उत्तरकाशी 3 दिन में ही गंगोत्री, यमुनोत्री पहुंचे 37 हजार से ज्यादा श्रद्धालु, पर्यटन कारो​बारियों और होटल व्यवसायियों में छाई प्रसन्नता की लहर 

3 दिन में ही गंगोत्री, यमुनोत्री पहुंचे 37 हजार से ज्यादा श्रद्धालु, पर्यटन कारो​बारियों और होटल व्यवसायियों में छाई प्रसन्नता की लहर 

3 दिन में ही गंगोत्री, यमुनोत्री पहुंचे 37 हजार से ज्यादा श्रद्धालु, पर्यटन कारो​बारियों और होटल व्यवसायियों में छाई प्रसन्नता की लहर 

उत्तरकाशी (उत्तराखंड): उत्तराखंड में गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के तीन दिन के भीतर ही दोनों धामों के दर्शन के लिए अब तक 37 हजार से अधिक श्रद्धालु पहुंच चुके हैं, जिससे पर्यटन कारोबारियों एवं होटल व्यवसायियों में प्रसन्नता की लहर है. वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते दो वर्षों तक बाधित रही चारधाम यात्रा ने इस बार शुरू से ही जोर पकड़ लिया है. मंगलवार को अक्षय तृतीया पर गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के बाद प्रदेश में चारधाम यात्रा विधिवत रूप से शुरू हो गई है.

शुक्रवार को बाबा केदारनाथ धाम के कपाट भी श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए हैं, जबकि बदरीनाथ के कपाट आठ मई को खुलेंगे, जिन्हें लेकर चारधाम यात्रियों में खासा उत्साह दिखाई दे रहा है.सरकारी आंकडों के अनुसार, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा को शुरू हुए अभी तीन दिन का समय ही हुआ है और अब तक दोनों धामों में कुल 37,250 यात्री मां गंगा व यमुना के दर्शन कर चुके हैं.

दोनों धामों में तीर्थ यात्रियों के पहुंचने से होटल व्यवसायियों के चहरे खिल उठे हैं. उत्तरकाशी होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेन्द्र मटूड़ा व गंगोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश सेमवाल ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि कोरोनो को मात देने के बाद तीर्थयात्री बडी संख्या में धामों के दर्शनों को पहुंच रहे हैं.सेमवाल ने कहा कि यदि सबकुछ ऐसा ही चला तो इस बार रिकॉर्ड तोड़ तीर्थयात्री गंगोत्री व यमुनोत्री के दर्शन को पहुंचेंगे.(भाषा) 

और पढ़ें