Live News »

भरतपुर: नवविवाहित जोड़े ने फांसी लगाकर की जीवन लीला समाप्त, 27 फरवरी को हुई थी शादी

भरतपुर: नवविवाहित जोड़े ने फांसी लगाकर की जीवन लीला समाप्त, 27 फरवरी  को हुई थी शादी

भरतपुर: जिले के डीग तहसील के गांव खेड़ा ब्राह्मण में एक नवविवाहित जोड़े ने फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली. नवविवाहित जोड़े की शादी गत 27 फरवरी  को ही हुई थी. मृतक उपेंद्र के पिता ने बताया कि दोनों पति पत्नी रात को खाना खाकर सोए थे लेकिन सुबह 9 बजे तक दोनों नहीं जागे तो दरवाजा खटखटाया और उन्होंने तब भी दरवाजा नहीं खोला तो वह खिड़की में से झांक कर देखा तो नव विवाहित जोड़ा फांसी से लटका हुआ था. 

कोरोना वायरस: भीलवाड़ा शहर के बाजार पूरी तरह से सीज, बाहर निकलने वाले व्‍यक्तियों पर होगी सख्‍त कार्यवाही 

पर सैकड़ों की तादाद में ग्रामीण इकट्ठे हो गए: 
परिवार जनों ने ग्रामीण को सूचना दी तो मौके पर सैकड़ों की तादाद में ग्रामीण इकट्ठे हो गए और पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों शवों को फांसी के फंदे से नीचे उतारा और अस्पताल कि सीएससी में रखवाया जहां पर दोनों शवों का मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम कराया गया. नव दंपति द्वारा आत्महत्या करने के कारणों का अभी खुलासा नहीं हो पाया है और थाना पुलिस पूरे मामले की गहनता से जांच कर रही है. 

अपनी जिम्मेदारी समझे, राजस्थान में तत्काल लागू करें जनता कर्फ्यू! अगले 72 घंटे काफी क्रिटिकल 

और पढ़ें

Most Related Stories

नकली मावा बनाने वाले कारखाने का भंडाफोड़, 40 से 50 ड्रमों में भरा हुआ मावा किया नष्ट

नकली मावा बनाने वाले कारखाने का भंडाफोड़, 40 से 50 ड्रमों में भरा हुआ मावा किया नष्ट

भरतपुर: मिलावटखोरी पर अंकुश लगाने के लिए भरतपुर में जिला प्रशासन द्वारा शुरू किए गए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत आज एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए नकली मावा बनाने वाले कारखाने का भंडाफोड़ किया है. एसडीएम संजय गोयल की अगुवाई में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ऊंचा नगला स्थित कारखाने में जब छापामार कार्रवाई को अंजाम दिया तो वहां के हालात देख अधिकारी आश्चर्यचकित हो गए. कारखाने में लगभग 40 से 50 प्लास्टिक के ड्रम में मावा बनाने का पदार्थ भरा हुआ था साथ ही बड़े पैमाने पर छेना के रसगुल्ले बनाए जा रहे थे. 

नमूने लिए और जांच कराई तो सभी रिपोर्ट नेगेटिव:
मावा बनाने के लिए प्लास्टिक के बड़े ड्रम में भरा पदार्थ पत्थर की माफिक जमा हुआ था और बताया गया कि इसी पदार्थ से मावा बनाकर बाजार में बिक्री के लिए भेजा जाता था. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इस पदार्थ के नमूने लिए और जांच कराई तो सभी रिपोर्ट नेगेटिव आई. बाद में एसडीएम संजय गोयल ने ड्रमो में भरे इस पदार्थ को नष्ट करा दिया. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आज अटलबंध मंडी में कंसल डेयरी पर जब कार्रवाई की तो वहां लगभग 1 हजार किलो मावा रखा मिला. 

