आरटीई में एडमिशन के लिए भारी कशमकश, 4 लाख से ज्यादा आवेदन

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/26 08:36

जयपुर। प्रदेश में शिक्षा का अधिकार कानून के तहत निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए इस बार बंपर आवेदन आए हैं। यह संख्या पहली बार 4 लाख से पार है। ऐसे में तय है कि नामी और चुनिंदा स्कूलों में इस कोटे से एडमिशन के लिए काफी कशमकश रहेगी। करीब 33 हजार स्कूलों के लिए आरटीई की यह लॉटरी मंगलवार को सवेरे शिक्षा संकुल में निकाली जाएगी। 

निजी स्कूलों में आरटीई कोटे के तहत पहली बार यकायक बड़ा उत्साह नजर आ रहा है। हालांकि इसकी एक बड़ी वजह आवेदन की अंतिम तिथि को विभाग की ओर से बढ़ाना भी रहा है। इस बार पहली बार 4.55 लाख आवेदन जमा हुए हैं। एक अभिभावक प्रवेश के लिए वरियता के हिसाब से अधिकतम 15 निजी स्कूलों की च्वाइस भर सकता है। इस कारण इन आवेदकों ने 19 लाख से अधिक च्वाइस भरी है। 
.
निजी स्कूलों में भारी भरकम फीस के चलते बड़ी संख्या में अभिभावक चाहकर भी बच्चे का एडमिशन निजी स्कूल में नहीं करवा सकते। ऐसे में आरटीई ऐसे अभिभावकों और बच्चों के लिए वरदान बन रहा है। जयपुर के नामी स्कूलों में इस बार इस कोटे से प्रवेश के लिए भारी प्रतिस्पदर्धा का दौर चल रहा है। यह तय है कि जिस बच्चे का नाम लॉटरी में निकलेगा, अभिभावक इसे अपना बड़ा भाग्य मानेगा। 27 मार्च को लॉटरी निकलने के बाद 4 अप्रैल तक स्कूल में रिपोर्ट करनी होगी और 8 अप्रैल से प्रवेश शुरू होंगे। 

पिछले सालों में आवेदन और च्वाइस किए स्कूलों की संख्या:  

2016-17  में 159262 आवेदन आए। इसके लिए 4 लाख  स्कूलों की च्वाइस रखी गई
2017-18  में 171346 आवेदन आए। इसके लिए  573338  स्कूलों की च्वाइस रखी गई
2018-19  में 262449 आवेदन आए और इसके लिए 1141416 स्कूलों की च्वाइस रखी गई
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in