नई दिल्ली विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन बोले, युवा पीढ़ी को बहुमूल्य मानव पूंजी बनाने की दिशा में अच्छा कदम है New Education Policy

विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन बोले, युवा पीढ़ी को बहुमूल्य मानव पूंजी बनाने की दिशा में अच्छा कदम है New Education Policy

विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन बोले, युवा पीढ़ी को बहुमूल्य मानव पूंजी बनाने की दिशा में अच्छा कदम है New Education Policy

नई दिल्लीः विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने हाल ही में कहा है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारत की युवा पीढ़ी को बहुमूल्य मानव पूंजी के तौर पर तैयार करने की दिशा में सही कदम है. भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के स्थानीय केन्द्र के उद्घाटन समारोह में अपने संबोधन में मुरलीधरन ने कहा है कि भारत द्वारा विदेशी छात्रों को दिये जाने वाले अध्ययन से जुड़े अनुभव बेमिसाल हैं. 

विदेशी छात्रों को भारत में पढ़ाई के लिए कर रहें हैं आमंत्रित

उन्होंने कहा है कि हम अधिक से अधिक विदेशी छात्रों को भारत में पढ़ाई के लिए आमंत्रित करते हैं. जब वे यहां आते हैं तो हम उनके साथ अपने परिवार के सदस्यों की तरह व्यवहार करते हैं. इसके बदले वे अपने साथ भारत की कुछ यादें लेकर जाते हैं. 

भारतीय दृष्टिकोण विकसित करने पर दिया गया जोर

उन्होंने कहा है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 युवा पीढ़ी को दुनिया की बहुमूल्य मानव पूंजी के रूप में तैयार करने की दिशा में एक अच्छा कदम है. उन्होंने कहा है कि इस नीति में उच्च शिक्षा के अंतर्राष्ट्रीयकरण के लिए भारतीय दृष्टिकोण विकसित करने पर जोर दिया गया है. 

और पढ़ें