नई दिल्ली NASA की तस्वीर ने दिखाई दिल्ली का दम घुटने की सच्चाई, 2900 जगहों पर पराली जलने के निशान

NASA की तस्वीर ने दिखाई दिल्ली का दम घुटने की सच्चाई, 2900 जगहों पर पराली जलने के निशान

NASA की तस्वीर ने दिखाई  दिल्ली का दम घुटने की सच्चाई, 2900 जगहों पर पराली जलने के निशान

नई दिल्ली नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (National Aeronautics and Space Administration) की कुछ तस्वीरों ने पराली न जलाने को लेकर हो रहे दावों की पोल खोली है.दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के कारण पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की स्थिति बनी हुई है. साफ हवा में सांस लेने के लिए लोग तरस गए हैं. यहां प्रदूषण की एक बड़ी वजह पड़ोसी राज्यों में जलाई जा रही पराली को बताया जाता है. इस बीच नासा ने आज एक सैटेलाइट तस्वीर जारी की है, जो काफी चौंकाने वाली है.मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के लिए एक बार फिर पराली जलाए जाने को मुख्य वजह बताया है वीडियो संदेश जारी कर मुख्यमंत्री ने कहा कि फरवरी से अक्तूबर के दूसरे सप्ताह तक दिल्ली की हवा और आसमान साफ था.

नासा की ओर से जारी 3 नवंबर 2019 की तस्वीरों में पंजाब और हरियाणा (Punjab and Haryana) में 2900 जगहों पर पराली जलाई जा रही है.सैटेलाइट तस्वीर में दिल्ली की दुर्दशा का सच सामने आया है. तस्वीर में देखा जा सकता है कि पंजाब के अधिकतर इलाकों में पराली जल रही है. हरियाणा के भी कुछ हिस्सों में पराली जलाई जा रही है. कुल 2900 जगहों पर पराली जलाए जाने की ये तस्वीर बता रही कि क्यों दिल्ली और उसके आसपास की हवा इतनी जहरीली हो गई है.

ये तस्वीरें 3 नवंबर को भारतीय समय के अनुसार शाम करीब 5 बजे की हैं.रिपोर्ट के मुताबिक, हरियाणा में पराली को लेकर काफी काम किया गया है, लेकिन पंजाब अब भी इसमें पीछे है. पंजाब में पराली जलाने की घटनाओं में करीब 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, जबकि इसके पड़ोसी राज्य हरियाणा में गिरावट देखी गई है. राज्यों में किसानों द्वारा पराली जलाना जारी है, जबकि इस पर रोक लगी हुई है. पराली जलाने वाले ऐसे लोगों में से कई पर जुर्माना लगाया गया है, जबकि अन्य पर मामले दर्ज किए गए हैं.

और पढ़ें