Live News »

अब बंद होगा राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन, भारत सरकार से मिले हैं सभी राज्य सरकारों को निर्देश

जयपुर: पूरे देशभर में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन है, वहीं राज्य सरकार ने मजदूरों को अपने जिलों में पहुंचाने के लिए रोडवेज बसों का संचालन शुरू किया था. जिससे वो अपने घर तक पहुंच सकें. भारी तादात में लोग पैदल ही अपने-अपने जिलों की ओर जा रहे है. इस बीच एक बड़ी खबर मिली है कि अब राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन बंद होगा. यह निर्देश सभी राज्य सरकारों को भारत सरकार से मिले हैं. केन्द्र सरकार की ओर से मजदूरों का मूवमेंट रोकने के निर्देश दिए गए है. राजस्थान सरकार भारत सरकार के निर्देशों का पालन करेगा. कुछ ही देर में रोडवेज बसें बंद हो जाएगी. 

India Corona Updates: घरों में रहे, जानलेवा बना कोरोना, पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 1026 तो 27 लोगों की मौत

और पढ़ें

Most Related Stories

चिकित्सा मंत्री से सेंट्रल टीम की मुलाकात, कोरोना रोकथाम कार्यो की सराहना

चिकित्सा मंत्री से सेंट्रल टीम की मुलाकात, कोरोना रोकथाम कार्यो की सराहना

जयपुर: चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा से बुधवार को केंद्रीय संयुक्त सचिव राजीव ठाकुर के नेतृत्व में आयी सेंट्रल टीम ने भेंट की. इस दौरान टीम ने प्रदेश में कोरोना की रोकथाम के लिए किए गए कार्यों की सराहना की. डॉ शर्मा ने टीम को प्रदेश में कोरोना की रोकथाम के लिए गए प्रयासों की विस्तार से जानकारी दी. 

देशी नस्ल के गौवंश की डेयरी स्थापना के लिए मिलेगा 90 प्रतिशत तक ऋण, चुकाने पर 30 प्रतिशत सब्सिडी 

विधायक कोष का उपयोग 2 वर्ष के लिए केवल स्वास्थ्य सेवाओं पर व्यय होगा: 
उन्होंने प्रदेश में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, क्वारेंटाइन सुविधाओं, कोरोना टेस्ट सुविधाओं सहित अन्य गतिविधियों के बारे में जानकारी दी. चिकित्सा मंत्री ने बताया कि प्रदेश में स्वास्थ्य के आधार भूत ढांचे को सुदृढ़ करने के लिए व्यापक कार्यवाही की जा रही है. विधायक कोष का उपयोग 2 वर्ष के लिए केवल स्वास्थ्य सेवाओं पर व्यय होगा. स्वास्थ्य के आधारभूत ढांचे को मजबूत बनाने के संसाधनों की कोई कमी नही आने दी जाएगी. 

Coronavirus Vaccine: रूस ने किया कोरोना वैक्सीन तैयार करने का दावा, सैनिकों पर हो रहा है ट्रायल 

स्वास्थ्य कर्मियों की नियुक्ति व प्रशिक्षण पर ध्यान दिया गया:
स्वास्थ्य कर्मियों की नियुक्ति व प्रशिक्षण पर ध्यान दिया गया है. प्रदेश में 735 चिकित्सकों की नियुक्ति के बाद आज ही 2 हजार चिकित्सको भर्ती हेतु विज्ञप्ति जारी की गई है. साथ ही 12 हजार से अधिक पैरा मेडिकल स्टाफ की नियुक्ति की गई है. इस अवसर पर टीम सदस्य डॉ तंजिन डिकिड एवं डॉ संजय मट्टू के साथ ही एमडी एनएचएम नरेश ठकराल, अतिरिक्त निदेशक डॉ रवि शर्मा भी मौजूद रहे.  