{related}

जहरीली मिठाइयां आकर्षक पैकिंग में घर-घर होती हैं सप्लाई: 
अधिकारियों ने जब डेयरी मालिक से पूछा इतनी बड़ी संख्या में मावा कहां से आया तो उसका जवाब था कि वे अपनी फैक्ट्री में इसका निर्माण करते हैं. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी डेयरी मालिक को लेकर ऊंचा नगला स्थित मावा बनाने के कारखाने पहुंचे तो वहां के हालात देखकर दंग रह गए. कार्रवाई के दौरान पुलिस का भारी जाब्ता भी इस दौरान मौजूद रहा. जिला प्रशासन की इस कार्रवाई से बड़े पैमाने पर नकली मावा बाजार में आने से बच गया क्योंकि दीपावली के मौके पर इसी मावे से बनी जहरीली मिठाइयां आकर्षक पैकिंग में घर घर सप्लाई होती. बताया गया कि ऊंचा नगला में बनने वाला यह नकली मावा भरतपुर शहर के अलावा जिले के ग्रामीण इलाकों में भी सप्लाई होता था. जिला प्रशासन के शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को लेकर मिलावटखोरों में जोरदार हड़कंप भी इनदिनों मचा हुआ है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए दीपक लवानिया की रिपोर्ट

भरतपुरः एसीबी ने पटवारी को तीन हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार

भरतपुरः एसीबी ने पटवारी को तीन हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार

भरतपुरः जिले के रूपवास में बुधवार को एसीबी की टीम ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए एक पटवारी को तीन हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. पटवारी ने दाखिला खारिज का इंद्राज करने व नकल देने की एवज में परिवादी से रिश्वत की मांंग की थी.

जानकारी के अनुसार सिरसौंदा गांव निवासी परिवादी मनोज ने एसीबी में शिकायत की थी कि तहसील परिसर में कार्यरत पटवारी नरेंद्र जाटव दाखिला खारिज का इंद्राज करने व नकल देने की एवज में रिश्वत की मांंग कर रहा है. मामले की सूचना के बाद एसीबी की टीम ने मामले का सत्यापन के बाद पटवारी को ट्रेप करने की कार्रवाई को अंजाम दिया. टीम ने एएसपी महेश मीणा के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए पटवारी नरेंद्र जाटव को 3 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

{related}

सिरोही में एसीबी टीम ने की थी कार्रवाईः
उल्लेखनीय है कि इससे पहले बुधवार को ही एसीबी टीम ने सिरोही के मंडार चेकपोस्ट पर कार्रवाई की थी. यहां से एसीबी को चैकपोस्ट पर कार्यरत अधिकारियों से 1 लाख 85 हजार नकद रुपए मिले हैं. एसीबी को अंदेशा है कि ट्रक चालकों से चेकपोस्ट पर अवैध वसूली हो रही थी. 

गुर्जर आरक्षण आंदोलन मामला: गुर्जर नेता मुकदमा दर्ज होने पर जता रहे नाराजगी, जिला कलेक्टर को सौंपा राज्यपाल के नाम ज्ञापन

गुर्जर आरक्षण आंदोलन मामला: गुर्जर नेता मुकदमा दर्ज होने पर जता रहे नाराजगी, जिला कलेक्टर को सौंपा राज्यपाल के नाम ज्ञापन

भरतपुर: आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर महापंचायत आयोजित करने पर गुर्जर समाज के नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद अब गुर्जर नेता नाराजगी जताने लगे हैं. गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी बैसला के पुत्र विजय सिंह बैंसला व गुर्जर नेता भूरा भगत सहित कई गुर्जर समाज के नेताओं ने जिला कलेक्टर नथमल डिडेल को आज राज्यपाल के नाम ज्ञापन देकर समान अपराध समान न्याय व समान दंड के तहत समान कानून की पालना कराने की मांग की है.

