VIDEO: प्रदेश के ज्यादातर एयरपोर्ट नजर आ रहे सूने, यात्रियों के अभाव में पसरा सन्नाटा

VIDEO: प्रदेश के ज्यादातर एयरपोर्ट नजर आ रहे सूने, यात्रियों के अभाव में पसरा सन्नाटा

जयपुर: कोरोना काल में लॉकडाउन 4 में फ्लाइट‌्स का संचालन शुरू हुए करीब एक माह का समय होने जा रहा है. लेकिन अभी तक प्रदेश के ज्यादातर एयरपोर्ट सूने नजर आ रहे हैं. पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण माने जाने वाले उदयपुर और जैसलमेर एयरपोर्ट्स पर सन्नाटा पसरा हुआ है. 

Coronavirus Updates:  देश में पिछले 24 घंटे में सामने आए 14933 नए मरीज, 312 लोगों की हुई मौत 

25 मई से देशभर में फ्लाइट्स का संचालन शुरू: 
केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 25 मई से देशभर में फ्लाइट्स का संचालन शुरू करने की मंजूरी दे दी थी और अब एक माह पूरा होने जा रहा है. लेकिन अभी भी जयपुर एयरपोर्ट को छोड़कर प्रदेश के ज्यादातर एयरपोर्ट सूने नजर आ रहे हैं. दरअसल एयरपोर्ट्स पर फ्लाइट संचालन के लिए कई तरह की तैयारियां करना जरूरी है. सबसे महत्वपूर्ण है फ्लाइट्स के संचालन समय को इस तरह से नियंत्रित करना, जिससे एक ही समय पर ज्यादा फ्लाइट न हों और यात्रियों की भीड़ जमा न हो. एयरपोर्ट बिल्डिंग में प्रॉपर सैनिटाइजेशन के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करना जरूरी है. 

जयपुर एयरपोर्ट से रोजाना औसतन 15 से 16 फ्लाइट संचालित:
लॉकडाउन के बाद फ्लाइट्स का संचालन अभी सही तरीके से केवल जयपुर और किशनगढ़ एयरपोर्ट पर ही हो पा रहा है. जयपुर एयरपोर्ट से रोजाना औसतन 15 से 16 फ्लाइट संचालित हो रही हैं. हालांकि लॉक डाउन से पहले औसतन 64 फ्लाइट संचालित हो रही थीं. यानी पहले की क्षमता के मुकाबले 25 फीसदी फ्लाइट ही चल रही हैं. लेकिन अन्य एयरपोर्ट्स पर हालात और भी खराब हैं. उदयपुर एयरपोर्ट जो जयपुर के बाद प्रदेश का दूसरा बड़ा एयरपोर्ट है, यहां से लॉक डाउन से पहले रोज औसतन 16 फ्लाइट चल रही थीं, जो अब मात्र 1 फ्लाइट पर सिमट गया है. जोधपुर एयरपोर्ट पर तो हालात और खराब हैं, क्योंकि अभी तक यहां से एक भी फ्लाइट ने उड़ान नहीं भरी है. 

जानिए, किस एयरपोर्ट से चल रही कितनी फ्लाइट: 
उदयपुर एयरपोर्ट : रोज औसतन 1 फ्लाइट संचालित
- दिल्ली के लिए इंडिगो की फ्लाइट 6E-5042 सप्ताह में 3 दिन संचालित
- मुम्बई के लिए इंडिगो की फ्लाइट 6E-748 सप्ताह में 1 दिन संचालित

जोधपुर एयरपोर्ट : 25 मई के बाद से 1 भी फ्लाइट संचालित नहीं हुई

जैसलमेर एयरपोर्ट : रोज 1 फ्लाइट संचालित
- अहमदाबाद के लिए ट्रू जेट एयरलाइन की फ्लाइट 2T-704 सप्ताह में 6 दिन संचालित

बीकानेर एयरपोर्ट : रोज 1 फ्लाइट संचालित
- दिल्ली के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट 9I-834 रोज संचालित

किशनगढ़ एयरपोर्ट : रोज 3 फ्लाइट संचालित

- हैदराबाद के लिए स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-1007 संचालित
- दिल्ली के लिए स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-2769 संचालित
- अहमदाबाद के लिए स्टार एयर की फ्लाइट OG-126 सप्ताह में 4 दिन संचालित
- इंदौर के लिए स्टार एयर की फ्लाइट OG-124 सप्ताह में 3 दिन संचालित
- लॉक डाउन से पहले किशनगढ़ से रोज 4 फ्लाइट चल रही थीं

प्रदेश में अभी रोजाना 6 एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालित होती हैं, जिनमें सबसे ज्यादा फ्लाइट जपयुर से, जबकि सबसे कम फ्लाइट बीकानेर एयरपोर्ट से संचालित होती हैं. लॉक डाउन के बाद सबसे ज्यादा नुकसान जोधपुर एयरपोर्ट को हुआ है. यहां से सर्दियों में 4 एयरलाइन की फ्लाइट चल रही थीं, लेकिन अब मात्र 2 ही एयरलाइन फ्लाइट शुरू करने के लिए तैयार हैं. स्पाइसजेट और विस्तारा एयरलाइन अक्टूबर से पहले फ्लाइट संचालित करने के लिए तत्पर नहीं हैं. 

अब आगे क्या ?
- उदयपुर से 1 जुलाई से 9 फ्लाइट शुरू होने की उम्मीद
- उदयपुर से दिल्ली के लिए 4, मुम्बई के लिए 2, अहमदाबाद, बेंगलूरु, जयपुर के लिए 1-1 फ्लाइट शुरू होंगी
- हालांकि ऐनवक्त पर इनकी संख्या में कटौती भी हो सकती है
- जोधपुर से 1 जुलाई से 3 फ्लाइट शुरू हो सकती हैं
- दिल्ली, अहमदाबाद और मुम्बई के लिए 1-1 फ्लाइट शुरू होने की संभावना
- जैसलमेर से अहमदाबाद के लिए एक और फ्लाइट शुरू हो सकती है
- बीकानेर, किशनगढ़ से अभी फ्लाइट बढ़ने की संभावना नहीं

लगातार 17 वें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में जबरदस्त उछाल, आमजन के छूट रहे पसीने  

कुलमिलाकर जिस तरह के हालात नजर आ रहे हैं, उससे यह साफ है कि अभी एविएशन इंडस्ट्री को अपनी पुरानी गति पकड़ने में लम्बा समय लग सकता है. विशेषज्ञों का मानना है कि दिवाली तक भी हालात बहुत अच्छे होने की संभावना नहीं है. यदि कोरोना का संक्रमण नियंत्रित हो जाता है तो सर्दियों में विंटर शेड्यूल में फ्लाइट्स की संख्या में अच्छा सुधार हो सकता है. 

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

और पढ़ें