बिहार के थानेदार की बंगाल में हत्या मामला, शहीद SHO की मां यह खबर सुन चल बसीं, पूर्णिया में आज दोनों की साथ उठेगी अर्थी

बिहार के थानेदार की बंगाल में हत्या मामला, शहीद SHO की मां यह खबर सुन चल बसीं, पूर्णिया में आज दोनों की साथ उठेगी अर्थी

बिहार के थानेदार की बंगाल में हत्या मामला, शहीद SHO की मां यह खबर सुन चल बसीं, पूर्णिया में आज दोनों की साथ उठेगी अर्थी

किशनगंज: कहते है कि मां बाप का सबसे बड़ा दुख होता है कि मां बाप के सामने बेटे की अर्थी. ऐसा ही देखने को मिला बिहार के किशनगंज में जब टाउन थाना के SHO अश्विनी कुमार की बंगाल में पीट पीटकर हत्या करने की खबर उसकी बुढी मां को मिली और सुनते ही मां ने भी दम तोड दिया. उस समय मौजूद हर एक की आंखों में आंसुओं के अलावा और कुछ नही था. वो तो वहां मौजूद थे किंतु हम जानते है कि इस खबर को पढ़ते समय हमारे अंदर क्या भाव चल रहे है. अब दोनो मां बेटे कि अर्थी एक साथ उठेगी.

मां बर्दाश्त नही कर पाई बेटे की मौत का सदमा:
बेटे की मौत की खबर सुनते ही उनकी भी सांसें थम गई. हार्ट की पेशेंट होने की वजह से शनिवार को मॉब लिंचिंग में बेटे की शहादत के बारे में मां को परिवार के लोगों ने जानकारी नहीं दी थी. लेकिन रविवार की सुबह बेटे के बारे में उन्हें खबर मिल गई और यह सदमा वह बर्दाश्त नहीं कर सकीं. अब मां और बेटे की चिता एक साथ सजेगी. दोनों की पुर्णिया स्थित उनके घर से एक साथ अर्थी उठेगी। यह जान हर किसी की आंखें नम हो गई है.
मामले की हाईकोर्ट की निगरानी में CBI जांच की मांग:
वहीं, अश्विनी कुमार हत्याकांड मामले को लेकर ग्रामीणों एवं परिजनों ने पैतृक गांव में बैठक की है. इसमें उन्होंने सरकार से हाईकोर्ट की निगरानी में हत्याकांड की CBI जांच की मांग की है. साथ ही हत्याारों की स्पीड ट्रायल कराकर सजा दिलाने की भी मांग की है. परिजनों का कहना है कि शहीद की पत्नी को सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए और उनके बच्चों की पढ़ाई का खर्च सरकार को उठाना चाहिए. परिजनों ने बताया कि मांगें पूरी होने के बाद ही SHO अश्विनी कुमार का दाह संस्कार किया जाएगा.


भागनेवाले पुलिसकर्मियों के निलंबन के साथ होगी विभागीय कार्रवाई:
पश्चिम बंगाल के पनतापाड़ा गांव में शनिवार की अहले सुबह ग्रामीणों ने पीट-पीट कर SHO अश्विनी कुमार की हत्या कर दी थी. इस मामले में अश्वनी कुमार के साथ छापेमारी में गए 7 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. बिहार पुलिस ने इसे गद्दारी मानी है. सातों पुलिसकर्मियों पर निलंबन के अलावा भी कार्रवाई करने की बात कही गई है. किशनगंज SP कुमार आशीष ने बताया कि विभागीय मामला चलाकर कठोरतम सजा दी जाएगी.

और पढ़ें