अब सिंगापुर, UAE में भी 12 से 15 साल के किशोरों को लगेगी वैक्सीन, अब तक इन देशों में फैसला

अब सिंगापुर, UAE में भी 12 से 15 साल के किशोरों को लगेगी वैक्सीन, अब तक इन देशों में फैसला

अब सिंगापुर, UAE में भी 12 से 15 साल के किशोरों को लगेगी वैक्सीन, अब तक इन देशों में फैसला

नई दिल्ली: अमेरिका (USA) और कनाडा (Canada) के बाद अब सिंगापुर (Singapore) और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने 12 से 15 साल के बच्चों को फाइजर-बायोनटेक (Pfizer Bioentech) की कोरोना वैक्सीन दिए जाने को मंजूरी दे दी है. इसके अलावा यूरोपियन मेडिकल एजेंसी (European Medical Agency) बच्चों को फाइजर की वैक्सीन दिए जाने पर विचार कर रही है. यह फैसला ऐसे वक्त लिया गया है, जब बीते साल की तुलना में इस साल कोरोना संक्रमण बच्चों में भी तेजी से फैलता दिख रहा है.

अभी भारत में मंजूरी नहीं:
भारत में भी दावा किया जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave) बच्चों के लिए कहर साबित हो सकती है. भारत में अभी तक बच्चों की वैक्सीन को मंजूरी नहीं मिली है. सिंगापुर में फाइजर की वैक्सीन अभी तक सिर्फ 16 साल या उससे ज्यादा के किशोरों को दी जा रही थी. हाल के कुछ हफ्तों में सिंगापुर के स्कूली छात्र कोरोना पॉजिटिव (Positive) पाए गए, जिसके बाद सिंगापुर ने स्कूल बंद करने का ऐलान किया.

ट्यूशन सेंटर जाने वाले बच्चों में संक्रमण ज्यादा फैला:
हालांकि, अधिकांश केस या तो कम लक्षण वाले थे या फिर बिना लक्षण के लेकिन संक्रमण उन बच्चों में ज्यादा फैला, जो ट्यूशन सेंटर (Tuition Center) जाते हैं. सिंगापुर ने फाइज़र की वैक्सीन को सबसे ज्यादा असरदार होने के दावों की वजह से मंजूरी दी है.

फाइजर की वैक्सीन 100 फीसदी तक असरदार रही: 
सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री (Singapore Health Minister) ने कहा कि 12 से 15 साल के बच्चों में फाइजर की वैक्सीन 100 फीसदी तक असरदार रही है, इसलिए इसे आपातकालीन (Emergency) इस्तेमाल की मंजूरी दी जा रही है. UAE ने भी 12 से 15 साल के बच्चों के लिए फाइजर की वैक्सीन को मंजूरी दे दी है. दरअसल, यूएई अगले सत्र से स्कूल खोलने की तैयारी में है. खलीज टाइम्स (Khaleej Times) ने UAE के स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता के हवाले से लिखा कि बच्चों में कम संक्रमण के मामले होने के बावजूद टीकाकरण (Vaccination) बहुत जरूरी है क्योंकि बच्चों को अगले साल स्कूल जाकर पढ़ाई करनी ही है.

भारत में बच्चों को वैक्सीन की स्थिति अभी स्पष्ट नहीं:
कोरोना वायरस (Covid Virus) की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोवैक्सीन को 2 से 18 साल के बच्चों के लिए दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल की मंजूरी दे दी है. यह परीक्षण अगले 10 से 12 दिनों में शुरू हो सकता है. हालांकि, टीकाकरण कबसे शुरू होगा, इस पर अभी तक कोई स्पष्ट स्थिति नहीं है.

और पढ़ें