Live News »

VIDEO: गहलोत कैबिनेट और मंत्री परिषद की बैठक में लिए गए एक दर्जन से ज्यादा निर्णय

VIDEO: गहलोत कैबिनेट और मंत्री परिषद की बैठक में लिए गए एक दर्जन से ज्यादा निर्णय

जयपुर: भामाशाह कार्ड और योजना 31 मार्च 2020 को बंद हो जाएगी. इसके बजाय सीएम गहलोत जन आधार कार्ड की लॉन्चिंग करेंगे. गहलोत कैबिनेट की पहली बार बुधवार को हुई बैठक में यह अहम फैसला किया गया. 1 दिसंबर से 31 मार्च तक भामाशाह और जन आधार कार्ड दोनों मान्य रहेंगे. इसके साथ ही कैबिनेट और मंत्री परिषद की बैठक में एक दर्जन से ज्यादा निर्णय हुए. 

सूखे अतिवृष्टि की स्थिति पर विचार:
मंत्रिपरिषद में सूखे की स्थिति पर विचार हुआ. जैसलमेर हनुमानगढ़ बाड़मेर व जोधपुर इन 4 जिलों के 1388 गांव अभावग्रस्त घोषित किए गए. इस जिलों में सूखे होने की अधिसूचना आगे बढ़ेगी. यहां 33 प्रतिशत से ज्यादा खराबा हुआ है और 3 लाख 93 हजार 120 किसान प्रभावित हुए हैं. केंद्र से इनके लिए 406 व 190 करोड़ के 2 पैकेज की मांग की गई हैं. इसके लिए केंद्र की 16 से 18 दिसंबर को 3 टीमें बाड़मेर, जैसलमेर और हनुमानगढ़ का दौरा करेगी. मंत्रिपरिषद में अतिवृष्टि को लेकर भी विचार हुआ. अतिवृष्टि से 20 जिले प्रभावित थे, उसमें 18 जिले ज्यादा प्रभावित हैं. वहीं 12943 गांव ज्यादा प्रभावित है. इनके लिये केंद्र को रिपोर्ट दी गई है, साथ ही इन गांवों के लिए सरकार ने NDRF फंड से 2645 करोड़ मांगा है. 

बंद होगा भामाशाह कार्ड:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंत्रिमंडल ने पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के समय जारी किए गए भामाशाह कार्ड को 31 मार्च के बाद बंद करने का निर्णय लिया गया है. इसकी जगह 1 अप्रैल से नया जन आधार कार्ड लागू होगा, जिसके आधार पर सभी प्रदेशवासियों को स्वास्थ्य बीमा योजना सहित सभी तरह का लाभ मिल सकेगा. जन आधार कार्ड को एक अलग ही यूनिक नंबर दिया जाएगा. 1 अप्रैल से जन आधार कार्ड काम करना शुरू कर देगा. जन आधार कार्ड से हेल्थ कार्ड को भी जोड़ा जाएगा. इसमें हर आदमी की एक हेल्थ केस स्टडी होगी, जिसमें सभी तरह की उसमें डिटेल मौजूद होगी. साथ ही आई एम शक्ति योजना का भी मुख्यमंत्री शुभारंभ करेंगे. इस योजना के तहत महिला सशक्तिकरण का कार्य होगा, जिसमें हर साल करीब 200 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

12 जिलों में एसटी के लिए 5 और ईडब्ल्यूएस के लिए 10% आरक्षण:
मंत्रिपरिषद की बैठक में पहले सर्क्युलेशन से पारित किए गए और पहले के कैबिनेट निर्णयों का अनुमोदन किया गया है. इसके साथ ही सहरिया बारां जिले में अनुसूचित जनजाति को 5% आरक्षण और इस क्षेत्र के सवर्णों को 10% आरक्षण देने का निर्णय लिया है. ऐसे में अब सहरिया में आरक्षण की सीमा बढकर 64% हो जाएगी. 