देशी नस्ल के गौवंश की डेयरी स्थापना के लिए मिलेगा 90 प्रतिशत तक ऋण, चुकाने पर 30 प्रतिशत सब्सिडी

देशी नस्ल के गौवंश की डेयरी स्थापना के लिए मिलेगा 90 प्रतिशत तक ऋण, चुकाने पर 30 प्रतिशत सब्सिडी

जयपुर: जिला कलक्टर एवं जिला गौपालन समिति के अध्यक्ष डॉ. जोगाराम ने बताया कि ‘‘कामधेनू डेयरी योजना’’ के अन्तर्गत स्वरोजगार के लिए नवयुवक, महिलाएं, इच्छुक पशुपालक, गौ पालक, कृषक पशुपालन विभाग की प्रजनन नीति अनुसार दूधारू देशी गौवंश का संर्वधन कर देसी उन्नत गौवंशों की डेयरी लगा सकते हैं. डेयरी लगाने के लिए इच्छुक एवं पात्रता रखने वाले अभ्यर्थियों को 30 जून 2020 तक निर्धारित प्रपत्र में आवेदन करना होगा. 

Coronavirus Vaccine: रूस ने किया कोरोना वैक्सीन तैयार करने का दावा, सैनिकों पर हो रहा है ट्रायल 

चयनित अभ्यर्थियों के माध्यम से कामधेनू डेयरियां खोली जाएंगी:
डॉ.जोगाराम ने बताया कि ‘‘कामधेनू डेयरी योजना’’ के अन्तर्गत जिले में पशुपालन विभाग की प्रजनन नीति के अनुरूप वित्तीय वर्ष 2020-21 में सरकार द्वारा चयनित अभ्यर्थियों के माध्यम से कामधेनू डेयरियां खोली जाएंगी. इस डेयरी में उच्च दुग्ध क्षमता वाली एक ही नस्ल के 30 गौवंश होगें.

90 प्रतिशत राशि बैंक लोन के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी: 
उन्होंने बताया कि डेयरी खोलने के लिए लाभार्थी के पास पर्याप्त स्थान एवं हरा चारा उत्पादन करने के लिए कम से कम एक एकड़ भूमि होनी चाहिए. इस प्रोजेक्ट की लागत लगभग 36 लाख रूपये निर्धारित की गई है. इसमें लाभार्थी को 10 प्रतिशत राशि स्वयं द्वारा वहन करनी होगी एवं 90 प्रतिशत राशि बैंक लोन के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी. डेयरी योजना अन्तर्गत लिया गया ऋण चुकाए जाने पर राज्य सरकार द्वारा 30 प्रतिशत सब्सिडी भी दी जाएगी. 

चयनित पशुपालकों को 30 गौवंश के लिए ऋण दिया जाएगा:
जिला कलेक्टर ने बताया कि पशुपालक, गोपालक, कृषकों, नवयुवकों, महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए एवं उन्नत गौवंशों से पशुपालकों की आय बढा़ने के लिए कामधेनू डेयरी योजना में चयनित पशुपालकों को 30 गौवंश के लिए ऋण दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि सफल आवेदक को बैंक के माध्यम से ऋण प्रदान किए जाने के बाद डेयरी प्रबंधन एवं गौ उत्पादों के संबंध में उन्हें प्रशिक्षण एवं मार्गदर्शन भी दिया जायेगा. लाभार्थी को इस क्षेत्र में कम से कम तीन वर्ष का अनुभव होना आवश्यक हैं. साथ ही डेयरी का संचालन स्थानीय निकाय के प्रतिबंधित सीमा क्षेत्र से बाहर किया जायेगा. 

Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र से टकराया चक्रवाती तूफान निसर्ग, 129 साल बाद इतना भयानक तूफान  

प्रथम चरण में एक ही नस्ल की 15 गौवंश क्रय करने होंगे:
संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग जयपुर उम्मेद सिंह ने बताया कि कामधेनू डेयरी योजना के अन्तर्गत इच्छुक पशुपालक, गौपालक, कृषक, नवयुवक, महिलाओं को 30 जून 2020 तक निर्धारित प्रपत्र में कार्यालय संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग को आवेदन करना होगा. प्रथम चरण में देशी नस्ल की गायें जिनकी उम्र 5 वर्ष या दो ब्यांत (जो भी कम हो) होनी चाहिए एवं दुग्ध उत्पादन 10-12 लीटर प्रतिदिन होना चाहिए. प्रथम चरण में एक ही नस्ल की 15 दुधारू गाय एवं इसके 6 महीने बाद द्वितीय चरण में 15 देशी गौवंश क्रय करने होंगे. योजना के बारे में अधिक जानकारी एवं आवेदन पत्र विभाग की वेबसाइट https://gopalan.rajasthan.gov.in/ से डाउनलोड कर प्राप्त किए जा सकते हैं. 

राजस्थान में भी चक्रवात निसर्ग का असर, तेज हवाओं के साथ कई इलाकों में हो रही बारिश

राजस्थान में भी चक्रवात निसर्ग का असर, तेज हवाओं के साथ कई इलाकों में हो रही बारिश

जयपुर: चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ महाराष्ट्र से टकरा गया है. लैंडफाल की प्रक्रिया शुरू हो गई है जो अगले तीन घंटे तक चलेगी. वहीं इसका असर प्रदेश के मौसम मौसम पर भी पड़ गया है. राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश का दौर शुरू हो गया है. राजधानी के सी स्कीम, बाइस गोदाम, नंदपुरी, टोंक फाटक, सोडाला, मानसरोवर, डीसीएम, अजमेर रोड सहित कई इलाकों में बूंदाबांदी हो रही है. ऐसे में लोगों को गर्मी से कुछ राहत भी मिली है. 

Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र से टकराया चक्रवाती तूफान निसर्ग, 129 साल बाद इतना भयानक तूफान  

अगले तीन दिन भारी बारिश होने की चेतावनी: 
इससे पहले मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के चलते प्रदेश के 12 जिलों में अगले तीन दिन भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की थी. मौसम विभाग (Rajasthan Weather Forecast ) ने प्रदेश में 3 से 5 जून तक अंधड़ के साथ भारी बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी दी है. 

UP: 69 हजार सहायक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पर हाईकोर्ट ने लगाई अंतरिम रोक 

40—50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी हवा:
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार तूफान के असर से प्रदेश में अगले तीन दिन करीब बीस जिलों में 40—50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने और गुजरात राज्य से सटे प्रदेश के सीमावर्ती 12 जिलों में मेघगर्जन के साथ भारी बारिश होने की आशंका है. 

Unlock-1.0: आज से सड़कों पर दिखेंगी राजस्थान रोडवेज की बसें, 200 मार्गों पर संचालन शुरू

Unlock-1.0: आज से सड़कों पर दिखेंगी राजस्थान रोडवेज की बसें, 200 मार्गों पर संचालन शुरू

जयपुर: आज से राजस्थान रोडवेज (Rajasthan Roadways) ने प्रदेश में अपना दायरा बढ़ा दिया है. लॉकडाउन (Lockdown) के बाद से रोड़वेज बसों का संचालन प्रदेश में पूरी तरह से बंद रहा है. इसे 23 मई से आंशिक रूप से खोल गया था, लेकिन आज से रोडवेज ने प्रदेश में 200 से ज्यादा माग्रों पर अपना संचालन शुरू कर दिया है. वहीं हरियाणा के गुरुग्राम और हिसार तक रोडवेज की बसें रही हैं.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 102 नये पॉजिटिव केस आए सामने, जयपुर में सर्वाधिक 28 मामले

515 बसों का संचालन किया: 
रोडवेज की बसें सुबह 5 बजे से लेकर रात 9 बजे तक करीब 200 मार्गों पर चलेगी. इस दौरान 515 बसों का संचालन किया जाएगा. रोडवेज ने प्रदेश के 32 जिलों को जयपुर और प्रदेश के प्रमुख शहरों को इन मार्गों से जोड़ा गया है. रोडवेज का लग्जरी सेगमेंट 73 दिन बाद फिर से शुरू हुआ है. 

