Live News »

नागौर में प्रेमी-युगल ने जहर खाकर दी जान, मामले की जांच में जुटी पुलिस 

नागौर में प्रेमी-युगल ने जहर खाकर दी जान, मामले की जांच में जुटी पुलिस 

नागौर: नागौर जिले के खीवसर थाना इलाके में प्रेमी युगल ने जहर खाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. खींवसर पुलिस की मानें तो दोनों के बीच करीब एक साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था.जानकारी के मुताबिक दोनों मोबाइल पर बातचीत करने के बाद  सुबह अपने गांव से बाइक पर सवार होकर निकले थे और भाकरोद सिलगांव रोड पर जाकर दोनों ने जहरीला पदार्थ खा लिया.

कांग्रेस को बहस में हस्तक्षेप का अधिकार, लेकिन पक्षकार नहीं, हाईकोर्ट ने कांग्रेस का पक्षकार बनने का प्रार्थना पत्र किया निस्तारित

मोर्चरी में रखवाया शव:
ग्रामीणों ने उन्हें बदहवास हालत में देखकर एंबुलेंस से सीएचसी में भर्ती कराया. घटना की जानकारी मिलते ही खींवसर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन में जुट गई. भाकरोद अस्पताल में उपचार के दौरान महिला की मौत हो गई. वहीं युवक का नागौर के जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में उपचार के दौरान मृत्यु होने पर उसके शव को मोर्चरी में रखवाया गया है. 

पुलिस कर रही है मामले की जांच:
खींवसर थाना पुलिस के मुताबिक आसोप थाने के पालडी गांव के रहने वाले थे.दोनों  मृतका महिला काचूडी शादीशुदा थी.जिसका ससुराल पालड़ी गांव में था. वहीं के रहने वाले कालू मेघवाल से उसकी जान पहचान हो गई और दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे.आज दोनों भाकरोद सीलगांव इलाके में आकर दोनों ने जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी और मामले की जांच की जा रही है. दोनों ने किन परिस्थितियों में ऐसा किया, सहित हर पहलू की पुलिस जांच कर रही है.

7 मेडिकल कॉलेजों के लिए 819 करोड़ रूपए की अतिरिक्त राशि मंजूर, मुख्यमंत्री ने किया प्रस्ताव का अनुमोदन

और पढ़ें

Most Related Stories

बीएसएफ के जवान का सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

बीएसएफ के जवान का सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

नागौर: मकराना उपखंड के ग्राम मामडोली के निवासी बीएसएफ के जवान सुगनाराम प्रजापत को आज नम आंखों से उनके पैतृक ग्राम में अंतिम विदाई दी गई. आपको बता दें कि कश्मीर के कुकवाड़ा पोस्ट पर 102 बटालियन में हवलदार के पद पर ग्राम मामडोली के निवासी सुगनाराम प्रजापत बीएसएफ में तैनात थे. जिसका 2 दिन पूर्व हृदयाघात हो जाने से आकस्मिक निधन हो गया था. 

पार्थिव शरीर बीती देर रात वायु मार्ग के माध्यम से जयपुर पहुंचा था: 
इसके बाद कल श्रीनगर से दिल्ली होते हुए उनका पार्थिव शरीर बीती देर रात वायु मार्ग के माध्यम से जयपुर पहुंचा था. जहां से पार्थिव शरीर सड़क मार्ग के माध्यम से अल सुबह परबतसर पहुंचा. जहां से बोरावड सबलपुर होते हुए पैतृक ग्राम मामडोली लगभग सुबह 10 बजे के करीब पहुंचा. जहां पर परिवार सहित ग्रामीण लोगों ने सुगनाराम के अंतिम दर्शन करते हुए उन्हें नम आंखों से विदाई दी.

{related} 

जवान सुगनाराम के पुत्र ने उन्हें मुखाग्नि दी:
इस दौरान मकराना विधायक रूपाराम मुरावतिया, पूर्व विधायक जाकिर हुसैन गैसावत, पूर्व विधायक श्रीराम भींचर सहित मकराना विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों से आए हुए ग्रामीणों ने उन्हें पुष्प चक्र अर्पित करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित किए. गांव के एक खेत में भारत माता की जय कारे के साथ अंत्येष्टि पहुंची. जहां पर हिंदू रीति रिवाज के अनुसार सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान जवान सुगनाराम के पुत्र ने उन्हें मुखाग्नि दी. इस अवसर पर ग्राम का माहौल पूरी तरह से गमगीन था और लोग भारत माता की जय कारे के नारे लगा रहे थे. 

