Live News »

VIDEO: कुदरत ने दिए अच्छे मानसून के संकेत, चौमासे में भरपूर बरसेंगे मेघ

जयपुर: पुरानी कहावत है कि सच्ची खुशी, सुख के दिन और संपन्नता खेत खलियान से निकलती है. किसान खुश तो राज्य और राष्ट्र भी निश्चित तौर पर खुश रहेंगे.. और किसान खुश होता है अच्छे मानसून से. जी हां... कोरोना संकट से जूझते प्रदेश और देश के लिए शुभ सूचना है. टिटहरी ने अंडे दे दिए हैं और चाक से उतारे कुम्हार के चार कच्चे घड़े शुभ संकेत दे रहे हैं कि इस बार चौमासे में भरपूर मेघ बरसेंगे. 

आज से लॉकडाउन-3 की शुरुआत, कई रियायतों के साथ अलग-अलग में जोन में शुरू होगी ये गतिधिवियां 

इस बार बेहतर मानसून के संकेत मिल रहे:
पूरा विश्व वर्तमान में कोरोना के कहर के चलते लॉक डाउन में है. करीब 40 दिन से ज्यादा समय हुआ देश में लॉक डाउन को. सड़कें सूनी हैं, आवागमन बंद है. इंधन का बेजा दोहन हो या फिर कार्बन उत्सर्जन सभी एकदम से कंट्रोल में आ गए हैं. नतीजा... कुदरत दशकों बाद प्रदूषण से मुक्त दिखाई देती है. शायद यही कारण है कि सैकड़ों किलोमीटर दूर से हिमालय दिखाई देने लगा है, वन्यजीवों के क्षेत्र में कोई दखल नहीं है. रोजाना जो लाखों पेड़ काट लिए जाते थे वह सुरक्षित हैं, पहाड़ों का सीना छलनी नहीं किया जा रहा. प्रकृति को खुद को संतुलित करने के लिए शायद दशकों बाद बहुत बड़ा अवसर लॉक डाउन के रूप में मिला है. यही कारण है कि कुदरत ने लॉक डाउन में शुद्ध पर्यावरण के रूप में जो प्राप्त किया है वह अब उसे झोली भर कर इंसान को लौटाना भी चाहती है. दरअसल हमारा इशारा मानसून को लेकर है. जिस तरह से अप्रैल के अंत में और मई की शुरुआत में कई जिलों में हल्की बरसात देखने को मिली है उसे अच्छा संकेत माना जा रहा है. यही नहीं प्रकृति से मिले संकेतों के आधार पर प्राचीन काल से बरसात को लेकर जो अनुमान लगाया जाता है उसके हिसाब से भी इस बार बेहतर मानसून के संकेत मिल रहे हैं. टोंक निवाई तहसील के गांव चतुर्भुजपुरा में टिटहरी ने इस बार अंडे दिए हैं. 

टिटहरी यदि ऊंचाई पर अंडे दे तो बरसात उतनी ही अच्छी होगी:
प्राचीन काल से यह माना जाता रहा है कि टिटहरी अंडे दे तो अच्छे मानसून की संभावना बन जाती है. किवदंती इस तरह से भी है कि टिटहरी यदि ऊंचाई पर अंडे दे तो बरसात उतनी ही अच्छी होगी. कई जगह इस तरह की मान्यता है कि टिटहरी जितने अंडे देगी उतने महीने बरसात होगी. चतुर्भुजपुरा गांव के कजोड़ प्रजापति का कहना है कि टिटहरी ने मई की शुरुआत में अंडे दिए हैं इससे उम्मीद है कि चौमासा बेहतर बरसात लेकर आएगा. एक और मान्यता है कि कुम्हार अपने चाक से कच्चे घड़े उतारकर उन्हें चौमासे का नाम देकर उनमें पानी भरते हैं. इन चार कच्चे घड़ों के बीच में अग्नि प्रवाहित की जाती है. इन चारों घड़ों में से जितने भी घड़े 1 मिनट में टूटते हैं, इतने ही महीने अच्छी बरसात होती है. इन चारों घड़ों को आषाढ़, सावन, भादो और क्वार का नाम दिया जाता है. इस बार भीलवाड़ा जिले के कुम्हार परिवार ने चारों घड़ों से मानसून का आकलन किया. खुशी की बात यह है कि चारों ही घड़े 1 मिनट के अंदर टूट गए. इससे संकेत मिलते हैं कि इस बार चौमासे के चारों महीनों में जोरदार बरसात होगी.

