Live News »

एनजीओ लाडली ने कोरोना के मुश्किल समय को लिया अवसर के रूप में, अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार तैयार किए पीपीई किट्स

एनजीओ लाडली ने कोरोना के मुश्किल समय को लिया अवसर के रूप में, अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार तैयार किए पीपीई किट्स

जयपुर: कोरोना का समय मुश्किल भरा समय है और इस मुश्किल समय को कुछ कर्मवीरों ने अवसर के रूप में लिया. एनजीओ लाडली की निदेशक दर्शना गोस्वामी ने भी इस समय को कोरोना वॉरियर्स हैल्थ वर्कर्स के लिए काम करने के अवसर के रूप में देखा और अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार पीपीई किट्स तैयार किए और जयपुर और भोपाल की बड़ी स्वास्थ्य संसाधनों की खाई को पाटने की कोशिश की. 

दो माह पूर्व जब कोरोना वायरस ने अपना पैर पसारना शुरू किया तब लोगों को आम जरूरत की चीजों की जरूरत थी और इसके साथ-साथ स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत बनाना भी जरूरी था. उस समय सबसे ज्यादा जरूरत थी कोरोना वॉरियर्स हैल्थ वर्कर्स के लिए सुरक्षा कवच यानि पीपीई किट्स तैयार करना. इसके मद्देनजर एनजीओ लाडली की निदेशक दर्शना गोस्वामी ने चुनौती समझते हुए महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप्स के जरिये पीपीई किट्स बनाने की जिम्मेदारी हाथ में ली. 

पीपीई किट्स का उपयोग सही तरह से सुनिश्चित हो सके इसके लिए जे.के लॉन अस्पताल और एसएमएस अस्पताल के विशेषज्ञों से पूरी राय लेकर अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के हिसाब से किट्स तैयार की गई. आज यह आलम है कि 700 किट्स जयपुर में स्वास्थ्यकर्मियों को दी गई हैं तो वहीं डिमांड होने पर भोपाल के एम्स में ये किट्स मुफ्त भेजी गई हैं. 

देश में स्वास्थ्य सेवाओं की खाई पाटने के लिए बड़ी चुनौती हाथ में लेते हुए अब लाडली संस्था दर्शना के जन्मस्थान टीकमगढ़ और अन्य जगहों के लिए भी किट्स तैयार करके भिजवाने का बीड़ा हाथ में ले चुकी हैं. 

और पढ़ें

Most Related Stories

दिल्ली-NCR में भूकंप के झटके हुए महसूस, जयपुर में भी आये भूकंप के झटके

दिल्ली-NCR में भूकंप के झटके हुए महसूस, जयपुर में भी आये भूकंप के झटके

नई दिल्ली: दिल्ली-NCR में भूकंप के झटके महसूस किए गए है. शुक्रवार करीब 7 बजे 4.5 रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता मापी गई. भूकंप का केंद्र गुरुग्राम में था. राजस्थान में जयपुर, अलवर-बहरोड़ तक भूकंप के झटके महसूस हुए है. 7 बजकर 2 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए है. जयपुर में भी भूकंप के हल्के झटके महसूस हुए है. यूपी के भी कई इलाकों में झटके महसूस हुए.

जयपुर में भूकंप के झटके:
राजस्थान की राजधानी जयपुर समेत अलवर-बहरोड़ में भूकंप के झटके महसूस किए गए है. जयपुरवासियों ने भी भूकंप के झटके महसूस किए है. कुछ सेकंड के लिए झटके महसूस हुए है.

जयपुर के 3 हीरा व्यापारी की हत्या प्रकरण: चूरू कोर्ट ने आरोपियों को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

पंजीकृत होमगार्ड में से 35 प्रतिशत को रोजगार, होमगार्ड भर्ती 2020 पर रोक को लेकर हाईकोर्ट में याचिका

पंजीकृत होमगार्ड में से 35 प्रतिशत को रोजगार, होमगार्ड भर्ती 2020 पर रोक को लेकर हाईकोर्ट में याचिका

जयपुर: राज्य में होमगार्ड के 2500 पदों के लिए निकाली गई भर्ती पर रोक लगाने की मांग को लेकर राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर कि गई है.हाईकोर्ट ने राज्य के एसीएस गृह, डीजी होमगार्ड और आईजी होमगार्ड को नेाटिस जारी करते हुए पुछा है कि क्यो नही इस भर्ती पर रोक लगा दी जाये.हाईकोर्ट ने सभी को एक सप्ताह में जवाब पेश करने के आदेश दिये है.राजस्थान होमगार्ड कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष झलकानसिंह की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस सी के सोनगरा ने ये आदेश दिये है.

