही. 

गहलोत ने पाक शरणार्थी परिवारों से भी आवश्यक फीडबैक लिया:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पाक शरणार्थी परिवारों से भी आवश्यक फीडबैक लिया. आईजी नवज्योति गोगोई, पुलिस कमिश्नर जोस मोहन, संभागीय आयुक्त समित शर्मा, कलेक्टर इंद्रजीतसिंह, डीसीपी आलोक श्रीवास्तव के अलावा अन्य पुलिस के अधिकारी भी मौजूद रहे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज जैसलमेर से सीधा जोधपुर के एयरपोर्ट पहुंचे जहां पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों ने उनकी अगवानी की. जोधपुर एयरपोर्ट से सीधे गहलोत काफिले के साथ गंगाना रोड स्थित अल्कोसर नगर पहुंचे जहां उन्होने दिवंगत आत्माओं को श्रद्धासुमन अर्पित किए. 

शिक्षा व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर सरकार गंभीर: 
मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह घटना ह्दयविदारक है जिसने भी सुना है वह दुखी है. एक परिवार के 11 लोगों की बात कोई छोटी बात नहीं है. परिवार में तो 2 लोग बचे, लेकिन समाज साथ है. मामले की तह में जाने की जरूरत है. मामले की गंभीरता के कारण ही हम सभी आपके बीच है. 40 साल से पाक विस्थापित की पैरवी करता रहा हूं इसको पाक विस्थापित नेता हिंदू सिंह सोढा जानते है. पूरे मामले की जांच पुलिस कर रही है अगर किसी और से जांच करानी पड़ी तो उसके लिए भी सरकार तैयार है. केन्द्र के साथ आपकी समस्याओं को लेकर कोशिश करते रहते हैं. आपकी समस्याओं से वाकिफ हूं. जब आपके प्रतिनिधी जाएंगे तो अधिकारियों को बुलाकर हाथों हाथ समाधान को सरकार तैयार है. शिक्षा व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर सरकार गंभीर है. कोरोना से बचाव का संदेश देते हुए गहलोत ने कहा कि मास्क लगाने के साथ सोशल डिस्टेंस बनाए रखे. गरीब कोई तकलीफ न पाए, यही सरकार की प्राथमिकता है. वहीं पीसीसी अध्यक्ष गोविंद डोटासरा ने संबोधित करते हुए कहा कि ये घटना बेहद दुखद है, खुद सीएम ने उस दिन ही कहा कि मैं स्तब्ध हूं. मेरी ईच्छा है कि उनके बीच में जाकर दर्द को समझू और बांटू. आज खुद सीएम आपके बीच संवेदनशीलता के साथ मौजूद है.  

VIDEO: प्रदेशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि आने वाले दिनों में दुगुने जोश से काम करेंगे - सीएम गहलोत 

मुख्यमंत्री गहलोत पाक विस्थापितों के मुद्दे पर पैरवी करते रहे हैं: 
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जब से राजनीतिक जीवन में आए हैं तब से पाक विस्थापितों के मुद्दे को केंद्र और राज्य में प्राथमिकता से उठाने के साथ पैरवी भी करते रहे हैं. सांसद और केंद्रीय मंत्री रहते हुए भी उन्होंने पाक विस्थापितों की समस्याओं के समाधान के लिए कोशिश की और जब उन्हें मुख्यमंत्री बनने का अवसर मिला तब नागरिकता के मामले में अपने स्तर पर हर तरह के प्रयास किए जिसके बूते हजारों विस्थापित को भारतीय नागरिकता मिल पाई है.  

...फर्स्ट इंडिया के लिए जोधपुर से राजीव गौड़ की रिपोर्ट

यौन उत्पीड़न मामले में आरोपी आसाराम को बड़ी राहत, अब सेंट्रल जेल में मिलेगा बाहर का खाना

यौन उत्पीड़न मामले में आरोपी आसाराम को बड़ी राहत, अब सेंट्रल जेल में मिलेगा बाहर का खाना

जोधपुर: अपने ही आश्रम की नाबालिग छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न के आरोप में जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद आसाराम को बड़ी राहत मिली है. आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे आसाराम को अब सेंट्रल जेल में आश्रम का खाना उपलब्ध होगा. आसाराम की ओर से राजस्थान हाईकोर्ट में लगाई गई अर्जी को कोर्ट ने मेडिकल ग्राउंड पर स्वीकार कर लिया है. आसाराम मामले में चल रही सुनवाई के दौरान ही आसाराम की ओर से हाईकोर्ट में मेडिकल ग्राउंड के आधार पर आश्रम से खाना मुहैया कराने की अर्जी लगाई गई. इस अर्जी पर राजस्थान हाई कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस संदीप मेहता एवं जस्टिस सुश्री प्रभा शर्मा की खंडपीठ में सुनवाई हुई. 

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, बेटियां भी पैतृक संपत्ति में बराबर की हिस्सेदार 

मेडिकल ग्राउंड को ध्यान में रखते हुए आसाराम की अर्जी को स्वीकार:  
आसाराम की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता जगमाल सिंह चौधरी एवं प्रदीप चौधरी ने पक्ष रखते हुए हाई कोर्ट खंडपीठ को अवगत कराया कि आसाराम काफी बुजुर्ग हैं और विभिन्न बीमारी से ग्रसित है, ऐसे में चिकित्सकों की ओर से डाइट मैन्यू के आधार पर खाना उपलब्ध कराया जाए ताकि उनका स्वास्थ्य बेहतर रहे. हाईकोर्ट ने मेडिकल ग्राउंड को ध्यान में रखते हुए आसाराम की इस अर्जी को स्वीकार कर लिया है. अब आसाराम को सेंटर जेल में ही आश्रम का खाना उपलब्ध हो सकेगा. 

बीजेपी ने पूरा जोर लगा लिया लेकिन एक आदमी टूट कर नहीं गया- मुख्यमंत्री गहलोत 

जोधपुर के देचू में 11 पाक विस्थापितों की मौत का प्रकरण, सभी की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव

जोधपुर के देचू में 11 पाक विस्थापितों की मौत का प्रकरण, सभी की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव

जोधपुर: जिले के ग्रामीण देचू थाना क्षेत्र के लोड़ता गांव में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले में आज महात्मा गांधी अस्पताल की मोर्चरी में सभी शवों का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. पोस्टमार्टम करवाने से पहले सभी शवों की कोरोना जांच की गई. सभी मृतकों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद मेडिकल टीम ने पोस्टमार्टम शुरू किया है, वहीं ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट भी मोर्चरी पहुंचे हैं. पोस्टमार्टम के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो पाएगा कि आखिर यह आत्महत्या का मामला है या हत्या का.

Rajasthan Political Crisis:  बसपा विधायकों के विलय मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई 

मौके पर कीटनाशक की बदबू आ रही थी: 
रविवार सुबह देचू थाने में ग्रामीणों ने सूचना दी कि लोड़ता गांव के क्षेत्र में एक ही परिवार के 11 लोग अचेत अवस्था में पड़े हैं, जिस पर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची. मौके पर कीटनाशक की बदबू आ रही थी, इसके बाद पुलिस के आला अधिकारी को सूचना दी गई. ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुनील के पवार मौके पर पहुंचे थे, साथ ही एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया गया था. मौके पर कुछ इंजेक्शन भी मिलने की बात सामने आ रही है, हालांकि इस बारे में अभी पुलिस कुछ भी खुलकर नहीं कह रही है. 

Open Covid-19