बॉर्डर पर BSF जवान ने पहले की कमांडर की हत्या, फिर खुद को मारी गोली, हुई मौत 

इस बार लॉक डाउन के चलते प्रकृति को कम नुकसान हुआ:
आमतौर पर देश में चौमासे के दौरान ही मानसून सक्रिय रहता है. दक्षिण भारत से चलकर मानसून की उतरी रेखा पूरे देश में प्रभावी होती है, जिससे बरसात होती है. राजस्थान में आमतौर पर मानसून 18 से 24 जून के बीच दक्षिण राजस्थान के रास्ते प्रवेश करता है. इस बार लॉक डाउन के चलते प्रकृति को कम नुकसान हुआ है ऐसे में जो संकेत मिल रहे हैं उनसे उम्मीद है कि बरसात अच्छी होगी. किसानों के लिए भी इन्हें शुभ संकेत माना जा रहा है और सिर्फ किसान ही क्यों यदि प्रदेश में और देश में अच्छा मानसून होगा और अच्छी पैदावार होगी तो अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा. वैसे भी कोरोना संकट के चलते देश और प्रदेश भीषण आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है. ऐसे में खेत खलियानों से निकली खुशी आम जनता के लिए सुखद हो सकती है.  

और पढ़ें

Most Related Stories

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

जयपुर:त्यौहारों और शादी ब्याह का दौर आते-आते सोने और चांदी के भावों में भी उतार-चढ़ाव बढ़ने लग जाते है. प्रदेश में सोने के भावों में आज स्थिरता है. प्योर-गोल्ड(24K) पर एक ग्राम आज 5,162 रुपये और स्टैंडर्ड गोल्ड (22K) पर 4,916 रुपये है जिसमें किसी तरहा का कोई भी बदलाव नहीं आया है. 

बात करे राजधानी जयपुर की तो यहां सोने के भावों में 22 कैरेट के 100 ग्राम पर 4000 रुपये की  गिरावट आई है और 24 कैरेट के 100 ग्राम पर 4400 की कमी दर्जक की गई है. प्योर गोल्ड  की पिछले महीने अधिकतम कीमत 5,311 रुपये और न्यूनतम 5,072 रुपये रही थी. 

आपको बता दे कि एक किलो चांदी पर आज 10 की बढ़त देखी गई है जो की कल के रेट 62,410 रुपये से बढ़कर 62,420 हो गई है. गत माह चांदी के भाव में न्यूनतम कीमत 68,700 और अधिकतम रेट 57,000 रुपये दर्ज की गई थी. जिसमें 11.21 प्रतिशत की गिरावट आई है. 

{related}

राजस्थान सरकार और संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम के बीच MOU पर हस्ताक्षर, मिलेगी मजबूती

राजस्थान सरकार और संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम के बीच MOU पर हस्ताक्षर, मिलेगी मजबूती

जयपुर: मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में राजस्थान सरकार तथा संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम के बीच हुए एमओयू पर हस्ताक्षर हुए. ‘सतत् विकास के लक्ष्य-द्वितीय’ को प्राप्त करने की दिशा में हुए इस एमओयू में खाद्य विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन तथा विश्व खाद्य कार्यक्रम के भारत में निदेशक बिशो पराजुली ने हस्ताक्षर किए.

खाद्य सुरक्षा के कार्यक्रमों को मजबूती मिलेगी: 
विश्व खाद्य कार्यक्रम के साथ हुई इस साझेदारी से खाद्य सुरक्षा के कार्यक्रमों को मजबूती मिलेगी. सार्वजनिक वितरण प्रणाली, मध्याह्व भोजन योजना और एकीत बाल विकास सेवा के कार्यक्रमों को इस एमओयू के माध्यम से और बेहतर ढंग से लागू किया जा सकेगा. एमओयू कार्यक्रम में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई, अतिरिक्त मुख्य सचिव जनजाति क्षेत्र विकास राजेश्वर सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त  निरंजन आर्य सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. विश्व खाद्य कार्यक्रम के अन्य प्रतिनिधि भी वीसी के माध्यम से कार्यक्रम से जुडे़. 