गुर्जर नेता विजय सिंह बैंसला ने कहा कि एफआईआर दर्ज होने के बाद गिरफ्तारी देने भरतपुर आये थे, लेकिन ऐसा नहीं करने पर प्रशासन से मांग की है कि गत 17 अक्टूबर को बयाना के अड्डा गांव में गुर्जर समाज की महापंचायत के बाद मुकदमा दर्ज कर प्रशासन में जिस तरह सराहनीय कार्य किया है वैसे ही राज्य के मुख्यमंत्री, पीसीसी अध्यक्ष और प्रभारी महासचिव के भी ख़िलाफ़ भी एफआईआर दर्ज की जाए क्यों कि इन नेताओं ने भी खुले मंचों से धरना एवं प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित किए थे.

{related}

बैंसला ने कहा जिस तरह गुर्जर नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है, वैसे ही इन नेताओं के खिलाफ भी एफ आई आर दर्ज की जाए. उल्लेखनीय है कि बयाना के अड्डा पीलूपुरा गांव में पिछले दिनों आयोजित हुई गुर्जर महापंचायत के बाद गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला उनके पुत्र सहित लगभग 32 लोगों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है. साथ ही ढाई से तीन हजार अन्य लोगों को भी इस मुकदमे में शामिल किया गया है. सरकार द्वारा गुर्जर नेताओं की खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद गुर्जर नेताओं ने नाराजगी जाहिर करते हुए एक बार फिर से सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए दीपक लवानिया की रिपोर्ट

गुर्जर आरक्षण पर महापंचायत: किरोड़ी सिंह बैंसला का बयान, या तो सरकार मांगें करें पूरी, नहीं तो 1 नवम्बर को होगा राजस्थान जाम

गुर्जर आरक्षण पर महापंचायत: किरोड़ी सिंह बैंसला का बयान, या तो सरकार मांगें करें पूरी, नहीं तो 1 नवम्बर को होगा राजस्थान जाम

भरतपुर: प्रदेश के भरतपुर जिले के बयाना तहसील के अड्डा पीलूपुरा गांव में आरक्षण की मांग को लेकर शनिवार को गुर्जर महापंचायत आयोजित हुई. हालांकि शांतिपूर्ण तरीके से तो संपन्न हो गई. लेकिन गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि आगामी 31 अक्टूबर तक गुर्जर समाज की आरक्षण संबंधी सभी मांगे मान ली जाएं अन्यथा 1 नवंबर से प्रदेश भर में गुर्जर समाज आंदोलन करने को मजबूर हो जाएगा. पंचायत स्थल बयाना के अड्डा पीलूपुरा गांव में दोपहर 12 बजे से गुर्जर समाज के लोगों का जुटना शुरू हो गया था और शाम 4 बजे पंचायत स्थल पहुंचे गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने आंदोलन का अल्टीमेटम देने के साथ हैं पंचायत को समाप्त कर दिया.

मांगों पर सकारात्मक रूप से जल्द ही निर्णय ले सरकार:
गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा कि राज्य सरकार गुर्जर समाज की मांगों पर सकारात्मक रूप से जल्दी ही निर्णय ले और आरक्षण के मुद्दे को तत्काल सुलझाने का कार्य करें. महापंचायत से पूर्व राज्य सरकार ने गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला के पास आईएएस अधिकारी नीरज के पवन को विशेष दूत बना कर वार्ता के लिए भेजा था और आईएएस अधिकारी नीरज के पवन ने हिंडौन सिटी स्थित कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के आवास पर जाकर कर्नल बैंसला को सरकार की तरफ से वार्ता के लिए न्योता दिया. साथ ही गुर्जरों की मांगें मानने के लिए सरकार का मसौदा बताया.

{related}

गुर्जर आंदोलनों में रही नीरज के पवन की अहम भूमिका:
आईएएस अधिकारी नीरज के पवन भरतपुर व करौली जिले के पूर्व में कलेक्टर भी रह चुके हैं साथ ही पूर्व में हुए गुर्जर आंदोलनों में उनकी अहम भूमिका रही है. इधर महापंचायत को लेकर जिला प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट नजर आया था और बयाना इलाका पुलिस छावनी में तब्दील नजर आया. बयाना-हिंडौन रोड पर जगह-जगह पुलिस के जवान तैनात किए गए थे. जिला कलेक्टर नथमल डिडेल और एसपी डॉक्टर अमनदीप सिंह कपूर ने फर्स्ट इंडिया न्यूज़ को बताया कि बयाना इलाके में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है और लगभग ढाई हजार पुलिसकर्मी इस दौरान चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए है.

