SMS मेडिकल कॉलेज में 'प्रशासन' की नई टीम !

Vikas Sharma Published Date 2019/03/18 08:51

जयपुर। एसएमएस समेत प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में "प्रशासन" की नई टीम नजर आएगी। दरअसल,कॉलेजों में विभागाध्यक्ष पद पर दो साल के रोटेशन नियम के चलते मेडिकल कॉलेजों में बड़े स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल किया गया है। अकेले एसएमएस मेडिकल कॉलेज की बात की जाए तो यहां तीन अस्पतालों में नए अधीक्षक लगाए गए है, जबकि दो दर्जन से अधिक विभागों को बतौर "एचओडी" नया मुखिया मिला है। आखिर क्यों किया गया है बदलाव और किसे मिली है बड़ी जिम्मेदारी। 

प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में पहले वरिष्ठता के आधार पर विभागों में मुखिया लगाए जाते थे, लेकिन दो साल पहले कोर्ट के आदेश की पालना में दो साल का रोटेशन नियम लागू किया गया। इस नियम के तहत वरिष्ठता के आधार पर विभागों में एचओडी लगाने को हरी झण्डी दी गई, लेकिन साथ में यह शर्त भी लगा दी कि एक व्यक्ति को दो साल के लिए ही यह जिम्मेदारी दी जाए। इसके बाद दूसरे वरिष्ठ साथी को एचओडी बनाया जाए। इसके साथ ही राज्य सरकार ने डॉक्टर्स की कमी का हवाला देते हुए पिछले दिनों मेडिकल टीचर्स का सेवाकाल 62 से बढ़ाकर 65 किया है,लेकिन इसमें भी यह शर्त लगाई है कि 62 साल के बाद प्रशासनिक पदों पर मेडिकल टीचर्स नहीं लगेंगे। इन दोनों नियमों के चलते बदलाव की बयार का सीधा असर मार्च माह में एकसाथ सभी मेडिकल कॉलेजों में देखने को मिला है। आईए आपको बताते है कि एसएमएस में बदलाव के बाद किसे मिली एचओडी की जिम्मेदारी..... 

एसएमएस में ये बने विभागों के मुखिया
मेडिसिन : डॉ रमन शर्मा
गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी : डॉ एसएस शर्मा 
कॉर्डियोलॉजी : डॉ एसएम शर्मा 
फिजियोलॉजी : डॉ त्योत्सना शुक्ला 
बायोकेमेस्ट्री : डॉ संध्या मिश्रा 
फोरेंसिक मेडिसन : डॉ डी के शर्मा 
न्यूरोसर्जरी : डॉ डी के पुरोहित  
ऑथोपेडिक : डॉ नरेन्द्र जोशी 
पीडियाट्रिक : डॉ जेएन शर्मा 
रेडियोडायग्नोसिस : डॉ मीनू बरगट्टा 
रेडियोथेरेपी : डॉ संदीप जैन 
यूरोलॉजी : डॉ एसएस यादव 
माइक्रोबाइलॉजी : डॉ भारती मल्होत्रा 
एनोटॉमी : डॉ चन्द्रकांता अग्रवाल 
फार्माक्लोजी : डॉ मोनिका जैन 
पैथोलॉजी : डॉ रंजना सोलंकी 
ब्लड बैंक : डॉ सुनीता बुंदास 
पीएसएम : डॉ कृष्णा कुमार 
न्यूरोलॉजी : डॉ आरएस जैन 
आरआरसी : डॉ सुनील गोयनका
सर्जरी : डॉ लक्ष्मण अग्रवाल 
ऑप्थेमोलॉजी : डॉ एम के झारवाल 
ईएनटी : डॉ एसके समधानी 
चेस्ट एण्ड टीबी : डॉ सुरेश कुलवाल 
एनेस्थिसिया : डॉ फरीद अहमद 
गायनिक : डॉ केपी बनर्जी

आमतौर पर कई बार देखा गया है कि एचओडी पद पर नियुक्ति को लेकर विरोध के स्वर उठने है, लेकिन एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ सुधीर भण्डारी ने पूरी प्रक्रिया को पादर्शिता के साथ पूरा किया। कुछ ऐसे चिकित्सक भी रहे, जो वरिष्ठता के आधार पर एचओडी बनते, लेकिन उनके पास अटैच अस्पताल में अधीक्षक पद की जिम्मेदारी भी है। ऐसे सभी चिकित्सकों को पहले ऑप्शन दिया गया, जिसके बाद ही प्राचार्य डॉ भण्डारी ने नए एचओडी की सूची जारी की। ये चिकित्सक रहे, जिन्होंने ऑप्शन पर छोड़ा एक पद...ऐसे में तीन अस्पतालों को नए अधीक्षक मिले। 

डॉ अशोक गुप्ता : पीडियाट्रिक एचओडी का पद छोड़ा, अब बने रहेंगे जेके लोन अस्पताल अधीक्षक 
डॉ अजय माथुर : मेडिसिन एचओडी का पद छोड़ा, अब बने रहेंगे गणगौरी अस्पताल अधीक्षक 
डॉ आर के सोलंकी : मनोरोग एचओडी पद के लिए मनोरोग चिकित्सालय अधीक्षक पद छोड़ा...डॉ संजय जैन को बनाया गया मनोरोग चिकित्सालय अधीक्षक 
डॉ आर के जैनव : टीबी एण्ड चेस्ट विभाग के एचओडी पद के लिए छोड़ा अधीक्षक पद....टीबी हॉस्पिटल अधीक्षक बने डॉ विनोद जोशी 
डॉ मंजू शर्मा के 62 साल पूरे होने के चलते महिला अस्पताल अधीक्षक पद की जिम्मेदारी डॉ आशा वर्मा को सौंपी गई है। 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in