{related}

विश्व खाद्य कार्यक्रम के साथ करीब 50 साल से सफल भागीदारी रही: 
इस मौके पर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि भारत की विश्व खाद्य कार्यक्रम के साथ करीब 50 साल से सफल भागीदारी रही है. विकासशील देशों में कुपोषण दूर करने तथा दुनिया की बड़ी आबादी को खाद्य सुरक्षा उपलब्ध कराने में विश्व खाद्य कार्यक्रम की बड़ी भूमिका रही है. राजस्थान कुपोषण दूर कर सतत् विकास के लक्ष्यहासिल करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है. हमारी खाद्य सुरक्षा योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन तथा सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की सराहना पूरे देश में होती है. मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपीए सरकार के समय देश के हर परिवार की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ‘फूड सिक्योरिटी एक्ट‘ लाकर लोगों को खाद्य सुरक्षा का अधिकार दिया गया. राज्य सरकार जनजाति क्षेत्रों सहित अन्य पिछडे़ इलाकों में बच्चों के पोषण के लिए प्रभावी कदम उठा रही है. 

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

जयपुर: त्योैहारी और शादी-ब्याह का दौर आते-आते सोने और चांदी के भाव में आए दिन उतार-चढ़ाव आते ही रहते है. आज राजस्थान में 22 कैरेट यानि स्टैंडर्ड सोने के एक ग्राम सोने का भाव 4,916 रुपये और प्योर यानि 24 कैरेट के एक ग्राम का भाव 5,162 है, जिसमें किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं आया है.

वहीं बात करें राजधानी जयपुर की तो यहां  आज एक किलो चांदी पर 10 रुपये का उछाल आया है. वहीं बात करें सोने के भाव की तो 22 कैरेट सोने की 100 ग्राम पर 4000 रुपये टूटे है और 24 कैरेट सोने की सोने के 100 ग्राम पर 4800 रुपये की कमी आई है. जिसमें नाममात्र का बदलाव आया है. 

आपको बता दे कि पिछले महीने एक किलो चांदी का भाव 68,700 था वहीं माह के आखिर में यह 61000 था. सितंबर माह में अधिकतम कीमत 69,500 थी तो न्यूनतम कीमत 57,000 रही थी. अगर सितंबर माह की बात करें तो भाव में 11.21 प्रतिशत की गिरावट आई थी.

सोने के भावों की बात की जाए तो गत माह सर्वाधिक कीमत 22 कैरेट सोने में 2.38 प्रतिशत की गिरावट आई थी और 24 कैरेट सोने पर 2.42 प्रतिशत की गिरावट आई थी. इस माह में 22 कैरेट में अधिकतम 50,450 रुपये और न्यूनतम 48,350 रही थी वहीं 24 कैरेट की न्यूनतम कीमत 52,740 रुपये और अधिकतम कीमत 55,030 रुपये रही थी. 

{related}

 

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का होगा विस्तार, सभी धर्मों के प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएंगे

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का होगा विस्तार, सभी धर्मों के प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएंगे

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का विस्तार करने के निर्देश दिए है. यह योजना 2013 में गहलोत सरकार ने ही शुरू की थी और उस समय एक ही साल में 41 हजार से अधिक वरिष्ठ नागरिकों के तीर्थयात्रा के सपने को पूरा किया गया था.

सभी धर्मों के अन्य प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएं:  
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वीसी के माध्यम से देवस्थान विभाग की समीक्षा बैठक करते हुए कहा कि कोविड के बाद की परिस्थितियों के अनुरूप देवस्थान विभाग अधिक से अधिक वरिष्ठजनों को लाभान्वित करने के उद्देश्य से इस योजना का विस्तार करे. इसमें सभी धर्मों के अन्य प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएं तथा इस बात का पूरा ध्यान रखा जाए कि यात्रा के दौरान वरिष्ठ नागरिकों को कोई तकलीफ न हो एवं उन्हें सभी आवश्यक सुविधाएं मिलें. 

{related}

देवस्थान विभाग जीर्णोद्धार का काम निर्धारित समयावधि में पूरा करे:
गहलोत ने कैलाश मानसरोवर-सिंधु दर्शन योजना सहित विभाग की अन्य योजनाओं को पुनर्गठित करने के भी निर्देश दिए. साथ ही कहा कि प्रदेश के जिन भी मंदिरों के जीर्णोद्धार तथा विकास के काम चल रहे हैं, उन्हें देवस्थान विभाग निर्धारित समयावधि में पूरा करे. गहलोत ने विभिन्न न्यायालयों में लम्बित विभाग से सम्बन्धित प्रकरणों को जल्द निस्तारित करवाने के निर्देश दिए है. 