सरकार की वर्षगांठ पर 3 दिन कार्यक्रम:
रघु शर्मा ने बताया कि मंत्रिपरिषद ने सरकार के 1 साल पूरा होने पर 3 दिन कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया है. इसमें पहले दिन 17 दिसम्बर को 7:30 बजे रन फोर निरोगी दौड़ आयोजित की जाएगी. इसके बाद सुबह 10:30 बजे जवाहर कला केंद्र में एक वर्ष फैसले अनेक थीम पर एक प्रदर्शनी आयोजित की जाएगी, जिसमें सभी विभागों की उपलब्धियों को दर्शाया जाएगा. इसके बाद दोपहर 12:30 बजे विद्याधर नगर में किसान सम्मेलन आयोजित होगा. अगले दिन 18 दिसंबर को निरोगी राजस्थान अभियान की शुरुआत होगी. इसके तहत वाल्मीकि नगर जगतपुरा में जनता क्लिनिक योजना की शुरुआत होगी. तीसरे दिन यानि 19 दिसंबर को सुबह 10:30 बजे एमएमएमई कॉन्क्लेव होगा. यह कॉन्क्लेव औद्योगिक-विकास की थीम पर आयोजित होगा. इसके बाद एमएनआईटी में एक समिट होगी, जिसमें नवाचार करने वाले 100 स्टार्टअप के लोगों को आमंत्रित किया गया है. इसी दिन सभी जिला मुख्यालय पर एक प्रदर्शनी आयोजित की जाएगी, जिसमें सभी जिला प्रभारी मंत्री शामिल होंगे और हर जिलों में सरकार की उपलब्धियों को लेकर  जनता और प्रेस को संबोधित करेंगे।

3 कॉलेजों के नाम परिवर्तन:
कैबिनेट की बैठक में 3 कॉलेजों के नाम परिवर्तन पर भी मुहर लगी. शहीद हेमराज मीणा राजकीय कॉलेज सांगोद कोटा, श्री राधेश्याम आर मोरारका राजकीय कॉलेज नवलगढ़ झुंझुनूं, शहीद मुकुट बिहारी मीणा राजकीय कॉलेज खानपुर झालावाड़ के नामकरण हुए. उदयपुर एयरपोर्ट को 70 बीघा जमीन देने के मामले में भारतीय विमान प्राधिकरण को 22.79 करोड़ की लीज राशि में दी छूट दी गई है. इसका ऑडिट पैरा बना हुआ था और यह राजस्व विभाग का एजेंडा था. 

इन पर नहीं हुई चर्चा:
कैबिनेट की बैठक में उद्योग, संसदीय कार्य विभाग, कृषि विभाग के एजेंडों पर विचार नहीं हुआ. बैठक में मंत्री लालचंद कटारिया, परसादी लाल मीणा और शांति धारीवाल नहीं आए. इसलिए उनसे जुड़े विभागों के एजेंडे कैबिनेट में नहीं रखे गए. राजस्थान विधानसभा, सचिवालय भर्ती और सेवा नियम 1992 में संशोधन पर चर्चा नहीं हुई. 1 इंडस्ट्रीज का नाम परिवर्तन करने का प्रस्ताव, त्रिनेत्र सीमेंट लिमिटेड का नाम द इंडिया सीमेंट लिमिटेड करने का प्रस्ताव पर भी विचार नहीं किया गया. उद्योग विभाग के भी एजेंडे थे, लेकिन मंत्री परसादी लाल मीणा के नहीं आने से उस पर भी चर्चा नहीं हुई. कैबिनेट की बैठक में उद्योग, संसदीय कार्य विभाग, कृषि विभाग के एजेंडों पर विचार नहीं हुआ. 

किसान सम्मेलन में किसानों के लिए बड़ी घोषणा:
ब्रीफिंग में मंत्री रघु शर्मा ने संकेत दिए कि किसान सम्मेलन में किसानों के लिए बड़ी घोषणा हो सकती है. दीर्घकालीन कृषक ऋण योजना संबंधी सरकार घोषणा कर सकती है. 

