नागौर लोकसभा सीट पर बसपा बिगाड़ सकती है कांग्रेस-भाजपा का समीकरण

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/17 01:25

नागौर। जिले की राजनीती में अब उबाल आना शुरू हो गया है। लोकसभा चुनावों को लेकर जहां भाजपा ने हनुमान बेनीवाल कार्ड खेल कर युवा मतदाताओं को अपनी और आकर्षित करने की कोशिश की है तो कांग्रेस एक बार फिर मिर्धा परिवार के नाम का फायदा उठाने के लिए ज्योति मिर्धा पर अपना दांव खेला है। इसी बीच बसपा ने भी अपना दांव खेल दिया है जिससे दोनों ही खेमों और खासकर कांग्रेस में खलबली मच गई है। बसपा ने यहां अल्पसंख्यक कार्ड खेलते हुए कांग्रेस के बागी मुस्ताक खान खात्यासनी को टिकट दिया है। 

प्रदेश में दो दिन में कई जगह हुई बरसात और ओलावृष्टि से पारा लुढ़क गया है लेकिन जेसे जेसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं राजनीती का पारा चढ़ता ही जा रहा है। इस बीच बसपा के मास्टरस्ट्रोक ने जिले के आम मतदाताओं और राजनितिक पंडितों को चर्चा के लिए एक और नया विषय दे दिया है जिसकी चर्चा गाँव की चोपाल से लेकर चाय की थडियों तक है। इस नई चर्चा का कारन है बसपा का अल्पसंख्यक कार्ड। कांग्रेस के बागी मुस्ताक खान खात्यासनी को बसपा ने टिकट दिया है जिसकी वजह से कांग्रेस के खेमे में खलबली मच गई है। 

बसपा प्रत्याशी मैदान में उतरने से कांग्रेस को हो सकता है नुकसान
बसपा के मैदान में उतरने से कांग्रेस में खलबली मचने का कारन भी साफ जाहिर है क्योंकि अल्पसंख्यक और पिछड़ा वर्ग मूलतः कांग्रेस का वोट बैंक माना जा रहा है ऐसे में मुस्ताक खान की एंट्री ने कांग्रेस में खलबली मचा दी है । मुस्ताक खान लम्बे समय से कांग्रेस के सक्रीय नेता रहे हैं और जिले में उनकी अच्छी पकड़ भी है वही बसपा की पिछड़े वर्ग में जो पकड़ है वो किसी से छिपी नहीं है ऐसे में दोनों ही फेक्टर कांग्रेस के खिलाफ काम कर रहे हैं । 

मायावती करेगी चुनावी सभा
बसपा का का दावा  है कि पिछले चार चुनावों से लगातार नागौर संसदीय क्षेत्र में चुनाव लड़ रही है और हर बार हमने कड़ी टक्कर दोनों दलों को दी है लेकिन इस बार हमारा प्रत्याशी काफी मजबूत है जो सबपर भारी पड़ेगा और इस बार लोकसभा चुनावों में हम नागौर से जीत दर्ज करवाएंगे । जानकारी के अनुसार बसपा नागौर सीट पर इस बार अपना पूरा दम दिखाने वाली है और बसपा सुप्रीमो मायावती खुद यहां चुनावी सभा को संबोधित करेंगी जिसकी तारीख और जगह फाइनल हो चुकी है लेकिन घोषणा अभी बाकी है । 

बहरहाल चुनावी चकल्लस में इस बार किसका बेड़ा पार लगेगा यह तो चुनावों में जातिया तय करेगी लेकिन फ़िलहाल प्रत्याशियों के बीच रस्साकसी जारी है ऐसे में देखने वाली बात यह होगी की कौन किस पर कितना भारी पड़ता है । 

....नरपत ज़ोया संवाददाता 1st इंडिया न्यूज नागौर 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in