धर्मशालाओं में बीपीएल कार्डधारकों के लिए निशुल्क ठहरने की सुविधा:
बैठक में देवस्थान विभाग के प्रमुख सचिव आलोक गुप्ता ने बताया कि विभाग की राज्य के बाहर बनी धर्मशालाओं में बीपीएल कार्डधारकों के लिए निशुल्क ठहरने की सुविधा प्रारंभ कर दी गई है. प्रदेश के करीब 80 मंदिरों में 86 करोड़ रूपए के विकास एवं जीर्णोद्धार कार्य प्रगति पर हैं, जिन्हें दिसम्बर 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा. बैठक में  देवस्थान राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे.

नागौरः कार और डंपर में भीषण भिड़ंत, 3 लोगों की मौके पर ही मौत

नागौरः कार और डंपर  में भीषण भिड़ंत, 3 लोगों की मौके पर ही मौत

नागौर: जिले से डीडवाना निकलने वाले रोड पर देर रात हुए एक भीषण सड़क हादसे में कार सवार तीन लोगों की दर्दनाक मौत हो गई. जबकि कार सवार एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया है. घायल का उपचार नागौर के जेएलएन अस्पताल में चल रहा है. जबकि मृतकों के शव रोल थाना पुलिस ने राजकीय जवाहरलाल नेहरू अस्पताल की मोर्चरी में रखवाए हैं. 

{related}

कार सवार तीन लोगों की मौके पर ही मौत: 
जानकारी के अनुसार, रोल और नागौर के बीच एक कार को एक डंपर ने टक्कर मार दी. यह हादसा इतना भीषण था कि कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई और कार सवार तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक अन्य घायल हो गया. पुलिस के अनुसार, हादसे में कार सवार वकील गौतम नायक, उसके दोस्त शागिर खान और लक्ष्मण माली की मौत हो गई. जबकि सत्यवीर गंभीर रूप से घायल हुए है जिसका उपचार चल रहा है. 

Bihar Assembly Elections: सियासी रण में अब आरक्षण का दांव, नीतीश कुमार ने कहा- आबादी के हिसाब से मिलना चाहिए रिजर्वेशन

Bihar Assembly Elections: सियासी रण में अब आरक्षण का दांव, नीतीश कुमार ने कहा- आबादी के हिसाब से मिलना चाहिए रिजर्वेशन

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान से पहले सीएम नीतीश कुमार ने आरक्षण का दांव खेला है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को वाल्मीकि नगर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए आरक्षण को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि आबादी के हिसाब से आरक्षण की हिमायत की है. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी हमेशा से यही राय रही है और वो इस पर कायम है कि जातियों को उनकी आबादी के हिसाब से ही आरक्षण मिलना चाहिए.

जनगणना हम लोगों के हाथ में नहीं: 
सीएम नीतीश कुमार ने आरक्षण जैसे गंभीर मुद्दे पर कहा कि जनगणना हम लोगों के हाथ में नहीं है. लेकिन हम चाहेंगे कि जितनी लोगों की आबादी है, उस हिसाब से लोगों को आरक्षण मिले. इसमें हमारी कोई दो राय नहीं है.

{related}

पार्टियां वोटों के लिए जी-तोड़ कोशिश कर रही: 
गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण का चुनाव 28 अक्टूबर को खत्म हो गया. दूसरे चरण का चुनाव तीन नवंबर को होना है जिसमें 17 जिलों की 94 सीटों पर चुनाव होंगे. इसी को लेकर पार्टियां वोटों के लिए जी-तोड़ कोशिश कर रही हैं. 

वाल्मीकि नगर में थारू जाति के काफी वोट:
बता दें कि असल में वाल्मीकि नगर में थारू जाति के काफी वोट हैं और ये जाति जनजाति में शुमार करने की मांग उठा रही है. इसी का समर्थन करते हुए नीतीश ने कहा कि थारू को आरक्षण का फायदा दिलाने के लिए वो सालों से कोशिश कर रहे हैं. तब से जब से वो अटल सरकार में रेल मंत्री थे. असल में यहां प्रचार करने के लिए पहुंचे नीतीश के सामने थारू जाति  ने पुरजोर तरीके से आरक्षण का मसला रखा था. 