... संवाददाता ऋतुराज शर्मा की रिपोर्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

सीएम गहलोत के निर्देश, लॉकडाउन और कर्फ्यू की सख्ती से कराये पालना, अफवाह फैलाने पर हो कार्रवाई

सीएम गहलोत के निर्देश, लॉकडाउन और कर्फ्यू की सख्ती से कराये पालना, अफवाह फैलाने पर हो कार्रवाई

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्य में लाॅकडाउन एवं कर्फ्यू की सख्ती से पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए लोगों का घरों में रहना जरूरी है. गहलोत ने रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए गृह विभाग एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ राज्य में लाॅकडाउन एवं कर्फ्यू की स्थिति की समीक्षा की. गहलोत ने निर्देश दिए कि सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यमों से फैलाई जा रही अफवाहों एवं गलत सूचनाओं पर पुलिस अधिकारी प्रभावी अंकुश लगाएं. ऐसा करने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई अमल में लाएं. राज्य के विभिन्न जिलों के 34 थाना इलाकों में कर्फ्यू लगाया गया है. साथ ही सोशल मीडिया पर भ्रामक सूचनाएं देने के मामलों में 50 से अधिक मुकदमे दर्ज किए गए हैं और 300 से अधिक लोगों पर कार्रवाई की गई है. 

हनुमान मंदिर में चोरी की वारदात, अज्ञात चोर ने 2 दानपात्र और 13 चांदी के छत्र चुराए

सीएम गहलोत ने की पुलिसकर्मियों की तारीफ: 
वीडियो कांफ्रेंस के दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह राजीव स्वरूप, पुलिस महानिदेशक  भूपेन्द्र सिंह, महानिदेशक कानून-व्यवस्था  एमएल लाठर, एडीजी क्राइम  बीएल सोनी, एडीजी इंटेलीजेंस उमेश मिश्रा, एडीजी एसओजी अनिल पालीवाल आदि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को वस्तुस्थिति से अवगत कराया. अपनी-अपनी रेंज का दौरा कर लौटे प्रभारी अतिरिक्त पुलिस महानिदेशकों ने मुख्यमंत्री को लाॅकडाउन और कर्फ्यूग्रस्त इलाकों की जानकारी दी. वहीं मुख्यमंत्री गहलोत ने पुलिसकर्मियों की तारीफ करते हुए कहा कि विकट समय में पुलिसकर्मी सड़क पर खड़े रहकर मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहे हैं.

स्वास्थ्यकर्मियों की पुख्ता सुरक्षा करने के निर्देश:
साथ ही अन्य व्यवस्थाओं तथा मानवीय कार्यों में भी सहयोग दे रहे हैं जो कि प्रशंसनीय है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने इस महामारी के रोगियों का उपचार कर रहे चिकित्सकों एवं स्क्रीनिंग कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों की पुख्ता सुरक्षा करने के निर्देश दिए. गहलोत ने इसके साथ ही कोर ग्रुप और क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से चर्चा कर कोरोना की स्थिति की समीक्षा की. मुख्यमंत्री ने आईसोलेशन, चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता, राशन एवं खाद्य सामग्री पहुंचाने, प्रवासी कामगारों के लिए बनाए गए शिविरों में आवश्यक व्यवस्थाओं, गर्भवती महिलाओं के सुरक्षित प्रसव आदि के बारे तमाम इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. उन्होंने फसल कटाई, मंडियों में कृषि जिंसों की खरीद-फरोख्त प्रारंभ करने आदि के बारे में चर्चा की.

Coronavirus Updates: कोरोना का कहर, राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 274, कोटा में एक मरीज की मौत 

भीलवाड़ा में किए गए उपायों की सराहना की:
उधर मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने मुख्यमंत्री को बताया कि केन्द्रीय कैबिनेट सचिव द्वारा रविवार को ली गई वीडियो कांफ्रेंसिंग में कोरोना से बचाव के लिए भीलवाड़ा में किए गए उपायों की सराहना की गई है. केन्द्रीय कैबिनेट सचिव ने भीलवाड़ा माॅडल को पूरे देश में लागू करने के संकेत दिए हैं. वार रूम प्रभारी सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव अभय कुमार ने क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों की ट्रेकिंग के लिए तैयार डैश बोर्ड के बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा कि इससे ऐसे लोगों की गतिविधियों की ट्रेकिंग सुनिश्चित की जा रही है.

