Live News »

नीट यूजी एप्लीकेशन फॉर्म सुधार की प्रक्रिया प्रारम्भ, 31 जनवरी है अंतिम तारीख 
नीट यूजी एप्लीकेशन फॉर्म सुधार की प्रक्रिया प्रारम्भ, 31 जनवरी है अंतिम तारीख 

नई दिल्ली: राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी ने नीट आवेदन पत्र में सुधार की प्रक्रिया 15 जनवरी 2020 से प्रारंभ कर दी है. यह प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन मोड में आयोजित की जा रही है. यह उन उम्मीदवारों के लिए एक बार की सुविधा है, जिन्होंने 6 जनवरी, 2020 तक परीक्षा के लिए पंजीकरण किया था. जिन उम्मीदवारों ने आवेदन पत्र भरते समय त्रुटि की है, वे इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं और 31 जनवरी, 2020 तक आवेदन फॉर्म को सही कर सकते हैं. 

अब आप जानना चाहते होंगे कि आप नीट आवेदन पत्र में किस तरह सुधार कर सकते हैं, या एनटीए की तरफ से नीट आवेदन पत्र में सुधार के लिए क्या प्रक्रिया बनाई गई है. यहां हम इसके बारे में विस्तार से जानकारी दे रहे हैं. एनटीए ने नीट परीक्षा के आवेदन पत्र में सुधार करने के लिए 15 जनवरी से 31 जनवरी तक का समय निर्धारित किया है. इसके लिए आपको सबसे पहले उस वेबसाइट पर जाना है जहां आपने नीट आवेदन पत्र के लिए आवेदन पत्र भरा था. इसके बाद आपको इस प्रक्रिया का पालन करना है. 

क्या है प्रक्रिया:
—एनटीए नीट की www.ntaneet.ac.in वेबसाइट पर जाएं. 
—वेबसाइट पर पहुंचने के बाद आपको Candidates Login लिखा दिखेगा. आपको यहां क्लिक करना है. 
—यहां क्लिक करने पर आपको सामने विंडो खुलेगा, जिसमें आपको अपना नीट आवेदन पत्र का नम्बर और पासवर्ड डालना है. 
—फार्म का नंबर और पासवर्ड डालने के बाद Login पर क्लिक करना है. 
—इसके बाद आपके सामने नीट आवेदन पत्र को एडिट (संपादन) करने का विकल्प दिखेगा. 
—यहां क्लिक करके आप अपने फार्म में हुई सभी गलतियों को सुधार सकते हैं. 
—नीट आवेदन पत्र की सभी ग़लतियों को ठीक करने के बाद आपको निर्धारित शुल्क को जमा करना है. 
—जैसे ही आप शुल्क जमा करेंगे, वैसे ही आपके द्वारा किया गया सुधार अपडेट हो जाएगा. 
—इसके बाद आपको निश्चित होकर 3 मई को होने वाली परीक्षा के लिए तैयारी करनी है. 

परीक्षा हिन्दी और अंग्रेजी सहित कुल 11 भाषाओं में:
आपकी अधिक जानकारी के लिए यह बता दें कि इस बार परीक्षा हिन्दी और अंग्रेजी सहित कुल 11 भाषाओं में ली जाएगी. इसके साथ ही हमेशा की तरह इस बार भी यह व्यवस्था की गई है कि अगर किसी छात्र ने परीक्षा में प्रश्नों का गलत उत्तर दिया तो गलत उत्तर के लिए नंबर काटे जाएंगे. इसलिए अगर आप किसी प्रश्न का सही जवाब नहीं जानते हों तो उसका उत्तर नहीं देने की कोशिश कीजिए, क्योंकि प्रश्नों का उत्तर नहीं देने से आपको कोई नम्बर नहीं काटा जाएगा. 

फर्जीवाड़े को रोकने के लिए सख्ती:
साल 2020 में एनटीए नीट की परीक्षा में भाग लेने वाले विद्यार्थियों की संख्या 1593452 है, जो पिछले साल की तुलना में काफी ज्यादा है. आपके लिए ध्यान देने वाली बात यह है कि पिछली बार की तुलना में इस बार परीक्षा संचालकों द्वारा फर्जीवाड़े को रोकने के लिए बहुत सख्ती बरती जा रही है. आपने नीट परीक्षा के लिए आवेदन पत्र भरते समय देखा ही होगा कि इस बार आवेदन पत्र में लाइव फोटो की मांग की गई थी. लाइव फोटो मांगने का मतलब यह है कि जब आप परीक्षा देने जाएंगे तो फोटो का मिलान करने बेहतर तरीके से हो पाएगी और फोटो में किसी भी तरह की छेड़छाड़ करने पर तुरंत पकड़े जाएंगे. 

जेईई मेन्स 2020 की महत्वपूर्ण अधिसूचना जारी, 31 जनवरी को घोषित होगा परिणाम

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in