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हादसा, ट्रेन की चपेट में आने से बस में सवार 19 सिख श्रद्धालुओं की मौत

सरकार ने नहीं दिया कोई भी स्पष्ट जवाब:
एडवोकेट गितेश जोशी, आत्माराम मीणा, कलीम अहमद ने कर्मचारी संगठन की ओर से पैरवी करते हुए अदालत को बताया कि राज्य सरकार ने निकाली गयी भर्ती में कई नियमों के साथ साथ कर्मचारी संगठन के साथ किये गये समझौता का उल्लघंन है.याचिका में कहा गया कि प्रदेश में कुल 30714 होमगार्ड के पद स्वीकृत है इन पदों पर कुल 28 हजार 400 होमगार्ड पंजीकृत है.राज्य सरकार इन पंजीकृत होमगार्ड में प्रतिमाह सिर्फ 9500 होमगार्ड को ही रोजगार प्रदान कर पा रही है.कोरोना जैसे आपातकाल में भी कुल 18 हजार होमगार्ड को ही रोजगार दिया जा सका है.ऐसे में नई भर्ती के जरिए जिन युवाओं को भर्ती किया जायेगा उनके रोजगार को लेकर सरकार ने कोई भी स्पष्ट जवाब नहीं दिया है.इसके साथ ही राज्य सरकार ने 2017 में होमगार्ड कर्मचारी संगठन के साथ समझौता किया था जिसके अनुसार पंजीकृत कुल होमगार्ड के 70 प्रतिशत को रोजगार मिलने पर ही नई भर्ती को मंजूरी दी जायेगी.फिलहाल पंजीकृत होमगार्ड को ही रोजगार नहीं मिल पा रहा है ऐसे में नई भर्ती का कोई औचित्य नही है.

एक सप्ताह में जवाब पेश करने के दिए आदेश:
याचिका में कहा गया कि बिना किसी कारण के ही 400 से ज्यादा होमगार्ड को डिसचार्ज कर दिया गया था जिन्हे बहाल करने को लेकर हाईकोर्ट पूर्व ही आदेश दे चुका है लेकिन अभी तक उन्हो बहाल नही किया गया और ना ही भर्ती में उनका उल्लेख किया गया.2016 में निकाली गयी नई भर्ती पर भी राजस्थान हाईकोर्ट ने ही रोक लगा रखी है.इसके साथ ही मंत्री के मौखिक आदेश से हटाये गये 26 होमगार्ड को लेकर भी इस भर्ती में कोई व्यवस्था नही कि गयी है.बहस सुनने के बाद अदालत ने राज्य के एसीएस गृह, डीजे होमगार्ड और आईजी होमगार्ड को नेाटिस जारी कर एक सप्ताह में जवाब पेश करने के आदेश दिये है.

6 IAS के तबादलों पर रोक, राज्य निर्वाचन आयोग ने लगाई रोक, DOP ने देर रात किए थे 103 IAS के तबादले

6 IAS के तबादलों पर रोक, राज्य निर्वाचन आयोग ने लगाई रोक, DOP ने देर रात किए थे 103 IAS के तबादले

6 IAS के तबादलों पर रोक, राज्य निर्वाचन आयोग ने लगाई रोक, DOP ने देर रात किए थे 103 IAS के तबादले

जयपुर: देर रात जारी हुई 103 आईएएस की तबादला सूची में से राज्य निर्वाचन आयोग ने 6 आईएएस के तबादलों पर रोक लगा दी है. 103 अधिकारियों की सूची में से आईएएस ऐसे थे जो चुनाव कार्य से सीधे जुड़े थे. अभी प्रदेश के 129 निकायों में मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम चल रहा है, जिसमें एसडीएम ईआरओ होता है. मतदाता सूची में काम प्रभावित नहीं हो इसके लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने आदेश जारी कर से आईएएस के तबादलों पर 20 जुलाई तक रोक लगा दी है. अब यह अधिकारी 20 जुलाई बाद ही नई जगह पर ज्वाइन कर सकेंगे. 