VIDEO: नागौर के लाडनूं में फिल्मी अंदाज में किडनैपिंग, युवती को घर से उठा ले गए 20 से 25 बदमाश

लाडनूं: जसवंतगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम लेडी में एक युवती का अपहरण हो गया.अपहरणकर्ता 3 गाड़ियों में सवार होकर आए थे. युवती का 20 से 25 युवकों ने घर में घुसकर अपहरण कर ले गए. जसवंतगढ़ थाने के SHO हरिराम ने बताया कि पीड़ित युवती की मां ने जसवंतगढ़ पुलिस थाने में रिपोर्ट दी है. जिसमें उन्होंने बताया कि बदमाश तीन गाड़ियों में सवार होकर आए थे. 20-25 बदमाशों ने घर की कुंडी तोड़कर मेरी बेटी को जबरदस्ती उठाकर ले गए. जिस पर पीड़ित की मां ने अमित तारपुर निवासी सीकर और 20-25 युवकों ने मामला दर्ज करवाया है. इस दौरान सूचना के बाद मौके पर डीडवाना के ASP संजय गुप्ता,डीडवाना डिप्टी गणेशा राम चौधरी,लाडनूं के थानाधिकारी मुकुट बिहारी मीणा, जसवंतगढ़ थाने के SHO हरीराम सहित भारी संख्या में पुलिस जाप्ता मौके पर पहुंचा. इस दौरान पूरे नागौर जिले में नाकाबंदी करवाई गई, लेकिन आरोपी पकड़ में नहीं आए. 

{related} 

जल्द ही आरोपी होंगे पुलिस की गिरफ्त में:
जसवंतगढ़ के SHO हरिराम ने बताया है कि आरोपियों को पकड़ने के लिए सीकर में अलग अलग जगहों पर दबिशें दी जा रही है. जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे. सूत्रों की माने तो अमित तारपुर और युवती दोनों झोटवाड़ा जयपुर साथ मे पढते थे. फिर दोनों के बीच प्रेम प्रसंग का मामला हो गया था. तब दोनों ने करीब 2 महीने पूर्व सीकर में कोर्ट मैरिज कर ली थी. लेकिन युवती अभी 5 और 6 दिन पूर्व अपने पीहर में आई थी. तब वह अपने ससुराल नहीं जाने पर आज युवती के पति ने इस घटना को अंजाम दे दिया.

{related}

बीजेपी ने सौंपा एसडीएम को ज्ञापन:
एसडीएम को जिलाध्यक्ष गजेन्द्रसिंह,जिला उपाध्यक्ष अंजना शर्मा, जिला मीडिया प्रभारी बनवारीलाल शर्मा, जिलामंत्री नाथूराम कालेरा, शहरमण्डल अध्यक्ष नीतेश माथुर, विधानसभा प्रभारी उमेश पीपावत, पूर्व महिला मोर्चा जिला संयोजक सुमित्रा आर्य, एससी मोर्चा जिला संयोजक ईश्वरराम मेघवाल, शहर मण्डल उपाध्यक्ष  राजेश शर्मा के नेतृत्व में ज्ञापन दिया. ज्ञापन के माध्यम से लाडनूं तहसील के गांव लैडी में मंगलवार को एक बालिका का चार युवकों द्वारा अपहरण किया गया है, इससे पहले गांव धूड़ीला में एक नाबालिक का अपहरण किया गया था. जिस पर ठोस कार्रवाई की मांग की गई. 

{related} 

...फर्स्ट इंडिया के लिए अशरफ खान की रिपोर्ट

कांग्रेस नेता नाथूराम मिर्धा की पुण्यतिथि पर उन्हें याद करते हुए पुष्पांजलि की अर्पित 

कांग्रेस नेता नाथूराम मिर्धा की पुण्यतिथि पर उन्हें याद करते हुए पुष्पांजलि की अर्पित 

नागौर: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद स्वर्गीय नाथूराम मिर्धा की पुण्यतिथि पर जिला कांग्रेस मुख्यालय में पुष्पांजलि कार्यक्रम रखा गया. कांग्रेस पदाधिकारियों ने स्वर्गीय मिर्धा के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया गया. पूर्व मंत्री हबीबु रहमान, पूर्व प्रधान ओम प्रकाश समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे.

