फिल्म शूटिंग के लिए राज्य सरकार की नई व्यवस्था, अब करना होगा 20 दिन पहले आवेदन

फिल्म शूटिंग के लिए राज्य सरकार की नई व्यवस्था, अब करना होगा 20 दिन पहले आवेदन

फिल्म शूटिंग के लिए राज्य सरकार की नई व्यवस्था, अब करना होगा 20 दिन पहले आवेदन

जैसलमेर: सीमावर्ती जिले जैसलमेर में फिल्म शूटिंग के लिए अब जैसलमेर कलेक्ट्रेट में 20 दिन पहले आवेदन करना होगा. जिसके बाद कलेक्ट्रेट की ओर से 15 दिन पहले शूटिंग की अनुमति के लिए राज्य सरकार को प्रस्ताव भिजवाया जाएगा. पूर्व में कई बार फिल्म शूटिंग के लिए समय पर इजाजत नहीं मिलने के कारण फिल्मकारों को परेशानियां आती रही है. यह विषय सरकार तक पहुंचने के बाद गृह विभाग की ओर से इस संबंध में दिशानिर्देश बनाए गए हैं. जिसकी पालना में जिला कलेक्टर ने जैसलमेर में फिल्म एंड शूटिंग कंपनियों के स्थानीय प्रतिनिधियों को पत्र लिखकर दिशा निर्देश जारी किए हैं. प्रशासन का कहना है कि फिल्म कंपनियों की ओर से समय पर आवेदन नहीं किए जाने के कारण राज्य सरकार 15 दिन पहले शूटिंग की अनुमति के लिए प्रस्ताव नहीं भिजवाए जाने के कारण समय पर अनुमति जारी नहीं हो पाती है. 

Delhi Violence: भाजपा सांसद गौतम गंभीर का बड़ा बयान, कहा- कपिल मिश्रा पर होनी चाहिए सख्त कार्रवाई 

शूटिंग के लिए निर्धारित प्रारूप के आवेदन करना होगा:
शूटिंग के लिए निर्धारित प्रारूप के आवेदन करना होगा. जिसमें फिल्म का शीर्षक इस में भाग लेने वाले कलाकारों की सूची स्थानीय प्रतिनिधि के नाम का मनोनयन पत्र फिल्मांकन किए जाने वाले दृश्यों की फोटोग्राफी, शूटिंग व कहानी का संक्षिप्त विवरण शपथ पत्र के साथ जिला कलेक्ट्रेट में पेश करना होगा. इसके अलावा जिन स्थानों पर शूटिंग की जानी हो उन स्थानों के क्षेत्राधिकार वाले समक्ष अधिकारी से कंपनियों के प्रतिनिधियों को अलग से समय पूर्ण बायोडाटा सहित विवरण दस्तावेज पुलिस तथा सीआईडी को उपलब्ध करवाना होगा. उन्हें भारतीय नागरिकों के लिए अधिसूचित थाना के प्रवेश अनुमति सक्षम प्राधिकारी से समाधि में हासिल करनी होगी. वहीं विदेशी नागरिकों के लिए शूटिंग में भाग लेने के लिए उनके पासपोर्ट, वीजा की वैद्य प्रतिलिपि सहित निर्धारित आवेदन पत्र के प्रारूप में कलेक्ट्रेट में आवेदन पेश करना होगा.  

Nirbhaya Case: दोषियों को अलग-अलग फांसी देने की केंद्र की याचिका पर 5 मार्च को होगी सुनवाई 

ताकि ना हो विवाद की स्थिति .... 
जैसलमेर जिले में ऐतिहासिक स्थलों और रेगिस्तानी क्षेत्रों में विगत दशकों के दौरान फिल्मों,एल्बम, सॉन्ग और एड आदि की शूटिंग होती रही है. सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण यह शूटिंग के लिए सरकारी इजाजत मिलने में कहीं बाहर पेच पर जाते हैं. गत वर्षो के दौरान अजय देवगन और इमरान हाशमी अभिनीत की बादशाहो फिल्म की तनोट मार्ग पर शूटिंग को लेकर इशू खड़ा हो गया था बाद में यह मामला उच्च अधिकारियों के दखल के बाद सरकार के स्तर पर सुलझा. ऐसे ही कई बार फिल्मकार की अनुमति वाले क्षेत्रों के अलावा दूसरी जगह पर भी शूटिंग करने लगते हैं. फिल्म कंपनियों के स्थानीय प्रतिनिधि पूर्व में यह शिकायत करते थे कि उन्हें जैसलमेर में शूटिंग के लिए अलग-अलग विभागों से एनओसी लेनी पड़ती है. अब राज्य का ग्रह और पर्यटन विभाग अनुमति जारी करते हैं कई फिल्मों की शूटिंग करवाने वाले  जैसलमेर जिले में शूटिंग के लिए समय पर आवेदन करने पर इजाजत मिलने में कोई दिक्कत नहीं आती. 

और पढ़ें