इन IAS के तबादलों पर रोक:
टीना डाबी का गंगानगर जिला परिषद सीईओ पद पर हुआ था तबादला लेकिन वे एसडीओ भीलवाड़ा थीं और मतदाता सूची के काम में थीं. इसी तरह अतहर आमिर, अमित यादव, अर्तिका शुक्ला,गौरव सैनी, रिया केजरीवाल अलग अलग जगह एसडीओ थीं. यह अधिकारी सीधे चुनाव कार्य से जुड़े थे और देर रात जारी हुई तबादला सूची में इनके तबादले से चुनाव का कार्य प्रभावित होता है इसलिए आयोग ने रोक लगाई है.

लेह से बोले पीएम मोदी, ये धरती वीरों के लिए है, वीर अपने शस्त्र से मातृभूमि की रक्षा करते हैं

पहले भी 23 आरएएस अधिकारियों के तबादलों पर लगाई थी रोक:
इससे पहले राज्य निर्वाचन आयोग ने 23 आरएएस अधिकारियों के तबादलों पर रोक लगा दी थी. ये फेरबदल उन 129 शहरी निकायों में हुए थे जहां अगस्त में चुनाव प्रस्तावित हैं और अभी वहां मतदाता सूची तैयार करने और प्रकाशन करने का काम जारी है. राज्य सरकार को भेजे पत्र में आयोग ने नाराजगी दिखाते हुए कहा है कि एसडीओ, तहसीलदार, नायब तहसीलदार की सूची बनाने में अहम भूमिका होती है लेकिन जारी 144 आरएएस की तबादला सूची में 23 ऐसे अधिकारियों के तबादले कर दिए हैं जो मतदाता सूची कार्य से जुड़े हैं और ऐसे में उनके तबादलों और इनकी रिलीविंग पर भी रोक लगा दी थी. 

नहीं रहीं मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान, नम आंखों से दी गई आखिरी विदाई
 

VIDEO: 1st इंडिया न्यूज की खबर का बड़ा असर, अब नहीं होंगी प्रिवियस के छात्रों की 15 जुलाई से परीक्षा

जयपुर: 1st इंडिया न्यूज की खबर का बड़ा असर देखने को मिला है. प्रिवियस के छात्रों की 15 जुलाई से परीक्षा अब नहीं होंगी. इससे पहले 1st इंडिया न्यूज ने प्रमुखता से RU के टाइम टेबल की खबर को प्रसारित किया था. टाइम टेबल में प्रिवियस के छात्रों का भी टाइम टेबल जारी कर दिया था, जबकि 15 जुलाई से UG और PG फाइनल की परीक्षा होनी थी. 

धौलपुर SP मृदुल कच्छावा को मिली एक और सफलता, 35 हजार का इनामी बदमाश लुक्का गुर्जर गिरफ्तार 

टाइम टेबल में प्रिवियस की परीक्षा देख छात्र हो गए थे परेशान:  
यूनिवर्सिटी ने पहले भी UG और PG फाइनल की परीक्षा का ही हवाला दिया था. लेकिन टाइम टेबल में प्रिवियस की परीक्षा देख छात्र परेशान हो गए थे. उसके बाद 1st इंडिया न्यूज ने इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था. इसी के चलते आखिर RU प्रशासन को प्रिवियस का टाइम टेबल वापस करना पड़ा है. 

7 सितंबर तक चलेंगी परीक्षाएं:
इससे पहले राजस्थान यूनिवर्सिटी ने अंडरग्रेजुएट (UG) और पोस्टग्रेजुएट (PG) की फाइनल ईयर की परीक्षाओं का शेड्यूल जारी किया है. परीक्षाएं 15 जुलाई से शुरू हो रही हैं और 7 सितंबर तक चलेंगी. डेटशीट के मुताबिक यूजी की फाइनल ईयर में कला और वाणिज्य संकाय की परीक्षाएं 15 जुलाई से शुरू होंगी. जबकि साइंस स्ट्रीम की परीक्षाएं 16 जुलाई से सुबह 8 से 11 बजे की पारी में आयोजित होंगी. बता दें कि यूजी और पीजी फाइनल को मिलाकर कुल 1 लाख 75 हजार स्टूेड्टस परीक्षा में शामिल होंगे. 

