चंडीगढ़ नवजोत सिंह सिद्धू और पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से करतारपुर गलियारा पुन: खोलने का किया आग्रह

नवजोत सिंह सिद्धू और पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से करतारपुर गलियारा पुन: खोलने का किया आग्रह

नवजोत सिंह सिद्धू और पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से करतारपुर गलियारा पुन: खोलने का किया आग्रह

चंडीगढ़: कांग्रेस की पंजाब के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को केंद्र से अनुरोध किया कि 19 नवंबर को गुरपरब से पहले श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर गलियारा फिर से खोला जाए. करतारपुर गलियारा पाकिस्तान में गुरुद्वारा दरबार साहिब को गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक से जोड़ता है. गुरू नानक देव की जयंती के मौके पर मनाया जाने वाला गुरपरब इस वर्ष 19 नवंबर को है.

कोविड-19 के प्रकोप के कारण करतारपुर साहिब गुरुद्वारे तक तीर्थयात्रा मार्च 2020 में निलंबित कर दी गई थी. सिद्धू ने मंगलवार को ट्विटर पर भारत सरकार से करतारपुर गलियारा खोलने और इसी दिन तीन विवादित केंद्रीय कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की. उन्होंने कहा कि मैं भारत सरकार से अनुरोध करता हूं कि करतारपुर गलियारे को फिर से खोला जाए और श्री गुरू नानक के गुरपरब पर तीन कृषि कानूनों को निरस्त किया जाए. यह गुरू के शांति, सद्भाव और भाइचारे के संदेश को दर्शाने और दोहराने का दिन है. सिद्धू एक दिन पहले गुरदासपुर स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा गए थे और उन्होंने करतारपुर गलियारा पुन: खोले जाने के लिए प्रार्थना की. पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से करतारपुर गलियारा फिर से खोलने का अनुरोध किया है.

उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से अनुरोध करता हूं कि 19 नवंबर को गुरू नानक देव जी की जयंती से पहले करतारपुर कॉरिडोर को खोल दिया जाए ताकि लोग इस पवित्र मौके पर इस पावन स्थल पर मत्था टेक सकें. पंजाब के भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने भी 14 नवंबर को दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की थी और गुरपरब से पहले करतारपुर गलियारे को फिर से खोलने का अनुरोध किया था. सोर्स- भाषा

और पढ़ें