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार 

10 जून से रूट्स की संख्या में इजाफा होगा:
प्रदेश में आज से रोड़वेज ने 200 नए मार्गों पर बसों का संचालन शुरू किया है. रोड़वेज दूसरे चरण में 10 जून से रूट्स की संख्या में इजाफा करने जा रही है. बता दें कि देश में कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च से लॉकडाउन लागू रहा. अब लॉकडाउन का पांचवा चरण यानी अनलॉक-1 की एक जून से शुरुआत हुई है. 


 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 102 नये पॉजिटिव केस आए सामने, जयपुर में सर्वाधिक 28 मामले

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 102 नये पॉजिटिव केस आए सामने, जयपुर में सर्वाधिक 28 मामले

जयपुर: राजस्थान में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. पिछले 12 घंटे में प्रदेश में 102 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इसमें अकेले जयपुर में सर्वाधिक 28 केस सामने आए हैं. इसके अलावा अलवर में 13, बारां में 3, भरतपुर में 18, चूरू में 1 केस, धौलपुर में 1, डूंगरपुर में 3, झालावाड़ में 10, करौली में 2 केस, कोटा में 3, नागौर में 13, राजसमंद में 3, सिरोही में 2 केस और दूसरे राज्य के भी मिले 2 पॉजिटिव केस मिले हैं. ऐसे में राजस्थान में अब पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 9475 पहुंच गया है. वहीं राजस्थान में अब तक कोरोना से 203 मौतें हुई है. 

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी 

मंगलवार को प्रदेश में 273 संक्रमित मिले:  
इससे पहले मंगलवार को प्रदेश में 273 संक्रमित मिले और चार लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में जयपुर के दो और भरतपुर व कोटा का एक-एक शामिल है. भरतपुर में सर्वाधिक 70 रोगी सामने आए. वहीं, जयपुर में कुल 44 नए रोगी मिले. यहां के रामगंज इलाके में एकबार फिर कोरोना भड़क गया और 17 मरीज मिले. जयपुर के एसएमएस अस्पताल में एक डॉक्टर समेत 24 कर्मी पॉजिटिव आए. इनमें सफाई आदि का काम करने वाले शामिल हैं. बताया जाता है कि एक कर्मचारी रामगंज से एसएमएस आया था. जोधपुर में 44 नए रोगी मिले. 

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार 

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार

जयपुर: दो वक्त की रोटी के लिए घर से सैकड़ों किलोमीटर दूर मजदूरी करने वाले श्रमिक कोरोना काल में अपने गृह राज्यों में वापस तो लौट चुके हैं. लेकिन अब उनके सामने रोजगार का संकट खड़ा हो गया है. लॉकडाउन में उद्योग-धंधे बंद होने से दिहाड़ी मजदूरों के लिए खड़ी हुई इस विकट समस्या के समाधान की दिशा में लघु उद्योग भारती ने एक अनूठा प्रयास शुरू किया है. 

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी 

एलयूबी नेशनल डॉट कॉम नामक पोर्टल लॉन्च किया:  
लघु उद्योग भारती ने एलयूबी नेशनल डॉट कॉम नामक पोर्टल लॉन्च किया है. इस पोर्टल पर बेरोजगार लोग अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे. जिनकी योग्यतानुसार स्क्रूटनी के बाद सम्बंधित क्षेत्र में रोजगार मिल सकेगा. 

रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में सराहनीय कार्य: 
पोर्टल का शुभारम्भ मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र संघचालक डॉ. रमेश अग्रवाल, लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रकाशचंद व पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी मित्तल ने आर एस एस के सेवा सदन में किया. डॉ. अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौर में बड़ी तादात में लोग बेरोजगार हो चुके हैं. रोजगार के अभाव में अनेकों परिवारों को भरण-पोषण बहुत मुश्किल हो गया है. ऐसे में समाज के लोग रोजगारयुक्त हों इसका हरसंभव प्रयास करना सेवा भाव से हम सबकी जिम्मेदारी बनती है. इसके लिए लघु उद्योग भारती ने पोर्टल व मोबाइल एप लॉन्च कर बेरोजगार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में सराहनीय कार्य शुरू किया है.

कोरोना के बाद पहली बार 8 जुलाई को खेला जायेगा अंतरराष्ट्रीय मैच, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड होंगे आमने-सामने

मोबाइल या ई-मित्र से आवेदन किया जा सकता है:
इस दौरान संघ के अखिल भारतीय घुमंतू कार्य प्रमुख दुर्गादास, क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम, सेवा प्रमुख शिवलहरी समेत कई कार्यकर्ता दो गज दूरी का पालन करते हुए कार्यक्रम में शामिल हुए. लघु उद्योग भारती के प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम ओझा ने बताया कि पोर्टल पर नौकरी, नौकरी देने वाला व स्वरोजगार नाम से तीन श्रेणियां बनाई गई हैं. इनमें मोबाइल या ई-मित्र से आवेदन किया जा सकता  है. आवेदनों की जांच के बाद उन्हें रोजगार देने के लिए सम्बंधित उद्योगों में भेजा जाएगा. उन्होंने बताया कि पोर्टल व एप के माध्यम से कुशल, अकुशल व तकनीकी जानकार लोगों को उनके गृह क्षेत्र में ही काम मिल सकेगा. विभिन्न राज्यों से आ रहे प्रवासी उद्यमी अपने क्षेत्र में ही कोई छोटा मोटा व्यवसाय करना चाहेंगे तो उन्हें स्टार्ट अप में मदद मिलेगी. वहीं उद्यमियों को उनकी मांग के अनुरूप कारीगर, कंप्यूटर ऑपरेटर, ड्राइवर, हैल्पर, मशीन ऑपरेटर, फोरमैन, बाबू, कैटर्स आदि मिल सकेंगे तो इस तरह की श्रेणी के लोगों को अपने घर के आसपास काम मिल सकेगा. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए एश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 4 मौत, 273 नए पॉजिटिव केस, जयपुर के SMS अस्पताल में कोरोना का बड़ा विस्फोट

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के लगातार मामले बढ़ते जा रहे है. पिछले 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत हो गई. ज​बकि 273 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. जयपुर में 2, भरतपुर और कोटा में एक-एक मरीज की मौत हो गई. सर्वाधिक 70 केस अकेले भरतपुर में सामने आये है. राजस्थान में कोरोना की चपेट में आने से अब तक 203 मरीजों की मौत हो चुकी है, वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 9 हजार 373 हो गई है. 

भरतपुर में सबसे ज्यादा मामले आये सामने:
मंगलवार रात 8:30 बजे तक सर्वाधिक 70 केस अकेले भरतपुर में सामने सामने आये. अजमेर 1, अलवर 10, बाड़मेर 3,  भीलवाड़ा 8 पॉजिटिव, बीकानेर 2, चित्तौडगढ़ 3, चूरू 2, दौसा में 7 पॉजिटिव, धौलपुर में 2, श्रीगंगानगर में 1, जयपुर 42 पॉजिटिव, झालावाड़ में 23, झुंझुनूं 6, जोधपुर 44, कोटा 13 पॉजिटिव, पाली 13, सीकर 5, सिरोही 12, टोंक में 1 पॉजिटिव, उदयपुर में 4 और दूसरे राज्य का एक मरीज पॉजिटिव सामने आया. 