VIDEO: बीकानेर में विधायक और CI में हुई तकरार, पानी के कैम्पर से भरी गाड़ी को लेकर आपस में कहासुनी 

राजस्थान बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाएं भी आयोजित कराई: 
इसके इतर बात करें तो हाल ही में राजस्थान बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाएं भी आयोजित कराई थीं. डेटशीट के मुताबिक राजस्थान बोर्ड 12वीं की परीक्षा 18 जून 2020 से शुरू हुई थीं, जबकि 10वीं की परीक्षा 27 जून 2020 से शुरू हुईं. वहीं दोनों कक्षाओं की परीक्षाएं 30 जून 2020 को खत्म हो गई थीं. 

राजीव स्वरूप ने संभाला मुख्य सचिव का चार्ज, कहा- सभी के साथ मिलकर करेंगे काम

राजीव स्वरूप ने संभाला मुख्य सचिव का चार्ज, कहा- सभी के साथ मिलकर करेंगे काम

जयपुर: देर रात मिली नई जिम्मेदारी के बाद डीबी गुप्ता ने राजीव स्वरूप को आज सीएस पद का चार्ज दिया. सीएस का चार्ज लेने के बाद स्वरूप ने कहा कि कोरोना के समय आर्थिक हालात को ठीक करना हमारी बड़ी जिम्मेदारी है. कोरोना से बिगड़े आर्थिक हालात के मद्देनजर जरूरी कदम उठाते हुए प्रदेश को पटरी पर लाना प्राथमिकता रहेगी. 

धौलपुर SP मृदुल कच्छावा को मिली एक और सफलता, 35 हजार का इनामी बदमाश लुक्का गुर्जर गिरफ्तार 

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना बड़ी चुनौती:  
उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के समय राज्य के सामने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना बड़ी चुनौती है. साथ ही मेडिकल व स्वास्थ्य सेवाओं को भी पटरी पर लाना है. ऐसे में सबको साथ लेकर समय बद्ध तरीके से तेजी से स्टेट को नॉर्मल बनाना ही सर्वोच्च प्राथमिकता है. सीएस ने कहा कि इस संकट के समय मुख्यमंत्री ने जो मुझ पर भरोसा जताया है मेरी कोशिश है कि राज्य को इस कठिन परिस्थिति में तेजी से सामान्य व्यवस्था में लेकर आऊं.

VIDEO: बीकानेर में विधायक और CI में हुई तकरार, पानी के कैम्पर से भरी गाड़ी को लेकर आपस में कहासुनी 

डीबी गुप्ता ने सीएस राजीव स्वरूप को शुभकामनाएं दीं: 
इससे पूर्व डीबी गुप्ता बहुत कम समय के लिए सीएस ऑफिस आये और बुके देकर नए सीएस राजीव स्वरूप को शुभकामनाएं दीं. स्वरूप ने भी डीबी गुप्ता को अच्छे भविष्य की शुभकामनाएं दीं जिसके बाद स्वरूप ने सीएस का चार्ज लिया. डीबी गुप्ता ने पत्रकारों से सिर्फ यही कहा कि सीएम से मिलकर वे जो जिम्मेदारी देंगे वही शिद्दत के साथ निभाऊंगा. उन्होंने अनौपचारिक बातचीत में यह भी कहा कि जल्द ही स्थिति साफ हो जाएगी.


 

169000 रुपये के नकली नोट के साथ तस्कर गिरफ्तार, आरोपी से एक देसी कट्टा और जिंदा कारतूस भी बरामद

169000 रुपये के नकली नोट के साथ तस्कर गिरफ्तार, आरोपी से एक देसी कट्टा और जिंदा कारतूस भी बरामद

जयपुर: राजधानी की करधनी थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए नकली नोट तस्कर को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपी रमेश यादव से 169000 के नकली नोट बरामद करने में सफलता हासिल की है. साथ ही आरोपी से एक देसी कट्टा और जिंदा कारतूस भी बरामद हुए हैं.

