VIDEO: राजधानी जयपुर में बनेगी नई पीसीसी, नये भवन की तलाश में जुटी प्रदेश कांग्रेस

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/08/24 07:23

जयपुर: गहलोत सरकार में राजस्थान की प्रदेश कांग्रेस कमेटी को नया भवन मिल सकता है. नये प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय को लेकर तलाश शुरु हो चुकी है. पीसीसी का भवन छोटा होने के साथ ही बेहद व्यस्त सड़क मार्ग पर स्थित है. लंबे अर्से से नये और बड़े प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय की जरुरत महसूस की जा रही है. वहीं कहा जा रहा है कि नया पीसीसी का भवन अस्पताल रोड़ अथवा गांधी नगर में स्थापित हो सकता है. खास रिपोर्ट 

फिर से कवायद शुरु:
कई साल बीत गये हैं, रोजाना जरुरत दर जरुरत महसूस की जा रही है. इसके बावजूद पीसीसी को नया भवन नहीं मिल पा रहा है. अब फिर से कवायद शुरु हुई है. पीसीसी चीफ और डिप्टी सीएम सचिन पायलट नये भवन का खाका बनाने में जुटे है. वे खुद भी पीडब्लूडी महकमे के मंत्री है, लिहाजा नया भवन मिलने में कठिनाई नहीं होगी. कहा जा रहा है कि इस बारे में उनकी चिकित्सा और स्वास्थय मंत्री डॉ रघु शर्मा के साथ विचार विमर्श हुआ और प्रमुख पदाधिकारियों से भी चर्चा हुई. पीसीसी के संगठन महासचिव महेश शर्मा कहते हैं कि प्रदेश कांग्रेस को नये भवन की आवश्यकता है, इस बारे में सोच विचार जारी है. 

मौजूदा भवन छोटा:
राजस्थान की कांग्रेस कमेटी कमेटी का मौजूदा भवन छोटा पड़ने लगा है. पदाधिकारियों और अग्रिम इकाइयों के सदस्यों के समुचित बैठने का हमेशा अभाव रहता है. बड़ा स्पेस नहीं होने के कारण कोई बड़ी बैठक भी यहां नहीं की जा सकती है. बड़ी बैठक होते ही यहां गहमागहमी का वातावरण बन जाता है. पार्किंग समस्या भी बड़ी परेशानी है. जिसका निदान आज तक नहीं हो पाया है. कांग्रेस का मौजूदा मुख्यालय पार्टी की निजी संपत्ति है. राष्ट्रीय दल के नाते कांग्रेस को सरकारी भवन मिल सकता है. राजधानी जयपुर में पीसीसी का भवन संकरा और समुचित जगह की कमी का सामना कर रहा है. वहीं बीजेपी का भवन भव्य और आकर्षक है. दोनों के बीच आपको बताते है अंतर. 

कांग्रेस-भाजपा के प्रदेश मुख्यालयों के बीच अंतर:
—प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय संसार चंद्र रोड़ पर संकरी गली में स्थित 
—पीसीसी का मौजूदा भवन कांग्रेस को दान स्वरुप मिला था
—मौजूदा कांग्रेस भवन को तकरीबन 60साल हो गये है
—पीसीसी के भवन में हमेशा स्पेस का अभाव रहा है 
—पीसीसी के भवन में संख्या बल अधिक होते ही समस्या खड़ी हो जाती है
—बीजेपी का प्रदेश मुख्यालय सेंट्रल लोकेशन पर स्थित 
—बीजेपी मुख्यालय काफी बड़ा और गार्डन सुविधाओं से सुसज्जित है
—इसी भवन में पार्टी के अग्रिम मोर्चेो के भी आधुनिकतम कार्यालय है
—पार्किंग की भी बीजेपी कार्यालय में समुचित व्यवस्था है
—कभी यह स्व. भैरों सिंह शेखावत का निवास स्थान रहा है इसके बाद बीजेपी का मुख्यालय बना
—यह भवन सरकारी विभाग के अधीन है और पीडब्लूडी यहां निर्माण कार्यक्रमों में सहभागी की भूमिका निभाती है
—पीसीसी की तुलना में बीजेपी का भवन सुंदर और भव्य नजर आता है
—बीजेपी मुख्यालय के अंदर आधुनिक मीडिया कक्ष, सभागार, बैठकों के लिये अगल से कक्ष
—वॉर रुम, अध्यक्ष का आधुनिक कक्ष, संगठन महामंत्री और केन्द्रीय नेताओं के रुकने के लिये सुपर डीलक्स कक्ष
—नेताओं के भोजन के लिये रसोई भी बनी हुई है,शौचालय समेत कई सुविधाएं है
—पीसीसी में जरुरी सुविधाजनक कक्षों का अभाव है 
—प्रेसवार्ता के लिये आधुनिकतम कक्ष है लेकिन उसमें भी जगह का अभाव रहता है

राजस्थान के सत्ताधारी दल के नाते कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को उम्मीद है कि पार्टी को नया और विशाल भवन मिलना चाहिये. जिससे पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को कई मूलभूत सुविधाओं समस्याओं से निजात मिल सके. नये भवन के लिये कांग्रेस पदाधिकारियों के पास क्या प्रपोजल है. बताते है.

कैसे बनेगा पीसीसी का न्यारा भवन:
—अस्पताल रोड़ पर दो या तीन सरकारी बंगलो को एक करके विशाल कार्यालय भवन बनाया जा सकता है वो भी आधुनिकतम पार्किंग के साथ
—गांधीनगर में भी दो या तीन सरकारी बंगलो को मिलाकर आधुनिकतम मुख्यालय बनाया जा सकता है
—डॉ चंद्रभान जब पीसीसी चीफ थे तब उन्होंने नये भवन को लेकर पहल की थी लेकिन गाड़ी आगे नहीं बढ़ पाई
—सचिन पायलट पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष होने के साथ ही पीडब्लूडी महकमे के मंत्री भी है लिहाजा उनकी ओर से नई पहल सामने आ सकती है

राजस्थान की बीजेपी जब भी सत्ता में आई अपने पार्टी के मुख्यालय को आधुनिकतम बनाने पर फोकस किया. जिला इकाइयों को नये और खुदके भवन बनाने की दिशा में बड़ा काम किया गया, लेकिन राजस्थान में सर्वाधिक शासन में रहने के बावजूद कांग्रेस अपने लिये एक अदद भव्य भवन बनाने का सपना पूरा नहीं कर पाई. पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने जरुर अध्यक्ष बनने के बाद अध्यक्षीय कक्ष को नया रुप दिया था. गहलोत राज में प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय को अगर नया भवन मिलता है तो यहा बड़ा सियासी घटनाक्रम होगा. यही वही भवन है, जहां बतौर पीसीसी चीफ अशोक गहलोत भी अपने सेवाएं दे चुके हैं. उन्हें संसार चंद्र रोड़ स्थित पुराना कांग्रेस कार्यालय प्रिय है, लेकिन नये दौर में नये भवन की सोच परवान चढने लगी है. 

... संवाददाता योेगेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in