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में 7 मौत, 603 नए पॉजिटिव केस, जयपुर में मिले सर्वाधिक 137 संक्रमित 

मिर्धा के बताए गए आदर्शों और मार्गो पर चलने का लिया संकल्प:
पुण्यति​थि के कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग एवं सरकारी गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए जिला कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित हुआ. इस दौरान कांग्रेसजन ने स्व. नाथूराम मिर्धा की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. साथ ही समस्त कांग्रेसजन ने उनके बताए गए आदर्शों एवं मार्गो पर चलने का संकल्प लिया.अंत में कांग्रेसजन ने दो मिनिट का मौन धारण कर उन्हें याद किया. 

मिर्धा ने नागौर को अपनी कर्मभूमि मानकर राजनीति में रखा था कदम:
आपको बता दें कि 20 अक्टूबर 1920 को नागौर जिले के कुचेरा में पैदा हुए नाथूराम मिर्धा ने नागौर को अपनी कर्मभूमि मानकर राजनीति में कदम रखा और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. नाथूराम मिर्धा कई वर्षों सांसद रहे. यहां तक कि 1977 में पूरे उतर भारत में कांग्रेस को जो दो सीटें मिली थी उनमें से एक नागौर से नाथूराम मिर्धा की सीट थी.

VIDEO: झालावाड़ में युवक की लापरवाही पड़ी भारी, जलाशय के तेज बहाव में बहा युवक, तलाश जारी

आर्थिक तंगी से परेशान विवाहिता और दो मासूम बच्चों ने पिया विषाक्त पदार्थ, कर ली जीवन लीला समाप्त

आर्थिक तंगी से परेशान विवाहिता और दो मासूम बच्चों ने पिया विषाक्त पदार्थ, कर ली जीवन लीला समाप्त

नागौर: कोरोना काल के दौरान किए गए लॉक डाउन के कारण आई आर्थिक मंदी के साइड इफेक्ट लगातार सामने आ रहे हैं. ताजा मामला नागौर जिले से है जहां पांचौड़ी थाना क्षेत्र के खारी कर्मसोता गांव में सोमवार शाम को एक विवाहिता ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर अपने तीन बच्चों के साथ कीटनाशक पदार्थ पीने से विवाहिता और उसके दो मासूम बच्चों की मौत हो गई.

VIDEO: पार्वती नदी में नजर आई एक विशालकाय मछली, देखने के लिए होने लगी लोगों की भीड़ जमा  

उपचार के दौरान विवाहिता और उसके पुत्र व पुत्री की मौत हो गई:  
नागौर जेएलएन अस्पताल मे पाचौड़ी थाना पुलिस की मौजूदगी मे तीनों का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम हुआ. थानाधिकारी निसार खान ने बताया कि मर्ग दर्ज करके जांच शुरू कर दी है. गंभीर हालत में चारों को नागौर के जेएलएन अस्पताल लाया गया जहां उपचार के दौरान विवाहिता और उसके पुत्र व पुत्री की मौत हो गई है. खारी कर्मसोता गांव के रहने वाले ओमप्रकाश नायक जब मजदूरी के लिए घर से बाहर पत्थरों की खानों मे गया था तो घर में ओमप्रकाश की पत्नी कानी देवी ने दो बेटों 6 साल के राकेश  के साथ 5 साल के सोनू  और 3 साल की बेटी उर्मिला  के साथ कीटनाशक पी लिया. जिससे चारो की बिगड़ गई.

करौली: मंडरायल करनपुर क्षेत्र में चंबल नदी उफान पर, क्षेत्र के दर्जनों गांवों का कटा संपर्क 

पाचौड़ी थाना पुलिस मामले की जुट गई: 
घटना की जानकारी मिलने पर परिजन उन्हें लेकर  नागौर के जेएलएन अस्पताल पहुंचे, जहां उपचार के दौरान कानी देवी और उसके दो बच्चों  की मौत हो गई, जबकि  एक बच्चे का उपचार चल रहा है. तीनों मृतकों के शव परिजनो के सुपर्द कर दिए हैं.  पाचौडी थाना पुलिस मामले की जुट गई है. 

स्व. रामनिवास मिर्धा की जयंती पर पुष्पांजलि कार्यक्रम का आयोजन, वरिष्ठ नेता डॉ. सहदेव चौधरी भी रहे मौजूद

नागौर: राजस्थान की सियासत में कद्दावर नेता रहे स्वर्गीय रामनिवास मिर्धा की जयंती पर पैतृक गांव कुचेरा मे उनको श्रद्धांजलि अर्पित की गई. स्व मिर्धा की याद में बनाये गए समाधि स्थल पर सुबह से आसपास के ग्रामीण क्षेत्र से कोविड-19 की पालना करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. रामनिवास मिर्धा की 96 जन्मतिथि के मौके पर उन्हें नमन किया. इस दौरान नागौर के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता डॉ. सहदेव चौधरी ने भी मिर्धा के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित किए और मिर्धा को नमन किया गया. इनके साथ ही कई जनप्रतिनिधि गण सामाजिक संगठन से जुड़े पदाधिकारियो ने भी स्व. मिर्धा के पुष्प अर्पित किए.

CWC Meeting: राहुल गांधी के बयान पर वरिष्ठ नेता मुखर, गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल ने जताई नाराजगी   

पूरे जीवन काल में उन्होंने किसानों की भलाई की: 
कूचेरा में जन्मतिथि पर पुष्पांजलि कार्यक्रम मे पौत्र कांग्रेसी नेता राघवेंद्र मिर्धा शामिल हुए. पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं केन्द्रीय मंत्री रहे स्व. रामनिवास मिर्धा की जन्मतिथि पर पुष्पांजलि कार्यक्रम कूचेरा में रखा गया. इस दौरान उनके पौत्र कांग्रेसी नेता राघवेन्द्र मिर्धा ने स्व. रामनिवास मिर्धा के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके योगदान को याद किया. डॉ सहदेव चौधरी ने कहां कि अपने पूरे जीवन काल में उन्होंने किसानों की भलाई की और हमेशा लोकसभा में किसानों की आवाज उठाई, और उनके हक की लड़ाई लड़ी और अपने जीवन में गरीब मजदूर और किसानों के लिए काम करते रहे.

उनके सामाजिक क्षेत्र और शिक्षा क्षेत्र में किए गए कार्य हमेशा याद रखे जायेंगे:
वहीं इस दौरान मदन मिर्धा ने कहा कि, मिर्धा जी ने राजनीति में शुचिता के साथ काम किया. उनके सामाजिक क्षेत्र और शिक्षा क्षेत्र में किए गए कार्य हमेशा याद रखे जायेंगे. उल्लेखनीय है कि नागौर जिले के कुचेरा ग्राम में बलदेव राम मिर्धा के घर 24 अगस्त 1924 को जन्मे स्व. रामनिवास मिर्धा 1953 से 1967 तक विधानसभा के सदस्य रहे.  स्व. मिर्धा 1957 से 1967 तक विधानसभा अध्यक्ष तथा 1967 में ही उपचुनाव में राज्यसभा के सदस्य चुने गये. जून 1970 में स्व. मिर्धा पहली बार केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री बना ये गये. वे राज्यसभा के उपसभापति और 1983 से 1989 तक केन्द्र में विभिन्न विभागों के मंत्री रहे. 

बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय के मामले में हाईकोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट से भी बड़ी राहत, मदन दिलावर की SLP खारिज 

स्व. मिर्धा ने कई अंतरराष्‍ट्रीय सम्मेलनों में भारत का प्रतिनिधित्व किया:
स्व. मिर्धा दसवीं लोकसभा में (1991 से 1996) सदस्य रहे. उस दौरान संयुक्त संसदीय समिति के सभापति रहे. स्व. मिर्धा केन्द्रीय ललित कला अकादमी के दो बार ( 1976 से 1980 तथा 1990 से 1995 ) अध्यक्ष मनोनीत किये गये. स्व. मिर्धा ने कई अंतरराष्‍ट्रीय सम्मेलनों में भारत का प्रतिनिधित्व किया. स्व. मिर्धा भारतीय युवा संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे थे. 

