close ads


Harvard University में पहली बार एक अश्वेत नोआ हैरिस बना छात्र संगठन का अध्यक्ष

Harvard University में  पहली बार एक अश्वेत नोआ हैरिस बना छात्र संगठन  का अध्यक्ष

मिसीसिपी: हार्वर्ड विश्वविद्यालय के इतिहास में पहली बार किसी अश्वेत छात्र को छात्रसंघ का अध्यक्ष चुना गया है. खबर है कि इस बार मिसीसिपी के एक 20 वर्षीय अश्वेत छात्र को छात्र संगठन का अध्यक्ष चुना गया है. हैटिसबर्ग के नोआ हैरिस इस बार हार्वर्ड के स्नातक परिषद का अध्यक्ष चुना गया है, जिसकी घोषणा हाल ही में की गई है.  प्रशासनिक विषयों की पढ़ाई कर रहे हैरिस स्नातक परिषद के अश्वते छात्रों के समूह के सहअध्यक्ष भी हैं.

इसके पहले दो और छात्र स्नातक परिषद के अध्यक्ष रह चुके हैं लेकिन हैरिस छात्र संगठन द्वारा चुना गया पहला अश्वेत छात्र है. हैरिस ने पत्रकारों को कहा है कि वे इस सम्मान को हल्के में नहीं लेंगे. उन्होंने कहा है कि इस वर्ष गर्मियों में जॉर्ज फ्लॉयड, ब्र्योना टेलर और अहमॉद आर्बरी की मौत के बाद देश में नस्लभेद को लेकर जो आंदोलन शुरु हुआ है उसके बाद हार्वर्ड छात्र संगठन द्वारा एक अश्वते छात्र पर भरोसा कर उसे चुनना एक ऐतिहासिक कदम है.

आपको बता दे कि इस चुनाव में हैरिस के साथ स्नातक परिषद की उपाध्यक्ष पद के लिए क्लीवलैंड की जेनी गन को चुना गया है. गन न्यूरोसाइंस की पढाई कर रही हैं. दोनों का कहना है कि वे छात्रों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहते हैं और इस जिम्मेदारी का पूरी शिद्दत से निर्वाह करेगें.फिलहाल एक अश्वेत को छात्रनेता चुनना कितना कारगर साबित होता है, ये तो वक्त ही बताएगा. (सोर्स-भाषा)

 

 

और पढ़ें