Coronavirus Updates: कोरोना का कहर, राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 274, कोटा में एक मरीज की मौत 

Coronavirus Updates: कोरोना का कहर, राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 274, कोटा में एक मरीज की मौत 

जयपुर: प्रदेश में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. इसके मामले लगातार बढते जा रहे है. प्रदेश में कोरोना से सोमवार को कोटा में मौत हो गई है, प्रदेश में ये छठी मौत है. कोटा में 60 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की मौत हो गई है. ताजा नए  8 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये. झुंझुनूं में 5, डूंगरपुर में दो, एक जैसलमेर में पॉजिटिव केस सामने आया. अब तक कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा 274 पहुंच गया. 

देशभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3500 से ज्यादा:
वहीं देशभर में भी लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है. भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या अब तक 3500 से ज्यादा हो गई है. वहीं अब तक 83 लोगों की मौत हो चुकी है. अच्छी बात यहै है कि 274 मरीजों का इलाज सफल हो गया है.

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा

मोदी कैबिनेट की बैठक आज:
इसी बीच पीएम मोदी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कैबिनेट की बैठक में भाग लेंगे. इस दौरान कोरोना के एक्शन प्लान पर चर्चा होगी. साथ ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण स्कीम की समीक्षा भी की जाएगी. देश के अलग-अलग जिलों के अलग-अलग जिलों के जिलाधिकारियों से मिले फीडबैक को भी केंद्रीय मंत्री, पीएम के सामने रखेंगे. 

दुनियाभर में 13 लाख से अधिक लोग संक्रमित:
दुनियाभर में अब तक कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 13 लाख से अधिक हो गई है. इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा 60 हजार के करीब पहुंच गया है. दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका इस वायरस से बुरी तरह प्रभावित है. यहां स्थिति बद से बदतर होती जा रही है. अमेरिका में अब तक नौ हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. यहां संक्रमण के मामले तीन लाख से ज्यादा हो गए हैं.

Coronavirus Updates: दीये, मोमबत्ती और टॉर्च वाली रोशनी से जगमग हुआ देश, पीएम की अपील पर लोगों ने 9 मिनट तक मनाई 'दिवाली'

Coronavirus Updates: राजस्थान में 266 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या, देशभर में 3500 से ज्यादा पहुंचा आंकड़ा

Coronavirus Updates: राजस्थान में 266 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या, देशभर में 3500 से ज्यादा पहुंचा आंकड़ा

जयपुर: प्रदेश में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है. रविवार को एक ही दिन में रिकॉर्ड 60 मरीज सामने आए. इनमें अकेले जयपुर के रामगंज में 39 मरीज मिले. इससे भी चिंता की बात यह है कि जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज की कैंटीन में काम करने वाला रामगंज निवासी एक युवक भी पॉजिटिव आया है. ऐसे में डॉक्टर और रेजीडेंट में भय का माहौल हो गया. प्रदेश में अब 266 रोगी हो गए हैं. 

Coronavirus Updates: दीये, मोमबत्ती और टॉर्च वाली रोशनी से जगमग हुआ देश, पीएम की अपील पर लोगों ने 9 मिनट तक मनाई 'दिवाली' 

देशभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3500 से ज्यादा:
वहीं देशभर में भी लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है. भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या अब तक 3500 से ज्यादा हो गई है. वहीं अब तक 83 लोगों की मौत हो चुकी है. अच्छी बात यहै है कि 274 मरीजों का इलाज सफल हो गया है.

मोदी कैबिनेट की बैठक आज:
इसी बीच पीएम मोदी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कैबिनेट की बैठक में भाग लेंगे. इस दौरान कोरोना के एक्शन प्लान पर चर्चा होगी. साथ ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण स्कीम की समीक्षा भी की जाएगी. देश के अलग-अलग जिलों के अलग-अलग जिलों के जिलाधिकारियों से मिले फीडबैक को भी केंद्रीय मंत्री, पीएम के सामने रखेंगे. 

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा

दुनियाभर में 13 लाख से अधिक लोग संक्रमित:
दुनियाभर में अब तक कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 13 लाख से अधिक हो गई है. इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा 60 हजार के करीब पहुंच गया है. दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका इस वायरस से बुरी तरह प्रभावित है. यहां स्थिति बद से बदतर होती जा रही है. अमेरिका में अब तक नौ हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. यहां संक्रमण के मामले तीन लाख से ज्यादा हो गए हैं.

