Research Study: कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ कारगर रहा नया दवाओं का मिश्रण

Research Study: कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ कारगर रहा नया दवाओं का मिश्रण

Research Study: कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ कारगर रहा नया दवाओं का  मिश्रण

लंदन: जानवरों और कोशिकाओं पर किए गए अध्ययन के मुताबिक दवाओं का एक नया संयोजन सार्स-सीओवी-2 के कारण होने वाले संक्रमण को रोक सकता है. रुआती जांच परिणामों में पाया गया कि एंटीवायरल दवाओं नेफामोस्टैट और पेगासिस का संयुक्त उपयोग कारगर होने के संबंध में सभी जरूरतों को पूरा करता है. नार्वे के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (NTNU) के प्रोफेसर डेनिस कैनोव ने कहा कि  संयोजन प्रभावी रूप से संक्रमण को दबा देता है. नुसंधानकर्ताओं ने कहा कि प्रयोग कोशिका कल्चर और हेमस्टर (चूहा जैसा जानवर) पर किया गया. 

उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि संयोजन मनुष्यों में भी काम करेगा, लेकिन उन अनुसंधानकर्ताओं के लिए एक संकेत हो सकता है जो कोविड-19 के खिलाफ नेफेमोस्टेट (खून को पतला करने वाले रसायनिक पदार्थ) के प्रभाव का विश्लेषण कर रहे हैं. अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार नेफेमोस्टेट पहले से ही कोविड-19 के खिलाफ एक मोनोथेरेपी (एक दवा से उपचार) के रूप में उपयोग में है और अन्य स्थानों के अलावा जापान में इसकी व्यापक जांच की जा रही है. 

पेगासिस का उपयोग वर्तमान में मुख्य रूप से हेपेटाइटिस सी के इलाज के लिए किया जाता है. उन्होंने कहा कि दोनों के संयोजन से सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. नटीएनयू के प्रोफेसर मगनार जोरास ने कहा कि दवा हमारी कोशिकाएं टीएमपीआरएसएस2 में मौजूद एक अंश पर हमला करता है जो विषाणुओं की प्रतिकृति को रोकता है. अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि संयोजन दवाओं की कम खुराक की ही जरूरत पड़ेगी. यह अध्ययन ‘वायरसेस’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है. सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें