लालसोट से बोले गहलोत- नोटबंदी ने आम आदमी को किया बर्बाद

Nirmal Tiwari Published Date 2018/11/30 04:39

लालसोट(दौसा)। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज लालसोट में जातीय समीकरणों को साधने के साथ ही भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार पर जमकर हमले बोले। नोटबंदी, जीएसटी और योजनाओं के नाम बदलने को लेकर गहलोत ने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि नोटबंदी ने जहां आम आदमी को बर्बाद कर दिया वहीं जीएसटी ने छोटे व्यापारियों के काम धंधे ठप कर दिए। 

गहलोत ने वसुंधरा राजे को भी देश की एकमात्र ऐसी सीएम करार दिया जो 5 वर्ष तक जनता के बीच में न रहकर महलों और पांच सितारा होटलों में रही। श्रीमती राजे हवा में घूमती रहीं 5 साल। कभी धौलपुर महल में रहती थीं, कभी दिल्ली। जयपुर कभी-कभी आना होता था। वसुंधरा जी टाइमपास मुख्यमंत्री के रूप में मानी जाएंगी। टाइमपास ही किया है उन्होंने। कांग्रेस प्रत्याशी परसादी लाल मीणा के समर्थन में सभा करने आए गहलोत ने यहां 30 हजार से ज्यादा माली मतदाताओं को साधने का भी जतन किया।

इससे पहले वैभव गहलोत भी लालसोट में रोड शो कर चुके हैं। गहलोत ने आज अपने भाषण में कहा कि महिलाऐं पति से थोड़ा पैसा छिपा के रखती हैं कि अड़िये-बड़िये, जरुरत में काम आएगा...वो पैसा भी मोदीजी ने नोटबंदी करके छीन लिया। नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था तहस-नहस हो गई। कोई सोच भी नहीं सकता कि बिना सोचे-समझे ऐसा फैसला भी हो सकता है। मुख्यमंत्री ने कभी जनता के मन की बात नहीं सुनी। काम कुछ किया नहीं। कानून-व्यवस्था की स्थिति ठप्प हो गई। छोटी-छोटी बच्चियों के रेप हो रहे थे, चेनें खींची जा रही थीं। महिलाएं सुरक्षित नहीं रहीं, चोरी-डकैती आम बात हो गई। ऐसा शासन इन्होंने किया है। ये भाजपा वाले किस मुँह से बोलते हैं? ये तो काम बंद करने वाले लोग हैं। 

राजीव गांधी पाठशालाएँ बंद कर दी, ढाणियों में, छोटे गांव में भी स्कूल खोल दी थी ताकि बच्चों को बाहर नहीं जाना पड़े, पढाई का प्रतिशत बढ़े ये हमने किया इन्होंने उनको बंद कर दिया। 15 लाख खाते में डाल देंगे वो जुमला था बताओ आए किसी के खाते में 15 लाख? ये जुमले बोलने में मास्टर लोग है, जुमले से ही सरकार चलाते है, जुमले से ही लोगों को गुमराह करते है, जुमले से ही चुनाव जीतना चाहते है। 

इस बार एक भी जुमला इनका नहीं चलने वाला मैं दावे के साथ कह सकता हूँ। हमने किसानों को कई सब्सिडी दी थी, सोलर के लिए, बूंद बूंद सिंचाई के लिए, गेहूं पर प्रति क्विंटल 150 रू. बोनस के दिए, दूध उत्पादकों को प्रति लीटर 2 रूपये अतिरिक्त बोनस दिया, कई बड़े-बड़े काम हमने हाथ में लिए थे, दवाइयां फ्री करी, पशुओं की दवाइयां भी फ्री कर दी। मोदीजी बोलते हैं तो असत्य बोलते हैं... प्रधानमंत्री को कभी असत्य नहीं बोलना चाहिए। झूठे आरोप लगाते हैं, खाली पार्टी हित की बात करते हैं, देश हित की बात नहीं कर रहे हैं। कुल मिलाकर गहलोत ने अपने भाषण के दौरान मोदी और राज्य सरकार को निशाने पर रखा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in