आरपीएस और आरएएस अधिकारियों को भेजा बयाना:
महापंचायत को लेकर राज्य सरकार ने कई आरपीएस और आरएएस अधिकारियों को भी विशेष ड्यूटी करने के लिए बयाना भेजा है. संभागीय आयुक्त प्रेमचंद बेरवाल, जिला कलेक्टर नथमल डिडेल, एसपी डॉक्टर अमनदीप सिंह कपूर सहित अन्य अधिकारियों ने भी महापंचायत पर पूरी नजर बना रखी थी. महापंचायत को देखते हुए आरपीएफ ने भी मोर्चा संभाल रखा था और दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर कई जगह आरपीएफ के जवान मुस्तैद दिखाई दिए. फिलहाल महापंचायत शांतिपूर्ण तरीके से समाप्त होने के बाद जिला प्रशासन में राहत की सांस ली है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए दीपक लवानिया की रिपोर्ट

महिला ठग ने अश्लीलता परोसकर शिक्षक का बनाया अश्लील वीडियो, व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल कर बनाया शिकार

महिला ठग ने अश्लीलता परोसकर शिक्षक का बनाया अश्लील वीडियो, व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल कर बनाया शिकार

भरतपुर(कामां): भरतपुर के कामां कस्बे में एक महिला ठग द्वारा अश्लीलता परोसकर शिक्षक का अश्लील वीडियो बनाने का मामला सामने आया है. शातिर महिला ठग ने व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल करके शिक्षक का अश्लील वीडियो बनाया है. अब शिक्षक को इस वीडियो के आधार पर ब्लैकमेल किया जा रहा है. शिक्षक को वीडियो वायरल करने की धमकी दी जा रही है. इसके साथ ही पैसे ना देने पर फर्जी फेसबुक आईडी पर शिक्षक की वीडियो को वायरल भी किया है. 

{related}

कामां क्षेत्र में अश्लील वीडियो बनाने का गिरोह है सक्रिय: 
इस मामले में शिक्षक ने डीएसपी से गुहार लगाकर थाने में मामला दर्ज कराया है. अब DSP प्रदीप यादव टीम गठित कर सरगर्मी से गिरोह की तलाश में लग गए हैं. मिली जानकारी के अनुसार कामां क्षेत्र में अश्लील वीडियो बनाने का गिरोह सक्रिय होने की बात सामने आई है. यहां बदमाशों ने ठगी का तरीका बदला है. ये ऑनलाइन ठगी के बाद अब वीडियो बनाकर ठगी करते हैं. यह पूरा मामला कामां थाना क्षेत्र का है. 


 

आरक्षण की मांग को लेकर आज फिर हुंकार भरेगा गुर्जर समाज, क्षेत्र में जगह-जगह पुलिस जाब्ता तैनात, इंटरनेट सेवा भी बंद

आरक्षण की मांग को लेकर आज फिर हुंकार भरेगा गुर्जर समाज, क्षेत्र में जगह-जगह पुलिस जाब्ता तैनात, इंटरनेट सेवा भी बंद

भरतपुर: आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समाज आज फिर हुंकार भरेगा. बयाना के पीलूपुरा के पास अड्डा गांव में आज ढ़ाई साल बाद फिर सुबह 11 बजे महापंचायत बुलाई गई है. महापंचायत से जुड़े लोगों ने दावा किया है कि करीब 20 हजार लोग शामिल होंगे, वहीं प्रशासन का मानना है कि करीब पांच हजार लोग जुटेंगे. 