खींवसर में फिर 3 बच्चों की तालाब में डूबने पर मौत, एक वर्ष पहले भी हुआ था ऐसा ही हादसा 

खींवसर में फिर 3 बच्चों की तालाब में डूबने पर मौत, एक वर्ष पहले भी हुआ था ऐसा ही हादसा 

नागौर: प्रदेश के नागौर जिले के खींवसर उपखण्ड में ठीक एक साल बाद फिर तीन बच्चों की तालाब में डूबने की घटना ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया है. गत वर्ष उपखंड मुख्यालय पर तीन बच्चों की तालाब में डूबने से मौत हुई थी, जबकि आज यानी सोमवार को खींवसर क्षेत्र की ग्राम पंचायत माडपुरा के दुजासर ग्राम स्थित तालाब में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई. पांचौड़ी थाना पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सुपुर्द किया है.

पानी पीने के दौरान फिसला एक बच्चे का पैर: 
जानकारी मिलने पर नागौर वृताधिकारी विनोद कुमार, तहसीलदार रामस्वरूप जोहर एवं  मौके पर पहुंचे. मृतकों में दुजासर निवासी मुली कंवर (11) पुत्री अमरसिंह राजपूत, ओंकार सिंह (9) पुत्र भवानीसिंह राजपूत और खेत सिंह (10) पुत्र मदनसिंह राजपूत है. नागौर वृताधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि तीनों भेड़-बकरी चराते हुए तालाब पहुंचे, जहां पानी पीने के दौरान एक बच्चे का पैर फिसल गया और उसे बचाने के चक्कर में तीनों की तालाब में डूब गए, जिससे तीनों की मौत हो गई गत वर्ष 8 अगस्त को खींवसर उपखण्ड मुख्यालय स्थित बख्तासागर तालाब में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई थी.घटना के दौरान बच्चों के परिजन पास ही स्थित खेत में निराई-गुड़ाई कर रहे थे. बच्चों को प्यास लगने पर वे पानी पीने बख्तासागर तालाब पर पहुंच गए. 

पायलट खेमे के विधायक भंवरलाल शर्मा ने की सीएम गहलोत से मुलाकात, वापसी की रिकवेस्ट लेकर पहुंचे सीएमआर

तीन साल पहले भी डूब गए थे तीन बच्चे:
इस दौरान एक बच्चा पानी पीते समय पैर फिसलने से डूब गया. उसे बचाने के लिए दो बच्चे नजदीक पहुंचे तो वे भी डूब गए. काफी देर तक बच्चों के नहीं लौटने पर परिजनों एवं आसपास के राहगीरों को जानकारी मिली तो वे भागकर तालाब पर पहुंचे. करीब एक घण्टे की मशक्कत के बाद तीनों बच्चों को बाहर निकाला गया गया गत वर्ष 8 अगस्त को खींवसर के बख्तासागर तालाब के डूबने वालों की पहचान जावेद (16) पुत्र सराजुद्दीन, आमीन (16) पुत्र जाहिर अब्बास मुसलमान व सावन (15) पुत्र सुनील हरिजन के रूप में हुई थी. गत वर्ष खींवसर में हुई घटना व सोमवार को दुजासर में हुई घटना लगभग एक जैसी है. दोनों ही घटनाओं में बच्चे पानी पीने के लिए तालाब पहुंचे और एक बच्चे का पैर फिसलने पर उसे बचाने के लिए दूसरे बच्चे तालाब में उतरे और तीनों ही डूब गए.

गहलोत-पायलट संघर्ष प्रकरण समाप्त! दो माह पुराने आंतरिक संघर्ष का हुआ पटाक्षेप

नाबालिग से दुष्कर्म के बाद हत्या, अधेड़ को पुलिस ने हिरासत में लिया

नाबालिग से दुष्कर्म के बाद हत्या, अधेड़ को पुलिस ने हिरासत में लिया

परबतसर(नागौर): पीलवा थाना क्षेत्र के बाजोली गांव में एक शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. एक 60 वर्षीय अधेड़ ने अपनी पुत्री के समान नाबालिग से दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी. मृतक के नाना ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि मेरी दोहिती ललिता उम्र 10 वर्षी जन्म से ही अपने नाना के पास ननिहाल में रहती है. 