धौलपुर SP मृदुल कच्छावा को मिली एक और सफलता, 35 हजार का इनामी बदमाश लुक्का गुर्जर गिरफ्तार 

नकली नोट हूबहू असली जैसे लग रहे थे: 
करधनी थाना प्रभारी रामकिशन विश्नोई ने बताया कि आज सुबह ही मुखबिर ने सूचना दी थी इलाके में एक व्यक्ति आया हुआ है जोकि नकली नोटों को 50 पर्सेंट कम राशि में बाजार में बेचने की कोशिश कर रहा है. सूचना पर पुलिस ने जाल बिछाकर उसको गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक नकली नोट हूबहू असली जैसे लग रहे थे. ऐसे में काफी जांच के बाद ही पुलिस को सच समझ मे आया. फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है. 

VIDEO: बीकानेर में विधायक और CI में हुई तकरार, पानी के कैम्पर से भरी गाड़ी को लेकर आपस में कहासुनी 

पितृ पक्ष के समापन के 1 महीने बाद आएगी नवरात्र, 165 साल बाद बना संयोग

पितृ पक्ष के समापन के 1 महीने बाद आएगी नवरात्र, 165 साल बाद बना संयोग

जयपुर: हर साल पितृ पक्ष के समापन के अगले दिन से नवरात्रि का आरंभ हो जाता है जो कि इस साल नहीं होगा. आश्विन मास में मलमास लगना और एक महीने के अंतर पर दुर्गा पूजा आरंभ होना ऐसा संयोग करीब 165 साल बाद लगने जा रहा. इसके चलते नवरात्रि 1 महीने विलंब से शुरू होंगे. 

खूंखार वन्यजीवों ने सीखा लॉकउाउन में संयम का पाठ..! झालाना में पानी के घाट पर साकार हुआ कलयुग में 'राम राज' 

इस बार चातुर्मास पांच महीने का: 
लीप वर्ष होने के कारण इस बार चातुर्मास जो हमेशा चार महीने का होता है, इस बार पांच महीने का होगा. चातुर्मास लगने से विवाह, मुंडन, कर्ण छेदन जैसे मांगलिक कार्य नहीं होंगे. इस काल में पूजन पाठ, व्रत उपवास और साधना का विशेष महत्व होता है. इस दौरान देव सो जाते हैं. देवउठनी एकादशी के बाद ही देव जागृत होते हैं.

इस साल 17 सितंबर 2020 को श्राद्ध खत्म होंगे:
इस साल 17 सितंबर 2020 को श्राद्ध खत्म होंगे. इसके अगले दिन अधिकमास शुरू हो जाएगा, जो 16 अक्टूबर तक चलेगा. इसके बाद 17 अक्तूबर को प्रतिपदा तिथि यानि के प्रथम नवरात्र होगा और 25 अक्तूबर को नवमी तिथि तक नवरात्र रहेंगे. जिसके साथ ही चातुर्मास समाप्त होंगे. इसके बाद ही शुभ कार्य जैसे विवाह, मुंडन आदि शुरू होंगे. 

देश की पहली कोरोना वैक्सीन 15 अगस्त को हो सकती है लॉन्च  

अंतर हर तीन वर्ष में लगभग एक माह के बराबर: 
एक सूर्य वर्ष 365 दिन और करीब 6 घंटे का होता है, जबकि एक चंद्र वर्ष 354 दिनों का माना जाता है. दोनों वर्षों के बीच लगभग 11 दिनों का अंतर होता है. ये अंतर हर तीन वर्ष में लगभग एक माह के बराबर हो जाता है. इसी अंतर को दूर करने के लिए हर तीन साल में एक चंद्र मास अतिरिक्त आता है, जिसे अतिरिक्त होने की वजह से अधिकमास का नाम दिया गया है. 


 

VIDEO: ट्रेनों में नहीं बढ़ पा रहा यात्री भार, सोमवार से शुरू हुई ट्रेनों में तत्काल टिकट बुकिंग की सुविधा

जयपुर: रेलवे प्रशासन को ट्रेनों का संचालन शुरू किए अब करीब 50 दिन हो चुके हैं. 12 मई से रेलवे प्रशासन ने 30 स्पेशल ट्रेनों के साथ शुरुआत की थी. इसके बाद 1 जून से 200 और ट्रेनें शुरू की गईं. इतनी कम संख्या में ट्रेनें चलने के बावजूद ट्रेनें खाली दौड़ रही हैं. इसे कोरोना का डर कहें या फिर 14 दिन क्वारंटीन किए जाने का डर, यात्री ट्रेनों में सफर करने से बच रहे हैं. 