पुलिस व प्रशासन के कई अधिकारियों ने बयाना में डेरा डाला:  
अड्डा गांव में होने वाली महापंचायत में कर्नल किरोड़ी बैंसला, हिम्मत सिंह, श्रीराम बैंसला आदि गुर्जर नेता शिरकत करेंगे. ऐसे में महापंचायत को लेकर प्रशासन भी अलर्ट हो गया है. पुलिस व प्रशासन के कई अधिकारियों ने बयाना में डेरा डाला है. महापंचायत में गुर्जर समाज के नेताओं में आरक्षण के मुद्दे पर चर्चा होगी. इसके साथ ही आगामी आंदोलन की रणनीति भी तय की जाएगी. 

{related}

रेलवे सुरक्षा बल की एक कम्पनी बयाना पहुंची:
वहीं आज प्रस्तावित गुर्जर महापंचायत के चलते प्रशासन भी सतर्क हो गया है. इसी के चलते रेलवे सुरक्षा बल की एक कम्पनी बयाना पहुंच गई है. रेलवे ट्रैक की सुरक्षा के लिये जवानों की तैनाती की जाएगी. पूरे घटनाक्रम पर आरपीएफ अधिकारी कड़ी नजर रखे हुये हैं. मुंबई-दिल्ली रेलवे ट्रैक पर भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जाएगी

क्षेत्र में जगह-जगह पुलिस जाब्ता तैनात, इंटरनेट सेवा भी बंद:   
इसके साथ ही महापंचायत को लेकर क्षेत्र में जगह-जगह पुलिस जाब्ता तैनात किया गया है. कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग, एसपी मृदुल कच्छावा कड़ी नजर रखे हुए हैं. वहीं क्षेत्र से गुर्जर समाज के लोगों की आवाजाही पर भी नजर रखी जा रही है. इसके साथ ही सुरक्षा के मद्देनजर रात्रि 12 बजे से क्षेत्र की इंटरनेट सेवा भी बंद की गई है. लीजलाइन और ब्रॉडबैंड सेवा ही चालू रहेगी. गुर्जर आंदोलन को लेकर सरकार ने हिंडौन में अतिरिक्त पुलिस जाब्ता भेजा है. इसके साथ ही हिंडौन-बयाना (भरतपुर) की सीमा पर भी विशेष सुरक्षा बल मौजूद है. IAS नीरज के. पवन भी मामले पर नजर बनाए हुए हैं. नीरज के. पवन सरकार एवं गुर्जरों के बीच मध्यस्थता कर रहे हैं. 


 

आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों की महापंचायत कल, जिला प्रशासन पूरी तरह अलर्ट

 आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों की महापंचायत कल, जिला प्रशासन पूरी तरह अलर्ट

भरतपुर: भरतपुर जिले के बयाना तहसील के अड्डा पीलूपुरा गांव में गुर्जर समाज की शनिवार को  आरक्षण की मांग को लेकर होने वाली महापंचायत को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह अलर्ट हो गया है.जिला कलेक्टर नथमल डिडेल और एसपी डॉक्टर अमनदीप सिंह कपूर बयाना इलाके का दौरा कर हालात का जायजा ले चुके है. गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के नेता करोड़ी सिंह बैसला में पहले महापंचायत सवाई माधोपुर जिले के मलारना डूंगर में रखने की घोषणा की थी, लेकिन अब स्थान बदलकर भरतपुर जिले की बयाना तहसील के अड्डा पीलूपुरा गांव में किया है. जहां शनिवार को  गुर्जर समाज के लोग आरक्षण के लिए एक बार फिर से हुंकार भरेंगे.

जिला प्रशासन की गुर्जर महापंचायत पर रहेगी पूरी नजर: 
गुर्जर समाज की होने वाली महापंचायत के संबंध में जिला कलेक्टर नथमल डिडेल में फर्स्ट इंडिया न्यूज़ को बताया कि जिला प्रशासन की गुर्जर महापंचायत पर पूरी नजर बनी हुई है साथ ही आरक्षण संघर्ष समिति के नेताओं से भी संपर्क किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का भरसक प्रयास है कि बातचीत के जरिए ही आरक्षण के मुद्दे को सुलझाया जाए लेकिन फिर भी एहतियातन सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम बयाना इलाके में किए गए हैं. उन्होंने बताया कि गुर्जर आंदोलन की संभावनाओं को देखते हुए सरकार से कुछ आरएएस अधिकारी व अतिरिक्त पुलिस जाब्ते की भी जिला प्रशासन द्वारा मांग की गई है.

