माँ ने प्रेमी संग मिलकर कराई थी बेटे की हत्या

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/05/30 05:56

मेरठ। मेरठ पुलिस ने आज ऐसी घटना का खुलासा किया है, जिसने माँ और बेटे के पवित्र रिश्तो को भी कलंकित कर दिया है।  माँ ने अपने अवैध सम्बन्ध कायम रखने के लिए अपने रास्ते के सबसे बड़े कांटे अपने ही बेटे को अपने प्रेमी से मौत के घाट उतरवा दिया। और बेटे की हत्या के बाद कलयुगी माँ ने अपने आशिक के साथ जमकर अय्याशी की। लेकिन कहते है ना कि कानून के हाथ लम्बे होते है वो आरोपी को पाताल से भी ढूंढकर निकल लेते है। इस मामले में भी पुलिस ने कातिल आशिक और उसके साथी व कलयुगी माँ को गिरफ्तार कर लिया है। 

गतदिनों पूर्व एक युवक का शव खरखौदा क्षेत्र के जंगलो में एक ट्यूबवेल में पड़ा मिला था। पुलिस ने शव का पीएम कराया तो मामला हत्या का निकला। पुलिस ने मृतक की पहचान मुकेश (सैल्समेन) निवासी टीपी नगर के रूप में की। हत्या बिलकुल ब्लाइंड थी।  इस मामले में पुलिस ने कई टीम लगाई, जिसके बाद चौकाने वाला खुलासा हुआ। पुलिस की माने तो मुकेश शराब पीकर घर में मारपीट करता था और अपनी माँ पर शक भी करता था। शायद तभी तो माँ उसको एक आँख भी नहीं पसन्द नही थी। मुकेश की माँ के एक बिल्डिंग मैटीरियल ढोने वाले युवक नौशाद से अवैध सम्बन्ध थे और माँ पर शक करके माँ को खरी खोटी सुनाता। मुकेश के एक बहन और एक भाई है। तीन तीन जवान औलाद होने के बाद भी माँ की ये करतूत मुकेश नो नागवारा थी थी। लेकिन माँ ने अपने प्रेम सम्बन्धो को बदस्तूर जारी रखने के लिए अपने ही बेटे मुकेश को रास्ते से हटाने का मन बना लिया और अपने प्रेमी नोशाद के साथ मिलकर उसको मारने की योजना बनाई। आपको बता दें की मुकेश की माँ खुद भी मुकेश को दो तीन बार ज़हर देकर मारने की कोशिश कर चुकी थी।  लेकिन मुकेश बचता चला गया और आखिर में माँ ने अपने बेटे को मारने के लिए सुपारी दे डाली।

मुकेश हर वार से तो बच गया लेकिन उसको लगी शराब ली गन्दी लत ने उसको जिंदगी की आखरी सांस लेने के लिए मज़बूर कर दिया। माँ के आशिक नौशाद ने एक युवक बिलाल को 50 हजार रूपये में सुपारी दी और खुद भी हत्या में साथ रहने की बात रखी। डील के बाद  नौशाद और बिलाल ने मुकेश को शराब पिलाने का लालच दिया और मेरठ के हापुड़ अड्डे स्थिति शराब की दुकान में जमकर शराब पिलाई। जब मुकेश नशे में  हो गया तो दोनों उसको खरखौदा के जंगलो में ले गए। पहले तो उसको पीट पीट कर अधमरा कर दिया बाद में उसका गला दबाकर हत्या कर दी। उसके शव को एक ट्यूबवेल में डाल दिया और हत्या करने के बाद मुकेश की माँ के पास पहुंचे। मुकेश की माँ ने बेटे की हत्या कराकर हथियारे नौशाद और बिलाल को डील के मुताबिग 50 हजार रुपए नहीं देकर केवल 20 हजार रूपये ही दिए। जिसके बाद बिलाल और नौशाद ने ये रुपये आपस में बाँट लिए। बिलाल शातिर चैन स्नैचर है और जेल से छूटकर आया था और आते ही अपने क्राइम के करोबार को बढ़ाने के लिए लूट की जगह मर्डर करने का मन बना लिया। 

अब मुकेश की हत्या के बाद नोशाद और कलयुगी माँ का रास्ता साफ़ हो चुका था लेकिन मेरठ पुलिस कहा चैन से बैठने वाली थी। पुलिस ने सर्विलांस और कई माध्यमों की मदद से केस की कड़ियाँ जोड़ ली और पूछताछ करने पर ये चौकाने वाला खुलासा हुआ। पुलिस ने मुकेश की माँ और उसके आशिक नौशाद  के साथी बिलाल को गिरफ्तार कर लिए और जेल भेज दिया है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in