रोहुआ में फंसे 50 से अधिक लोगों के लिए अभी तक नहीं पहुंची राहत, 95 इंच पहुंचा बारिश का आंकड़ा

FirstIndia Correspondent Published Date 2017/07/25 01:29

सिरोही | सिरोही जिले के रेवदर कस्बे में भारी बारिश का दौर जारी है और इस बारिश के दौर में रेवदर के समीप स्थित रोहुआ गांव में में चारों ओर से पानी गिर गया है और गांव वाले इस पानी के बीच फंसे हुए हैं वहीं लोगों से संपर्क नहीं हो पा रहा है नेटवर्क नहीं होने के चलते लोगों से संपर्क होने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ऐसे में सूचना एवं मिल रही है कि करीब 50 लोग एक ऊंची पहाड़ी पर बैठकर पानी से बचने का जतन कर रहे हैं

बारिश के इस मौसम में जहां सभी संसाधन जवाब दे रहे हैं, ऐसे में एसडीआरएफ के साथ सिरोही प्रशासन, पुलिस और स्थानीय लोगों के प्रयासों से जान जोखिम में डालकर अणगौर, अंदौर, लोटीवाडा, धांता और पालडी एम में पानी के तेज बहाव से बाहर सुरक्षित निकाल लिया। बारिश से पूर्व सिरोही के एक शिक्षक का परिवार एक अन्य परिवार के 17 लोग अणगौर में खेतों फंस गए थे। दोनों तरफ पानी का तेज बहाव होने के कारण इन लोगों का सिरोही आना मुश्किल था। सवेरे सूचना मिलने पर इन लोगों बाहर निकालने के लिए एसडीआरएफ की टीम गई, लेकिन काफी समय तक सफलता नहीं मिल सकी। फिर प्रशासनिक कर्मियों, पुलिसकर्मियों और स्थानीय लोगों ने एक साथ हिम्मत जुटाई और शाम पांच बजे तक अणगौर में फंसे 17 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

एडीएम जवाहर चैधरी ने बताया कि शिवगंज तहसील के अंदौर गांव की पीएचसी में नर्सिंगकर्मी समेत तीन लोग पानी से घिर गए थे। उन्हें वहां की पुलिस टीम ने बाहर निकला। लोटीवाडा में दो जगहों पर 11 लोग पानी के तेज बहाव के बीच फंस गए थे। इनमें से एक समुह में फंसे 5 लोगों को तो पुलिस टीम ने बचाया, वहीं दूसरे समुह में फंसे छह लोगों को उदयपुर से सिरोही पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने बाहर निकाला।

इसी तरह धांता में खेत मे करीब 17 लोग पानी के तेज बहाव के बीच फंसे हुए थे। इन्हें एसडीआरएफ की टीम ने शाम को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। पालडी एम में भी पानी के बहाव में फंसे लोगों को प्रशासन ने सुरक्षित बाहर निकाला। जिला कलक्टर संदेश नायक ने बताया कि धांता में एक गर्भवती महिला को सिंदरथ होते हुए सिरोही चिकित्सालय में लाकर भर्ती करवाया गया। वास्तानेश्वर जी में हरियाली अमावस्या पर पूजा करने और मेले में व्यवसाय करने गए सिरोही शहर समेत आसपास के करीब डेढ दर्जन लोग वहीं पर हैं। एडीएम ने बताया कि यह लोग माउण्ट आबू में बारिश के बाद वहां पानी का तेज बहाव होने के कारण वहीं रुक गए थे। इन लोगों के पास खाने पीने की सामग्री है और वास्तानेश्वर जी के मंदिर में सभाभवन में सुरक्षित स्थान में होने की सूचना मिली है।

ऐसे में उन्हें सोमवार को नहीं निकाला गया। यह लोग पर्याप्त भोजन सामग्री के साथ सुरक्षित स्थान पर हैं। रात में बारिश रुकती है और झरने का पानी कम होता है तो यह लोग स्वतः भी वापस आ सकते हैं। उन्होंने बताया कि वैसे आज को उन्हें भी निकालने की कवायद करेंगे। वही जिले की बात की जाए तो जिले में भी यही स्थिति नजर आ रही है जहां जिले के अधिकतर बांध ओवरफ्लो हो चुके हैं तो बांध भारी आवक पानी की आवक के चलते पानी का लगातार देख बढ़ता हुआ नजर आ रहा है और माउंट आबू में भी बारिश के यही हाल नजर आ रहे हैं|

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in