Rajasthan Corona Update: एक दिन में 47 नए मामले सामने आए, 254 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या

जयपुर: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है. प्रदेश में आज 47 नए केस सामने आए है. जिसमें 39 केस जयपुर में सामने आए हैं. वहीं इससे पहले आज अलसुबह कोरोना पॉजिटिव रामगंज निवासी 82 वर्षीय बुजुर्ग ने SMS अस्पताल में दम तोड़ दिया है. हालांकि बुजुर्ग की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट उसकी मौत के बाद सामने आई है. वहीं प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस की वजह से 5 लोगों की मौत हो चुकी है.

Coronavirus Updates: देशभर में 3300 से अधिक लोग हुए संक्रमित, देशभर में 274 जिले प्रभावित- स्वास्थ्य मंत्रालय

राजस्थान में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 254:
आज दौसा में 2 संक्रमित पाए गए है. इसके अलावा झुंझुनूं, नागौर और टोंक में भी एक-एक केस पॉजिटिव मिला है. इसके अलावा जोधपुर में ईरान से आए तीन लोग संक्रमित मिले हैं. जिसके बाद राजस्थान में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 254 पहुंच गई.

प्रदेश के 20 जिलों में कोरोना वायरस अपने पैर पसार चुका:
प्रदेश के 20 जिलों में कोरोना वायरस अपने पैर पसार चुका है. सबसे ज्यादा मामले राजधानी जयपुर में मिले हैं. यहां अब तक 94 (2 इटली के नागरिक) पॉजिटिव सामने आए हैं. वहीं इसके बाद जोधपुर में 48 (इसमें 31 ईरान से आए) दूसरे नंबर पर है.  भीलवाड़ा में सरकार के प्रयासों के चलते स्थिती नियंत्रण में आ गई है, वहां पर 27 पॉजिटिव के साथ मरीजों की संख्या स्थिर बनी हुई है. 

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा

देशभर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 79:
देश में कोरोना वायरस के हालात को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि देश में कल से लेकर आज तक कोरोना वायरस के 472 नए मामले सामने आए हैं. वहीं देशभर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 79 हो गई है, जबकि 3300 से अधिक लोग संक्रमित हैं. उन्होंने बताया कि कल से लेकर आज तक में कोरोना से 11 लोगों की मौत हुई है. 267 लोग इस वायरस से ठीक हुए है, जिन्हें इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

VIDEO: कोरोना संकट के चलते मुस्लिम धर्मगुरु से लेकर शिक्षाविद आए आगे, आम जनता से घरों में रहने की कर रहे अपील

जयपुर: कोरोना महामारी से बचाव के लिए आम जनता को संदेश देने में कई मुस्लिम उलेमा, मुफ्ती, विशेषज्ञ, इस्लामी शिक्षाविद और धर्मगुरु भी आगे आए है. सोशल मीडिया से लेकर अलग अलग प्लेटफार्म पर ये सभी मिलकर आम जनता को घरों में रहने के साथ ही जांच के लिए आने वाले चिकित्साकर्मियों के सहयोग की अपील कर रहे हैं. 

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा 

दर्जनों उलेमा, मुफ्ती, विशेषज्ञ, इस्लामी शिक्षाविद आगे आकर कर रहे अपील: 
आल इंडिया दारूल कजात के राष्ट्रीय अध्यक्ष चीफ काजी खालिद उस्मानी, मौलाना आजाद विश्वविद्यालय के कोफांउडर मोहम्मद अतीक, जामा मस्जिद जयपुर के ताहिर आजाद, राजस्थान बार कॉउसिल के चैयरमेन शाहीद हसन, राज्य वक्फ बोर्ड चैयरमेन खानूखां बुधवाली, अमीन पठान, राजस्थान अल्पसंख्यक कर्मचारी अधिकारी संघ के हारून खान, राजस्थान मुस्लिम परिषद अध्यक्ष युनुस चौपदार के साथ दर्जनों उलेमा, मुफ्ती, विशेषज्ञ, इस्लामी शिक्षाविद आगे आकर अपील कर रहे हैं. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

VIDEO: कोरोना संकट के चलते राजस्थान में टूरिज्म इंडस्ट्री को 500 करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान

जयपुर: प्रदेश में कोरोना संकट के दौरान किए गए लॉक डाउन से अभी तक टूरिज्म इंडस्ट्री को 500 करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हो चुका है. पर्यटन और उससे जुड़े तमाम उद्योग ठप हैं ऐसे में रोजाना ट्रैवल ट्रेड को 50 करोड़ से अधिक का नुकसान हो रहा है. आशंका इस बात की है कि हालात जल्द नहीं सुधरे तो कम से कम इस वर्ष प्रदेश में पर्यटन व्यवसाय हाशिए पर ही रहेगा जिसके बुरे प्रभाव आने वाले 2 वर्षों तक दिखाई दे सकते हैं. प्रदेश में 18 मार्च से ही सभी किले, महल, स्मारक, नेशनल पार्क, सफारी, मेले और उत्सव बंद हैं. अब 14 अप्रैल तक कम से कम इनमें कोई भी पर्यटक गतिविधि नहीं होगी. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

- ट्रैवल ट्रेड को लॉक डाउन से अभी तक 500 करोड़ का नुकसान
- रोजाना करीब 50 करोड रुपए का हो रहा नुकसान
- पर्यटन स्थल बंद होने से चरमराया ट्रैवल ट्रेड का ढांचा
- प्रदेश के 700 से अधिक सितारा, बजट व छोटे होटल बंद
- प्रदेश के 2000 से अधिक अधीकृतरेस्टोरेंट व क्लब भी बंद
- होटल, फॉरेन एक्सचेंज, गाइड, टैक्सी ऑपरेटर 
- जिप्सी ऑपरेटर, हैंडीक्राफ्ट, वेंडर, हॉकर सभी को भारी नुकसान
- प्रदेश में 18 मार्च से बंद हैं पर्यटन स्थल व नेशनल पार्क
- पुरातत्व विभाग को अभी तक 2 करोड़ से अधिक का नुकसान

कोरोना के कहर से प्रदेश का पर्यटन व्यवसाय वेंटिलेटर पर चला गया है. टूरिज्म इंडस्ट्री से जुड़े तमाम लोगों की रोजी-रोटी पर खतरा मंडरा रहा है. अकेले राजस्थान की बात करें तो करीब 10 लाख से ज्यादा लोग अचानक बेरोजगार हो गए हैं. रोजाना 50 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है और अभी तक की बात करें तो पर्यटन उद्योग को 500 से 700 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है. कोरोना की बढ़ती दहशत के बीच राज्य सरकार ने 18 मार्च को लॉक डाउन अवधि तक के लिए प्रदेश के सभी किले, महल, स्मारक, नेशनल पार्क, सफारी, मेले, उत्सव और तमाम इवेंट बंद कर दिए थे. इस फैसले के बाद प्रदेश में पर्यटकों की गतिविधि पूरी तरह से ठप हो गई है और जो देशी और विदेशी सैलानी राजस्थान में थे उनमें से 90 फ़ीसदी से अधिक  अपने वतन लौट चुके हैं. जो आमेर, जंतर मंतर और हवा महल पर्यटकों की चहल-पहल से रोशन रहते थे  आज उनमें सन्नाटे का चीत्कार उठ रहा है. 

प्रदेश में छोटे-बड़े 700 से अधिक होटल वीरान:
पुरातत्व विभाग को भी अभी तक राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के तमाम स्मारक और संग्रहालय बंद होने से 10 करोड़ से अधिक का नुकसान हो चुका है. टूर ऑपरेटर, ट्रैवल एजेंट्स ने इस वर्ष 31 दिसंबर तक जो इवेंट तैयार किए थे उन सब को रद्द करना पड़ा है.  मैरिज टूरिज्म, रिलिजियस टूरिज्म, रूरल टूरिज्म, मेडिकल टूरिज्म सहित करीब डेढ़ हजार से दो हजार इवेंट रद्द करने पड़े हैं. प्रदेश में छोटे-बड़े 700 से अधिक होटल और दो हजार से अधिक अधिकृत क्लब व रेस्टोरेंट वीरान पड़े हैं. रणथंभौर, सरिस्का, मुकंदरा, भरतपुर में घना, कुंभलगढ़, चित्तौड़, झालाना लेपर्ड सफारी को भी बंद है. 

