लखनऊ CM योगी आदित्यनाथ बोले- कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एनसीआर को अलर्ट मोड में रखा जाए

CM योगी आदित्यनाथ बोले- कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एनसीआर को अलर्ट मोड में रखा जाए

CM योगी आदित्यनाथ बोले- कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एनसीआर को अलर्ट मोड में रखा जाए

लखनऊ: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) के गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर जिलों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को इस पूरे इलाके को अलर्ट मोड में रखने के निर्देश दिए. राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. प्रवक्ता ने एक बयान जारी कर बताया कि योगी ने कोविड प्रबंधन के लिए गठित टीम-09 से कहा कि उत्तर प्रदेश की सीमा से सटे कुछ राज्यों के साथ-साथ एनसीआर के जिलों में बीते कुछ दिनों से कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. 

उन्होंने कहा कि गौतमबुद्ध नगर में जहां 70, वहीं गाजियाबाद में 11 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है और मौजूदा हालात को देखते हुए पूरे एनसीआर को अलर्ट मोड में रखा जाए. बयान के मुताबिक, योगी ने गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में संक्रमित पाए गए मरीजों के नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग कराने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि हमें पूरी सावधानी और सतर्कता बरतनी होगी तथा इन जिलों के जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी से संवाद कर स्थिति की गहन समीक्षा की जाए. मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में अभी 507 सक्रिय मामले मौजूद हैं. बीते 24 घंटों में 73,881 नमूनों की कोरोना जांच की गई, जिसमें 106 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई. इसी अवधि में 37 मरीज कोरोना मुक्त भी हुए. प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण अभियान सफलतापूर्वक चल रहा है और इसके तहत 30.69 करोड़ से अधिक खुराक लगाई जा चुकी हैं.  उन्होंने बताया कि यूपी में सौ प्रतिशत वयस्क आबादी को टीके की पहली खुराक हासिल हो चुकी है, जबकि 86 फीसदी आबादी का पूर्ण टीकाकरण किया जा चुका है. 

प्रवक्ता के अनुसार, 12 से 14 और 15 से 17 साल के आयु वर्ग में भी टीकाकरण की दर संतोषजनक है. इसे और तेज किया जाएगा. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को एहतियाती खुराक (बूस्टर डोज) देने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं. प्रदेश में 700 निजी टीकाकरण केंद्रों पर बूस्टर डोज लगवाई जा सकती है. प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा कि संचारी रोग और दस्तक अभियान को पूरी तत्परता के साथ संचालित किया जाए. उन्होंने बरेली मंडल में मलेरिया पर ज्यादा केंद्रित करने तो आगरा और लखनऊ मंडल में डेंगू से बचाव के प्रति जागरूकता फैलाने के निर्देश दिए. योगी ने पूर्वांचल में इंसेफेलाइटिस को लेकर घर-घर जाकर लोगों से संपर्क कर उन्हें जागरुक बनाने को भी कहा. सोर्स- भाषा

और पढ़ें