VIDEO: उदयपुर में बच्चों पर अमानवीयता का वीडियो वायरल, चोरी के आरोप में 3 बच्चों को अर्धनग्न कर पूरे बाजार में घुमाया 

नाबालिग लड़की भेड़ बकरियां चराने के लिए चारागाह में गई हुई थी: 
नाबालिग लड़की भेड़ बकरियां चराने के लिए चारागाह में गई हुई थी. इस दौरान मेरी दोहिती को अकेला देखर दमुराम पुत्र कानाराम राईका उम्र 60 वर्षीय जो भी चारागाह में पशु चरा रहा था बच्ची को अकेला देखकर उसके साथ दुष्कर्म किया. दुष्कर्म के बाद आरोपी ने उसकी हत्या कर दी और सबूत मिटाने के लिए शव को नाड़ी के किचड़ में डाल दिया. 

केन्द्रीय मंत्री कैलाश चौधरी कोरोना पॉजिटिव, जोधपुर एम्स में भर्ती 

60 वर्षीय अधेड़ अपना जुर्म किया कबूल: 
ऐसे में नाबालिग जब शाम तक घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने इसकी सूचना थाने में दी. जिस पर पुलिस ने एक 60 वर्षीय अधेड़ को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया. सूचना पर मकराना सीओ सुरेश कुमार सांवरिया, एडिशन एसपी संजय गुप्ता, पीलवा थाना प्रभारी राधेश्याम चौधरी, परबतसर सीआई सुखराम चौटिया मौके पर पहुंचे तथा मौका मुआयना किया. इस दौरान परिजनों व समाज के लोगों ने शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम व मुआवजे की मांग को लेकर मकराना सीओ सुरेश कुमार सांवरिया को ज्ञापन भी सौंपा. 

नागौर: बाइक-कैम्पर की भीषण भिड़ंत में तीन लोगों की मौत

 नागौर: बाइक-कैम्पर की भीषण भिड़ंत में तीन लोगों की मौत

नागौर: जिले के डीडवाना उपखण्ड क्षेत्र के खुनखुना थाने से करीब 25 किलोमीटर दूर शेरानी आबाद गांव के पास बीती रात बाइक और बोलेरो कैम्पर गाड़ी में भीषण सड़क हादसा हो गया, जिसमे बाइक सवार दो लोग जिंदा जल गए तो तीसरे की चोट लगने से अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई. 

कुछ देर बाद PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा करेंगे पदभार ग्रहण, सीएम गहलोत, मंत्री और विधायक रहेंगे मौजूद 

भीषण भिड़ंत के बाद बाइक उछलकर दूर जा गिरी:  
जानकारी के अनुसार हादसा राष्ट्रीय राजमार्ग 458 पर उस समय हुआ जब बोलेरो कैंपर सवार 10 सवारियां अपने गांव आगुंता से कालका माता मंदिर दर्शन कराकर लौट रही थी रास्ते में शेरानी आबाद के पास सामने से तेज गति से बाइक एवं बोलेरो कैंपर के बीच भीषण भिड़ंत हुई. इससे बाइक उछलकर दूर जाकर गिरी और उसकी टंकी फट गई. इससे उठी चिंगारी के बाद अचानक बाइक भभक गई. इसमे मोटरसाइकिल सवार दो जने तो वहीं जिंदा जल गए जबकि तीसरे युवक कैम्पर से नीचे गिरने से गंभीर घायल हो गया अस्पताल पहुंचाया लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया.

Horoscope Today, 29 July 2020: बुधवार को आज इन राशि वालों के भाग्य में होगी वृद्धि 

कैंपर चालक मौके से फरार:
कैंपर चालक मौका पाकर अपने वाहन और सवारियों को छोड़कर मौके से फरार हो गया. हादसे में सवारियों को भी हल्की चोटें आई हैं. जिसमें, एक साल का बच्चा भी है.  मौके से जसवंतपुरा निवासी एक व्यक्ति की आईडी मिली है. शेष की आईडी जल चुकी है. तीनों शवों को छोटी खाटू अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है. मृतकों की शिनाख्त सीताराम नाई निवासी भडाणा, मनोज निवासी जसवंतपुरा और सुशील कुमार निवासी गाजियाबाद के रूप में हुई है. वहीं आज पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द किया जाएगा.