VIDEO: कोरोना को लेकर SMS मेडिकल कॉलेज में बड़ी खलबली! कैंटीन में कार्यरत मिला कोरोना पॉजिटिव 

लाखों लोग बेरोजगार:
प्रदेश में पर्यटक गतिविधि बंद किए जाने से ट्रैवल ट्रेड को भारी नुकसान हुआ है पर्यटकों के परिवहन से जुड़े टैक्सी ड्राइवर, जिप्सी संचालक और हाथी गांव में पल रहे हाथी और महावतों के सामने भी रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है. जो वेंडर और होकर छोटे-छोटे सामान बेचकर अपने घर पर 2 जून की रोटी का इंतजाम करते थे उनके चेहरे पर निराशा के भाव साफ देखे जा सकते हैं. दरअसल पर्यटन पर कोरोना का कहर इस कदर टूटा है कि लाखों लोग बेरोजगार हुए हैं, अरबों रुपए का व्यवसाय चौपट हुआ है और ऐसी कोई उम्मीद नहीं कि अगले 1 साल में भी पर्यटन उद्योग वापस अपने पैरों पर खड़ा हो पाएगा. 

कोरोना के खिलाफ जंग में देश की न्यायपालिका का मजबूत संदेश, निभा रहे भूमिका

कोरोना के खिलाफ जंग में देश की न्यायपालिका का मजबूत संदेश, निभा रहे भूमिका

जयपुर: देश और प्रदेश में कोरोना के खिलाफ जंग में सभी अपने स्तर पर जुटे है ऐसे में देश की न्यायपालिका भी लगातार अपने सकारात्मक संदेश आम जनता तक पहुंचा रही है. इलाहाबाद हाईकोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश जस्टिस एम एन भण्डारी 19 मार्च से ही जयपुर में है. जस्टिस भण्डारी को लॉकडाउन के दौरान ही दादा बनने की खुशी हासिल हुई है. फिलहाल वे अपने घर में रहकर सरकारी निर्देशो का पालन कर रहे हैं. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

देश व प्रदेश की आम जनता से घरों में रहने की अपील:
फर्स्ट इंडिया से खास बात करते हुए जस्टिस एम एन भण्डारी ने देश व प्रदेश की आम जनता से घरों में रहकर खुद को और परिवार को सुरक्षित रखने की अपील की है. जस्टिस भण्डारी ने कहा कि वे लगातार अपने से जुड़े लोगों से घर में रहने की ही अपील करते रहे है और आज आपके जरिए सभी लोगों से आहवान करता हूं कि वे सरकारी निर्देशों का पालन करें. लोग अपने घरों में रहकर आईसोलेशन का पालन करें. साथ ही आपकी जांच के लिए आने वाले चिकित्साकर्मियों से लेकर सुरक्षाकर्मियों का सहयोग करें.

जस्टिस जे के रांका निभा रहे है दोहरी भूमिका:
कोरोना से जंग में कई सामाजिक संस्थाए भी आगे आ रही है तो वहीं कई लोग इन संस्थाओं को आगे लाने में जुटे हैं. जस्टिस जे के रांका भी लगातार भामाशाहों को आगे आने के लिए प्रेरित कर रहे हैं. जस्टिस रांका की प्रेरणा से पहले सुबोध शिक्षा समिति ने एक करोड़ तो अब माहेश्वरी समाज ने 51 लाख रूपये की मदद मुख्यमंत्री सहायता कोष में की है. 

 VIDEO: कोरोना को लेकर SMS मेडिकल कॉलेज में बड़ी खलबली! कैंटीन में कार्यरत मिला कोरोना पॉजिटिव 

वर्तमान हालात में राजस्थान सरकार बेहद अच्छा काम कर रही: 
जस्टिस जे के राकां कहते है कि वर्तमान हालात में राजस्थान सरकार बेहद अच्छा काम कर रही है. सरकार अपने स्तर पर प्रयास कर रही है लेकिन हमे भी सरकार को मजबूत करने के लिए आगे आना चाहिए. सुबोध शिक्षा समिमि और माहेश्वरी समाज ने पहल की जिससे हम सभी को गौरव है कि शहर के कई संस्थान आम जनता और सरकार की मदद को आगे आ रही है. ऐसे वक्त में हमे मिलजुलकर कोरोना के खिलाफ जंग को जीतना होगा. इन संस्थानों के साथ मैंने अपने तीन माह की पेंशन को मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने का निर्णय लिया है.  
 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी

जयपुर: यदि लॉकडाउन के दौरान कोरोना वायरस पर स्थिति नियंत्रण में रही तो 15 अप्रैल से ट्रेनों का संचालन सुचारू किया जा सकता है. रेलवे बोर्ड ने ट्रेनों का संचालन शुरू करने के लिए सभी 16 जोन और मंडल प्रबंधकों को निर्देश दिए हैं. 

VIDEO: कोरोना को लेकर SMS मेडिकल कॉलेज में बड़ी खलबली! कैंटीन में कार्यरत मिला कोरोना पॉजिटिव 

वीसी में अधिकारियों को  इंजनों का परीक्षण करने के निर्देश: 
कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण देशभर में ट्रेनों का संचालन बंद है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाए जाने के दिन से ही ट्रेनों का संचालन नहीं हो रहा है. 14 अप्रैल तक लॉकडाउन होने के कारण ट्रेनें बंद हैं, केवल मालगाड़ियां ही संचालित हो रही हैं. 14 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त होने के बाद ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा. इसके लिए रेलवे प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने हाल ही इसे लेकर सभी 16 जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों और मंडलों के डीआरएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की थी. वीसी में अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि सभी जोनल रेलवे और मंडल अपने-अपने कोच और इंजनों का परीक्षण कर लें, जिससे कि 15 अप्रैल से ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा सके.

ट्रेनों के संचालन को लेकर बनाई जा रही योजना:
उत्तर-पश्चिम रेलवे के ऑपरेशन सेक्शन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 15 से एक साथ सभी ट्रेनें नहीं चलेंगी. पहले ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित किया जाएगा, जहां पर कोरोना का प्रकोप ज्यादा है. यानी कोरोना के हॉट स्पॉट वाले क्षेत्रों के लिए ट्रेनों का संचालन शुरुआती दिनों में नहीं होगा या ऐसे क्षेत्रों से होकर गुजरने वाली ट्रेनों का स्टॉपेज इन शहरों में नहीं दिया जाएगा. सूची तैयार कर यह योजना बनाई जा रही है कि किन ट्रेनों का संचालन शुरू करना है और किन ट्रेनों का संचालन थोड़े दिनों बाद किया जाएगा. लंबे रूट की ऐसे ट्रेनें, जिनमें यात्रीभार ज्यादा रहता है, उन्हें शुरुआती दिनों में शुरू कर दिया जाएगा, जिससे यात्रियों को सुविधा मिल सके. जिन रूटों पर नियमित ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा, उनके लिए साप्ताहिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी.

Rajasthan Corona Update: प्रदेश में कोरोना की चपेट में आने से 5वीं मौत, पॉजिटिव केस का आंकड़ा हुआ 210 

सभी जोनल रेलवे से उनके कोचों की जानकारी मांगी:
इस बीच रेलवे बोर्ड के कोचिंग सेक्शन के कार्यकारी निदेशक ने अब सभी जोनल रेलवे से उनके कोचों की जानकारी मांगी है. संचालन से पहले सभी कोचों को बेहतर तरीके से डिसइन्फैक्टेंट से सैनिटाइज करने के निर्देश दिए हैं. यह भी कहा गया है कि 15 अप्रैल से ट्रेन चलाने के लिए अपनी तरफ से तैयारी पूरी कर लें. जिन कोच की मेंटिनेंस का कार्य नहीं हो सका है, उन्हें शेड या साइडिंग से मेंटिनेंस डिपो और पिट लाइन पर भेजा जाए, ताकि 15 अप्रैल से पहले सभी कोच तैयार किए जा सकें. कुलमिलाकर रेलवे प्रशासन की इन तैयारियों को देखकर लगता है कि 15 अप्रैल से जीवन एक बार फिर पटरी पर लौट सकेगा.

....काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

Open Covid-19