पंजाब में कोविड जीनोम अनुक्रमण की नयी प्रयोगशाला पटियाला में हुई स्थापित, अब तक नहीं मिला वायरस का कोई नया स्वरूप

पंजाब में कोविड जीनोम अनुक्रमण की नयी प्रयोगशाला पटियाला में हुई स्थापित, अब तक नहीं मिला वायरस का कोई नया स्वरूप

पंजाब में कोविड जीनोम अनुक्रमण की नयी प्रयोगशाला पटियाला में हुई स्थापित, अब तक नहीं मिला वायरस का कोई नया स्वरूप

चंडीगढ़: पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने गुरुवार को कहा कि पटियाला में नव स्थापित कोविड-19 जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशाला में परीक्षण किए गए करीब 150 नमूनों में कोरोना वायरस के किसी नए स्वरूप का पता नहीं चला है. उन्होंने यहां जारी एक बयान में कहा कि इससे पहले नमूने राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र, दिल्ली भेजे जाते थे और वहां से परिणाम आने में एक महीने से अधिक समय लग जाता था.

सिद्धू ने कहा कि विशेषज्ञों का कहना है कि यदि किसी विशिष्ट क्षेत्र में वायरस का कोई नया स्वरूप मिलता है, तो वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सभी संदिग्ध रोगियों के संपर्क का पता लगाने और जांच करने की तत्काल जरूरत है. उन्होंने कहा कि अब पटियाला के राजकीय मेडिकल कॉलेज अस्पताल में राज्य की पहली जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशाला स्थापित हो जाने से पांच से छह दिनों में रिपोर्ट उपलब्ध होगी. उन्होंने कहा कि जीनोम अनुक्रमण के लिए उपकरण अमेरिकी गैर-लाभकारी संगठन पीएटीएच द्वारा दान में दिए गए हैं. सोर्स- भाषा

और पढ़ें