VIDEO: एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक के आरोपों पर NCB ने दी सफाई, कहा -हमारी कार्रवाई नियमों के तहत

VIDEO: एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक के आरोपों पर NCB ने दी सफाई, कहा -हमारी कार्रवाई नियमों के तहत

मुंबई: स्वापक औषधि नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने शनिवार को कहा कि क्रूज जहाज पर की गई छापेमारी और मादक पदार्थों की बरामदगी के सिलसिले में एजेंसी के खिलाफ लगाये गये सभी आरोप बेबुनियाद और पूरी तरह से प्रेरित हैं. उल्लेखनीय है कि पिछले शनिवार को एनसीबी की इस छापेमारी में बॉलीवुड अभिनेता शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

एनसीबी निदेशक, मुंबई क्षेत्र, समीर वानखेड़े ने कहा कि एजेंसी पेशेवर तरीके से काम करती है. उन्होंने कहा कि हम कोई राजनीतिक दल या धर्म देखकर कार्रवाई नहीं करते हैं. हम पेशेवर तरीके से अपना काम करते हैं.उल्लेखनीय है कि एनसीबी की टीम ने एक गुप्त सूचना के आधार पर पिछले शनिवार को गोवा जाने वाले एक क्रूज जहाज पर छापा मारा था और प्रतिबंधित मादक पदार्थों बरामद करने का दावा किया था. आर्यन सहित कुल 18 लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

इस घटना ने एक राजनीतिक रंग ले लिया, जब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता एवं महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने बुधवार को दावा किया छापा फर्जी था और इसमें बाहरी लोग संलिप्त थे.शनिवार को, मलिक ने आरोप लगाया कि एनसीबी ने शुरूआत में जहाज से 11 लोगों को हिरासत में लिया लेकिन भाजपा नेता मोहित भारतीय के एक करीबी संबंधी सहित उनमें से तीन को कुछ ही घंटों में छोड़ दिया.

एनसीबी के एक अधिकारी ने शनिवार को मीडिया से कहा कि मलिक ने छापे में शामिल जिन दो लोगों को बाहरी बताया है, वे असल में कार्रवाई में शामिल नौ स्वतंत्र गवाहों में शामिल थे. वे दोनों छापे से पहले एनसीबी के लिए अनजान थे. एनसीबी महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि ऐसे बयान पूर्वधारणा पर आधारित हैं और दुर्भावनापूर्ण हैं. आरोपों के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा कि एनसीबी के बारे में लोग क्या कहते हैं उस पर वह टिप्पणी नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि एनसीबी जिम्मेदार संगठन है. यह सबूतों के आधार पर काम करता है.वानखेड़े ने कहा कि मामला अदालत में विचाराधीन है और जांच जारी है.

और पढ़ें