Nirbhaya Case: जज का बयान आया सामने, बोले फांसी देना पाप

Nirbhaya Case: जज का बयान आया सामने, बोले फांसी देना पाप

Nirbhaya Case: जज का बयान आया सामने, बोले फांसी देना पाप

नई दिल्ली: दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में निर्भया के दोषियों के खिलाफ मामला चल रहा है. कोर्ट कि ओर से चारों दोषियों को फांसी देने की तारीखों में अटकलें लगाई जा रही है.निर्भया के माता-पिता का कहना है कि कोर्ट दोषियों की फांसी को लेकर देरी कर रहा है. और दोषियों के वकिल इन्हें बचाने की कोशिश कर रहें है.

Delhi: लेडी सब इंस्पेक्टर की हत्या का मामला, आरोपी SI ने किया सुसाइड

जज बोले फांसी देना पाप:
वकिलों की ओर से दायर याचिका में आज कोर्ट ने डेथ वांरट जारी करने से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने इस संबध में दायर याचिका को खारिज करते हुए कहा कि अगर कानून दोषियों को जीने की इजाजत देता है, तो उन्हें फांसी पर चढ़ाना पाप के समान होगा.

Delhi Election 2020: कांग्रेस प्रत्याशी अलका लांबा ने AAP कार्यकर्ता को जड़ा थप्पड़, मतदान में दिख रही सुस्ती

पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वांरट जारी मांग को किया खारिज:
आपको बता दें कि 2012 में निर्भया गैंगरेप के चार दोषियों मुकेश कुमार, पवन गुप्ता, विनय कुमार और अक्षय कुमार को फांसी की सजा सुनाई गई थी. ये चारों दोषी तिहाड़ जेल में बंद हैं. इनमें से तीन फांसी के खिलाफ क्यूरेटिव पिटीशन से लेकर दया याचिका तक के अधिकार का इस्तेमाल कर चुके हैं और उन्हें कोई राहत नहीं मिली है. चौथा दोषी पवन गुप्ता के पास क्यूरेटिव पिटीशन का विकल्प बचा है. इसी आधार पर कानून का हवाला देते हुए पटियाला हाउस कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी करने वाली मांग खारिज कर दी है.

और पढ़ें