Live News »

Muzaffarpur Shelter Home case: पुलिस ने मधु के करीबी विकी को किया गिरप्तार, रिमांड पर शाइस्ता

Muzaffarpur Shelter Home case: पुलिस ने मधु के करीबी विकी को किया गिरप्तार, रिमांड पर शाइस्ता

मुजफ्फरनगर।  मुजफ्फरनगर शेल्टर होम केस मामले में नया मोड़ा सामने आया है। इस मामले में आरोपी मधु को रिमांड पर लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। शेल्टर होम मामले में मधू के करीबी विकी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पहले दिन की पूछताछ के आधार पर पुलिस का कहना है कि स्वाधार गृह में फर्जीवाड़ा... अधिकारियों की जानकारी में हो रहा था। पूछताछ में भले ही पूरी तरह से खुलासा करने से मधु अब बच रही है। लेकिन प्रारंभिक पूछताछ में उसने जो संकेत दिया उससे साफ है कि वहां अधिकारियों की जानकारी में फर्जीवाड़ा चल रहा था। 

बतादें बालिका गृह के किंगपिन ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु से महिला थानाध्यक्ष ज्योति कुमारी व टाउन डीएसपी ने लंबी पूछताछ की। मधु ने दबी जुबान में कहा कि समय-समय पर स्वाधार गृह की जांच में अधिकारियों को आना है। वे आते भी थे। जब आते थे तो कुछ महिलाओं को बुला लिया जाता था। मधु से पूछताछ के आधार पर पुलिस अधिकारी का कहना है कि स्वाधार गृह में वैसी महिलाओं को रखना है, जिसको पति छोड़ चुके हों। किसी वजह से वह भटक कर आ गई हो? इसके लिए राज्य सरकार की ओर से स्वाधार गृह के संचालन के लिए राशि दी जाती है। 

गौरतलब है कि स्वाधार केन्द्र से 11 महिला लापता हो गई थी, जिसके विरुद्ध मुजफ्फरपुर के महिला थाना में जुलाई में केस दर्ज किया गया था। इसी मामले में पुलिस की अपील पर सुनवाई करते हुए सब जज- 1 कोर्ट ने मधु को पुलिस रिमांड पर भेजा है।

ये है मामला...

आपको बता दें कि बीते 19 दिसंबर को सीबीआई ने जो चार्जशीट दायर की है उसमें शाइस्ता परवीन उर्फ मधु के बारे में कई खुलासे किए गए हैं। चार्जशीट के अनुसार मधु ब्रजेश ठाकुर की खास राजदार थी और एनजीओ सेवा संकल्प और विकास समिति के प्रबंधन से जुड़ी थी। यह लड़कियों को सेक्स की शिक्षा देती थी और गंदे गाने पर डांस करने को विवश करती थी। इससे मना करने वाली लड़कियों को सजा के तौर पर नमक रोटी खाने को दिया जाता था।

मालूम हो, ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु सेवा संकल्प एवं विकास समिति के कार्यों को मैनेज करती थी। किशोरियों को सेक्स की शिक्षा देती थी और इसके लिए धमकियां भी देती थी।  ब्रजेश ठाकुर ने अपने शहर के समुदाय आधारित संगठन वामा शक्ति वाहिनी की कमान मधु को दे रखी थी। मधु के माध्यम से ब्रजेश ठाकुर ने कई एनजीओ खोले और समाज कल्याण विभाग में अपनी पैठ बनाई। बाद में दोनों ने मिलकर बालिका सुधार गृह खोला और कई तरह के गैरकानूनी कामों को अंजाम दिया। 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

मुजफ्फरनगर हादसा: नशे में था बस ड्राइवर, बिहार लौट रहे 6 मजदूरों को रौंदा

मुजफ्फरनगर हादसा: नशे में था बस ड्राइवर, बिहार लौट रहे 6 मजदूरों को रौंदा

नई दिल्ली: बुधवार देर रात यूपी के मुजफ्फरनगर में 6 मजदूरों की मौत हो गई थी. पुलिस ने मजदूरों को कुचलने वाले बस ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है. मेडिकल जांच में पता चला है कि ड्राइवर नशे में था. पुलिस ने मामला दर्ज कर मृतकों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. पुलिस के मुताबिक बस का ड्राइवर नशे में था और बस को तेजी व लापरवाही से चला रहा था. उसने पैदल घर जा रहे मजदूरों को रौंद दिया. इस हादसे में 6 मजदूरों की मौत हो गई जबकि 4 मजदूर घायल हो गए जिनमे से दो की हालत गंभीर बनी हुई है. 

30 जून तक रेलवे की सामान्य सेवा नहीं होगी बहाल, सभी टिकट कैंसिल किए 

पंजाब से पैदल ही घर लौट रहे थे:
पुलिस के अनुसार हादसे में मरने वाले मजदूर बिहार के पटना, गोपलगंज और भोजपुर के रहने वाले हैं. यह लोग पंजाब में काम करते है और पैदल ही अपने घर लौट रहे थे. इस हादसे में घायल 4 मजदूरों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनमें से दो की हालत गंभीर होने पर उन्हें मेरठ रेफर कर दिया गया है. 

Rajasthan Corona Updates: 66 नए पॉजिटिव केस आए सामने, उदयपुर में मिले सर्वाधिक 20 मरीज 

सीएम योगी ने किया आर्थिक मुआवजा देने का ऐलान:
फिलहाल लाशों का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. इसके बाद लाशों को उनके गांव एंबुलेंस के जरिए भेजा जाएगा. इसके साथ ही घायलों और उनके साथी मजदूरों को भी उनके घर भेजने की व्यवस्था की जा रही है. वहीं हादसे के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतकों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है. 

Open Covid-19