Muzaffarpur Shelter Home case: पुलिस ने मधु के करीबी विकी को किया गिरप्तार, रिमांड पर शाइस्ता

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/12 03:57

मुजफ्फरनगर।  मुजफ्फरनगर शेल्टर होम केस मामले में नया मोड़ा सामने आया है। इस मामले में आरोपी मधु को रिमांड पर लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। शेल्टर होम मामले में मधू के करीबी विकी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पहले दिन की पूछताछ के आधार पर पुलिस का कहना है कि स्वाधार गृह में फर्जीवाड़ा... अधिकारियों की जानकारी में हो रहा था। पूछताछ में भले ही पूरी तरह से खुलासा करने से मधु अब बच रही है। लेकिन प्रारंभिक पूछताछ में उसने जो संकेत दिया उससे साफ है कि वहां अधिकारियों की जानकारी में फर्जीवाड़ा चल रहा था। 

बतादें बालिका गृह के किंगपिन ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु से महिला थानाध्यक्ष ज्योति कुमारी व टाउन डीएसपी ने लंबी पूछताछ की। मधु ने दबी जुबान में कहा कि समय-समय पर स्वाधार गृह की जांच में अधिकारियों को आना है। वे आते भी थे। जब आते थे तो कुछ महिलाओं को बुला लिया जाता था। मधु से पूछताछ के आधार पर पुलिस अधिकारी का कहना है कि स्वाधार गृह में वैसी महिलाओं को रखना है, जिसको पति छोड़ चुके हों। किसी वजह से वह भटक कर आ गई हो? इसके लिए राज्य सरकार की ओर से स्वाधार गृह के संचालन के लिए राशि दी जाती है। 

गौरतलब है कि स्वाधार केन्द्र से 11 महिला लापता हो गई थी, जिसके विरुद्ध मुजफ्फरपुर के महिला थाना में जुलाई में केस दर्ज किया गया था। इसी मामले में पुलिस की अपील पर सुनवाई करते हुए सब जज- 1 कोर्ट ने मधु को पुलिस रिमांड पर भेजा है।

ये है मामला...

आपको बता दें कि बीते 19 दिसंबर को सीबीआई ने जो चार्जशीट दायर की है उसमें शाइस्ता परवीन उर्फ मधु के बारे में कई खुलासे किए गए हैं। चार्जशीट के अनुसार मधु ब्रजेश ठाकुर की खास राजदार थी और एनजीओ सेवा संकल्प और विकास समिति के प्रबंधन से जुड़ी थी। यह लड़कियों को सेक्स की शिक्षा देती थी और गंदे गाने पर डांस करने को विवश करती थी। इससे मना करने वाली लड़कियों को सजा के तौर पर नमक रोटी खाने को दिया जाता था।

मालूम हो, ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु सेवा संकल्प एवं विकास समिति के कार्यों को मैनेज करती थी। किशोरियों को सेक्स की शिक्षा देती थी और इसके लिए धमकियां भी देती थी।  ब्रजेश ठाकुर ने अपने शहर के समुदाय आधारित संगठन वामा शक्ति वाहिनी की कमान मधु को दे रखी थी। मधु के माध्यम से ब्रजेश ठाकुर ने कई एनजीओ खोले और समाज कल्याण विभाग में अपनी पैठ बनाई। बाद में दोनों ने मिलकर बालिका सुधार गृह खोला और कई तरह के गैरकानूनी कामों को अंजाम दिया। 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in