REET परीक्षा के आयोजन को लेकर खबर, सशस्त्र बलों की 24 घंटे निगरानी में रहेंगे परीक्षा केंद्र; नकल गिरोह सक्रीय होने के चलते नाक का सवाल बनी भर्ती

REET परीक्षा के आयोजन को लेकर खबर, सशस्त्र बलों की 24 घंटे निगरानी में रहेंगे परीक्षा केंद्र; नकल गिरोह सक्रीय होने के चलते नाक का सवाल बनी भर्ती

REET परीक्षा के आयोजन को लेकर खबर, सशस्त्र बलों की 24 घंटे निगरानी में रहेंगे परीक्षा केंद्र; नकल गिरोह सक्रीय होने के चलते नाक का सवाल बनी भर्ती

जयपुर: REET परीक्षा के आयोजन को लेकर बड़ी खबर आई है. परीक्षा केंद्र 24 घंटे सशस्त्र बलों की निगरानी में रहेंगे. पेपर, OMR शीट लाने ले जाने का कार्य सुरक्षाबलो की निगरानी में होगा. इसके साथ ही प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर पुलिस बल, फ्लाइंग स्क्वॉड की भी तैनाती रहेगी. ब्लूटूथ डिवाइस के इस्तेमाल पर कंट्रोल की कार्य योजना बनेगी. गृह विभाग ने भी डीजीपी को परीक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए निर्देश दिए हैं. 

भर्ती परीक्षाओं मे नकल गिरोह इन दिनों सक्रीय:
वहीं इससे पहले रीट भर्ती परीक्षा में सरकार की ओर से लगाई गई रेस्मा से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि प्रदेश में किस तरह से भर्ती परीक्षाओं मे नकल गिरोह इन दिनों सक्रीय है, पुलिस की ओर से मिले इनुपट के बाद सरकार ने रीट भर्ती परीक्षा को अब अपनी नाक का सवाल बना लिया है और किसी भी प्रकार की धांधली भर्ती परीक्षा में ना हो इसके लिए पूरी तैयारी कर ली है लेकिन प्रदेश में पिछेल कुछ महीनों में जिस प्रकार से भर्ती परीक्षाओं में नकल हुई उससे बेरोजगारों की मेहनत का बड़ा आघात पहुंचा है. 
कौन कौन सी परीक्षा जिनके पेपर हुए आउट-

नीट परीक्षा-2021
- 35 लाख रूपए में नीट परीक्षा के पेपर की सौदेबाजी
- 12 सिंतबर को आयोजित हुई थी परीक्षा
- 2 बजे शुरू हुई नीट भर्ती परीक्षा का पेपर
- 2.30 बजे पेपर परीक्षा केंद्र से वॉट्सअप के जरिए बाहर आया
- मामले में पुलिस ने अजमेर सहित जयपुर से 17 लोगों को किया गिरफ्तार
- परिणाम-भर्ती परीक्षा को रद्द नहीं किया गया
- आधिकारिक बयान-एक अभ्यर्थी को पास कराने के लिए की गई थी ये साजिस

एसआई भर्ती परीक्षा-2021
- 13 से 15 सिंतबर तक आयोजित हुई थी परीक्षा
- परीक्षा का पेपर जयपुर और बीकानेर से हुआ आउट
- मामले में जयपुर और बीकानेर पुलिस ने 17 लोगों को किया गिरफ्तार
- परिणाम- अभी फिलहाल परीक्षा को स्थगित नहीं किया गया

भर्ती परीक्षाओं में पिछले कुछ समय से फर्जी तरीके से अभ्यर्थियों को पास कराने का जो गिरोह सक्रीय हुआ है उसने अब सरकारी सिस्टम पर बड़े सवाल खड़े कर दिए है. पिछले कुछ समय में हुई सभी भर्ती परीक्षा संदेह के घेरे में आ खड़ी हुई है. हाल में एसआई भर्ती परीक्षा में पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में ये बात सामने आई कि उन्होंने पहले भी परीक्षाओं में नकल करा कर अभ्यर्थियों को नौकरी तक लगवाने की बात कबूल की. लेकिन अब शिक्षा विभाग की ओर से आयोजित की जा रही 31 हजार पदों पर रीट परीक्षा सबसे चुनौतीपूर्व रहेगी क्योंकि इस परीक्षा में भी ये गिरोह सक्रीय है. ऐसा पुलिस की पूछताछ में सामने आया...

जेईएन भर्ती परीक्षा-533 पद
- 6 दिंसबर 2020 को आयोजित हुई थी परीक्षा
- कुल 31752 अभ्यर्थियों ने दी थी परीक्षा
- परीक्षा का पेपर शूरू होने से पहले ही बाहर आया
- पुलिस ने मामले में 5 लोगों को भरतपुर से किया गिरफ्तार
- पेपर आउट होने पर अभ्यर्थियो ने बोर्ड कार्यालय पर किया प्रदर्शन
- परिणाम- भर्ती परीक्षा को किया गया रद्द

पुस्तककलयाध्यक्ष ग्रेड-3 सीधी भर्ती परीक्षा-2018
- 700 पदों के लिए आयोजित हुई थी परीक्षा
- 19 सिंतबर 2020 को आयोजित हुई थी परीक्षा
- पुलिस ने मामले में 6 लोंगो को  किया गिरफ्तार
- परिणाम- अधिनस्थ बोर्ड की ओर से परीक्षा को रद्द किया गया

जिस प्रकार की तैयारी अब सरकार ने रीट भर्ती परीक्षा को लेकर की है अगर सरकार पहले ही इस तरह की तैयारी कर लेती तो शायद ये भर्ती परीक्षाओं के पेपर इस तरह सरेआम नहीं बिक रहे होते. जैईएन भर्ती हो या फिर पुस्तकालय भर्ती परीक्षा सभी परीक्षाओं में नकल गिरोह पूरी तरह सक्रीय रहा इन भर्ती परीक्षाओं में हालाकि पुलिस ने कुछ अभ्यर्थियों को गिरफ्तार तो किया लेकिन आज भी कई अभ्यर्थी नकल करके आराम से चैन की नौकरी कर रहे हैं. अगर ये ही हालात रहे तो फिर मेहनत और ईमानदारी पर कोई विश्वास ही नहीं करेगा. 

और पढ़ें