IPL2020: गायकवाड की 72 और जडेजा की नाबाद 31 रनों की महत्वपूर्ण पारी के दम पर सीएसके ने केकेआर को 6 विकेट से हराया

IPL2020: गायकवाड की 72 और जडेजा की नाबाद 31 रनों की महत्वपूर्ण पारी के दम पर सीएसके ने केकेआर को 6 विकेट से हराया

दुबई: ऋतुराज गायकवाड 72 रनों की अर्धशतकीय और अंत में रवींद्र जडेजा की 11 गेंदों पर नाबाद 31 रनों की महत्वपूर्ण पारी की बदौलत चेन्नई सुपरकिंग्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को खेले गए मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स को 6 विकेट से हराया. कोलकाता नाइट राइडर्स से मिले 173 रनों के लक्ष्य का पिछा करते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स ने लास्ट ओवर की आखरी गेंल पर जीत अपने नाम की. इससे पहले कोलकाता ने नितीश राणा की 87 रनों की पारी की बदौलत सीएस के के सामने 173 रनों का लक्ष्य रखा था.

{related}

केकेआर के नितीश राणा ने खेली 87 रनों की पारीः
इससे पहले टॉस हारकर सीएसके से मिले पहले बल्लेबाजी के आमंत्रण के बाद मैदान में उतरे केकेआर के सलामी बल्लेबाज नितीश राणा के 61 गेंदों पर 87 रनों की पारी की बदौलत सीएसके को 173 रनों का लक्ष्य दिया. राणा ने 87 रनों की अपनी पारी में 10 चौके और चार छक्के लगाए. सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (26) और दिनेश कार्तिक (नाबाद 21) ने भी उपयोगी पारियां खेली. नाइट राइडर्स ने टीम ने अंतिम छह ओवरों में बेहतर बल्लेबाजी करते हुए 75 रन जोड़े.

टॉस जीतकर सुपरकिंग्स के कप्तान धोनी ने लिया गेंदबाजी का फैसलाः
सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद शुभमन गिल (26) और राणा की जोड़ी ने टीम को उम्दा शुरुआत दिलाई. गिल ने दीपक चाहर की मैच की पहली दो गेंदों पर चौके के साथ शुरुआत की जबकि राणा ने भी इसी ओवर में चौके से खाता खोला. गिल ने सैम कुरेन पर भी चौका जड़ा.

केकेआर टीम ने पावर प्ले में बिना विकेट खोए बनाएं 48 रनः 
राणा ने धीमी शुरुआत के बाद लुंगी एनगिडी का स्वागत चौके के साथ किया और फिर मिशेल सेंटनर की लगातार गेंदों पर दो चौके और एक छक्का मारा. टीम ने पावर प्ले में बिना विकेट खोए 48 रन बनाए. गिल और राणा ने नाइट राइडर्स के लिए मौजूद सत्र की पहले विकेट की पहली अर्धशतकीय साझेदारी पूरी की. धोनी ने इसके बाद गेंद कर्ण शर्मा को थमाई और इस लेग स्पिनर ने अपनी दूसरी ही गेंद पर गिल को बोल्ड कर दिया. गिल ने 17 गेंद का सामना करते हुए चार चौके मारे. सुनील नारायण (07) ने कर्ण पर छक्के से खाता खोला लेकिन सेंटनर ने अगले ओवर में इसी शॉट को दोहराने की कोशिश में बाउंड्री पर रविंद्र जडेजा को कैच दे बैठे.
सोर्स भाषा

जम्मू कश्मीरः आतंकवादियों ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर की हत्या

जम्मू कश्मीरः आतंकवादियों ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर की हत्या

श्रीनगरः जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में गुरुवार को आतंकवादियों ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस ने यह जानकारी दी. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुरुवार  देर शाम कुलगाम जिले के वाई के पोरा इलाके में फिदा हुसैन, उमर हाजम एवं उमर राशीद बेग की आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी.

{related}

टीआरएफ ने ली हत्याओं की जिम्मेदारीः
पुलिस अधिकारी ने बताया कि बताया कि पीड़ितों को काजीगुंड के एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. लश्कर-ए-तैयबा के मुखौटा संगठन माने जाने वाले ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) ने इन हत्याओं की जिम्मेदारी ली है. सोशल मीडिया अकाउंट पर डाले संदेश में टीआरएफ ने कहा कि ‘‘कब्रिस्तान भर जायेंगे.
सोर्स भाषा