Live News »

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नहीं पर्याप्त चिकित्सक, मरीज परेशान   

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नहीं पर्याप्त चिकित्सक, मरीज परेशान   

वैर (भरतपुर)। कहने को तो विधानसभा मुख्यालय वैर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र है, जहां चिकित्सकों के 6 पद स्वीकृत है।इन सबके बावजूद मौसमी बीमारियों के चलते यहां ओपीडी में 400 से अधिक रोगियों का व्यवस्था में लगाये गये एक मात्र चिकित्सक अवधेश शर्मा को उपचार के लिए जूझना पड़ रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सकों के 4 पद विगत कई वर्षों से रिक्त चल रहे है। चिकित्सालय में एक पद पर दंत चिकित्सक हजारीलाल कार्यरत है जिन को सीएसची प्रभारी का चार्ज दिया हुआ है। सीएसची प्रभारी के अलग रूम में बैठने तथा दंत चिकित्सक होने की वजह से अधिकतर रोगी उन से उपचार करवाने से कतराते है। रोगियों की अधिकता के चलते नम्बर नहीं आने पर रोगी झोलाछाप चिकित्सकों के पास चले जाते है। 

समाजसेवी नीरज बण्डा का कहना है कि, "मात्र एक डॉ. प्रेम सिंह गोगा ही पदस्थापित है, जो हाल में निजी कारणों से अवकाश पर बताये गये है। लम्बे अर्सें से अकेले डॉ. गोगा ही मरीजों का उपचार करते आये है। अकेले चिकित्सक होने की वजह से जहां मरीजों को पर्ची बनवाने से लेकर डॉक्टर को दिखाने तक काफी देर लगती है। जिसकी वजह से मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है और अपनी बारी का इंतजार करते-करते थक जाता है। जिससे परेशान होकर मरीज निजी चिकित्सक या झोलाछाप चिकित्सकों की शरण में जाने को मजबूर हो जाता है।" बण्डा का कहना है कि, "जिला चिकित्सा प्रशासन से व्यवस्था को सुधारने की कई बार गुहार भी की जा चुकी है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकल रहा है। जिससे आमजन परेशान है समस्या का शीघ्र निदान नहीं किया गया तो अस्पताल पर ताले लगाए जाएगे और जरूरत पड़ी तो चक्का जाम भी किया जायेगा।" मरीजों के परिजनों और कस्बे वासियों में भारी रोष व्याप्त है।

वैर से संवाददाता संतोष शर्मा की खबर 

और पढ़ें

Most Related Stories

Open Covid-19