खूंखार वन्यजीवों ने सीखा लॉकउाउन में संयम का पाठ..! झालाना में पानी के घाट पर साकार हुआ कलयुग में 'राम राज' 

देश में फिलहाल 230 स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा रहा:  
देश में फिलहाल 230 स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है. इनमें से 30 ट्रेनें 12 मई से और 200 स्पेशल ट्रेनें 1 जून से चल रही हैं. उत्तर-पश्चिम रेलवे से भी 13 स्पेशल ट्रेनों का संचालन हो रहा है. लेकिन सभी ट्रेनों में इन दिनों यात्रीभार की कमी दिख रही है. रेलवे प्रशासन ने अब ट्रेनों में टिकट बुकिंग के लिए तत्काल टिकट की सुविधा भी शुरू कर दी है. इसके बावजूद जयपुर से होकर गुजरने ने वाली किसी भी ट्रेन में तत्काल बुकिंग को लेकर यात्रियों में रुझान नहीं दिख रहा है. 

यात्रीभार मात्र 20 से 25 फीसदी दिख रहा:
जोधपुर से जयपुर होकर हावड़ा आने और जाने वाली ट्रेन के अलावा सभी 13 ट्रेनों में यात्रीभार मात्र 20 से 25 फीसदी दिख रहा है. हालांकि इसके पीछे सबसे बड़ा कारण पीक रूट्स पर ट्रेनों का संचालन नहीं होना भी है. अभी रेलवे द्वारा जयपुर से जिन रूट्स पर ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है, उन रूट्स पर पीक सीजन में भी सीटों की इतनी मारामारी नहीं होती थी. हालांकि मुंबई रूट पर ट्रेनें फुल रहती थीं, लेकिन मुंबई में इन दिनों कोरोना संक्रमण अधिक होने के चलते लोग सफर करने से डर रहे हैं. जोधपुर, अहमदाबाद रूटों पर भी यात्रीभार काफी कम है.  तो वहीं यूपी, बिहार के लिए ट्रेनों का संचालन काफी कम है. इस रूट पर अभी मात्र एक जोधपुर-हावड़ा एक्सप्रेस चलाई जा रही है. इस ट्रेन में यात्री भार काफी अच्छा है. लेकिन जोधपुर-वाराणसी मरुधर एक्सप्रेस, उदयपुर-न्यूजलपाईगुड़ी एक्सप्रेस, बीकानेर-कोलकाता एक्सप्रेस और जयपुर-इलाहाबाद जैसी उत्तरप्रदेश और बिहार की लोकप्रिय ट्रेनों का संचालन नहीं किया जा रहा है. जिसके चलते ट्रेनों में यात्री भार बढ़ नहीं पा रहा है. हालांकि रेलवे इसी माह अब स्पेशल नंबर से वर्तमान में संचालित हो रहीं 230 स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त लोकप्रिय रूटों पर और ट्रेनें चलाने की योजना बना रहा है. 

देश की पहली कोरोना वैक्सीन 15 अगस्त को हो सकती है लॉन्च  

ट्रेनों में तत्काल टिकट बुकिंग को लेकर रेलवे ने निर्देश दिए:
रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार जल्दी ही इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी जाएगी. वहीं ट्रेनों में तत्काल टिकट बुकिंग को लेकर रेलवे ने निर्देश दिए हैं कि रेलवे के काउंटर्स के अलावा आईआरसीटीसी की वेबसाइट, अधिकृत पोस्ट ऑफिस, अधिकृत एजेंट या कॉमन सर्विस सेंटर से भी तत्काल टिकट बुक करवा सकते हैं. तत्काल टिकट के लिए संबंधित व्यक्ति के पास आधार कार्ड, वोटर आईडी, बैंक पासबुक या पासपोर्ट होना जरूरी है. कुलमिलाकर जब तक जयपुर से लोकप्रिय रूटों पर ट्रेनों का संचालन नहीं बढ़ेगा, तब तक ट्रेनों में यात्रीभार बढ़ना मुश्किल ही है. 

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

Open Covid-19