{related}

पीलूपुरा इलाके में गुर्जर आंदोलन की आहट:
गुर्जर समाज के नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला व उनकी टीम से भी जिला प्रशासन के अधिकारी संपर्क बनाए हुए हैं साथ ही सूचना तंत्र को भी पूरी तरह से सक्रिय किया गया है. उल्लेखनीय है कि आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समाज द्वारा पूर्व में भी पीलूपुरा गांव में सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जा चुका है और अब एक बार फिर से पीलूपुरा इलाके में गुर्जर आंदोलन की आहट से जिला प्रशासन पूरी तरह से सतर्क हो गया है. संभावना जताई जा रही है इसी महापंचायत में कर्नल बैंसला आंदोलन की आगामी रणनीति का खुलासा कर सकते है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए दीपक लवानिया की रिपोर्ट

भरतपुर में 17 ग्राम पंचायतों के चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, 87.40 प्रतिशत रहा मतदान 

भरतपुर में 17 ग्राम पंचायतों के चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, 87.40 प्रतिशत रहा मतदान 

भरतपुर: भरतपुर जिले की कामां पंचायत समिति की 17 ग्राम पंचायतों में पंच सरपंच पद के लिए सोमवार को चुनाव शांतिपूर्वक तरीके से संपन्न हो गए. मतदान के प्रति वोटरों में खासा उत्साह दिखाई दिया लगभग 87.40 प्रतिशत मतदान आज इन 17 ग्राम पंचायतों में हुआ है. मतदान के दौरान कोरोना गाइडलाइन की पूरी तरह से पालना कराई गई. मतदान के लिए पोलिंग बूथ पर सुबह 7 बजे से ही मतदाताओं की लंबी लाइन है नजर आने लगी और वोटरों को बिना मास्क लगाए मतदान केंद्रों में प्रवेश नहीं दिया गया.

मतदान केंद्रों पर हुई सैनिटाइजर की व्यवस्था:
मतदान केंद्रों पर इस बार सैनिटाइजर की व्यवस्था भी की गई थी और वोट डालने आने वाले व्यक्ति को उंगली पर स्याही लगवाने से पहले हाथ सैनिटाइज कराए गए. जिला कलेक्टर नथमल डिडेल व एसपी डॉक्टर अमनदीप सिंह कपूर ने भी पूरी चुनाव प्रक्रिया पर नजर बनाकर रखी और दोनों ही अधिकारियों ने कई पोलिंग बूथों का निरीक्षण भी किया. मेवात इलाके के कामा पंचायत समिति की 17 ग्राम पंचायतों में मतदान शांतिपूर्वक होने से जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है.

{related}

राहिला खान 484 मतों से चुनाव जीती:
मतदान के बाद चुनाव परिणाम भी सामने आने लगे हैं और पहला परिणाम झील पट्टी ग्राम पंचायत से आया जहां राहिला खान 484 मतों से चुनाव जीत गई.दूसरा परिणाम कनवाड़ा से आया जहां लक्ष्मी देवी 85 वोटों से विजय घोषित की गई. साथ ही ग्राम पंचायत पाई से नीरज, ग्राम पंचायत सोनोखर से फूलमती ग्राम पंचायत विलग से कंबो बेगम ने बाजी मारी है. बोलखेड़ा से रामवती नोनेरा से संता देवी सरपंच चुनी गई. मतदान के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे और कामा का ग्रामीण इलाका आज पुलिस छावनी में बदला हुआ नजर आया. पोलिंग बूथों पर 1 दर्जन से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए थे जिनमें छह सशस्त्र पुलिसकर्मी भी शामिल थे. उप सरपंच पद के लिए इन सभी 17 ग्राम पंचायतों में कल चुनाव कराया जाएगा.