जयपुर जंक्शन से गति पकड़ रहा ट्रेनों का संचालन, मुम्बई से 834 यात्रियों के साथ ट्रेन पहुंची जयपुर

जयपुर में एक ही दिन में 2 मौत, 42 नए पॉजिटिव:
जयपुर में एक ही दिन में 2 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 42 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. कुल पॉजिटिव में से अकेले 20 मरीज SMS अस्पताल से सामने आये है.इलाकेवार देखे तो एक बार फिर रामगंज में 17 नए केस सामने आये है. SMS अस्पताल के स्टाफ में से अधिकांश केस रामगंज के इलाके है. इसके अलावा सूरजपोल से 1,पांच्यावाला से 1,झोटवाड़ा से 1 पॉजिटिव, ग्रीन विहार से 1,चांदपोल से 3,शाहपुरा से 1 पॉजिटिव, झालाना कच्ची बस्ती से 1,पालडी मीणा से 1,राजपुरा से 1 पॉजिटिव, अम्बाबाडी से 1,करतापुरा अम्बेडकर नगर से 1,जवाहर नगर से 1 पॉजिटिव, शास्त्री नगर से 2,बंजारा बस्ती से 1,ब्रह्मपुरी से 1,जगतपुरा से 1 पॉजिटिव, अशोक नगर से 1,कोटपूतली से 2,मुरलीपुरा से 1,वनस्थली मार्ग से 1 पॉजिटिव, श्याम नगर से एक मरीज कोरोना पॉजिटिव मिला है. जयपुर में अब तक 96 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि अब तक  2069 पॉजिटिव केस सामने आ चुके है. 

जयपुर के SMS अस्पताल में कोरोना का बड़ा विस्फोट:
राजधानी जयपुर के SMS अस्पताल में कोरोना का बड़ा विस्फोट हुआ है. एक ही दिन में 20 कोरोना वॉरियर कोरोना पॉजिटिव आए है. इसमें 10वार्ड ब्वॉय,एक वार्ड लेडी,एक गर्ल्स हॉस्टल की स्वीपर, दो कम्प्यूटर ऑपरेटर,दो डीडीसी सहायक,एक मोटर वर्कर,एक गेयर हाउस वर्कर,दो गार्ड जांच में पॉजिटिव निकले है.

राजस्थान रोडवेज बढ़ा रहा बस संचालन का दायरा, बुधवार से 100 नए रूटों पर चलेंगी बसें

फिर बढ़ गई शराब की कीमतें, 5 से 30 रुपए तक कीमतों में बढ़ोतरी

फिर बढ़ गई शराब की कीमतें, 5 से 30 रुपए तक कीमतों में बढ़ोतरी

जयपुर: राज्य सरकार अब प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदाओं की जंग शराब पर लगाकर लड़ने की तैयारी में है. राज्य सरकार ने मंगलवार को एक अधिसूचना जारी कर शराब की विभिन्न किस्म और पैकिंग पर 5रुपए से लेकर 30 रुपए तक की वृद्धि कर दी है. इसका असर उपभोक्ताओं पर मंगलवार से ही पड़ना शुरू हो गया है. राज्य सरकार द्वारा जारी अधिसूचना में स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि सूखा, बाढ़, महामारी जन स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं और आगजनी की स्थिति से निपटने के लिए शराब पर सर चार्ज लगाया गया है. जारी अधिसूचना के अनुसार अंग्रेजी शराब के पव्वे पर 5 रुपए, अद्धे पर 5 रुपए और बोतल पर 10 रुपए की वृद्धि की गई है.

राजस्थान रोडवेज बढ़ा रहा बस संचालन का दायरा, बुधवार से 100 नए रूटों पर चलेंगी बसें

उपभोक्ता के बीच दरों को लेकर गफलत:
इसी तरह ब्रीज़र पर 5 रुपए,  मिनिएचर और अन्य पैकिंग पर 5 रुपए और बीयर की बोतल पर 20 रुपए की वृद्धि की गई है. छोटी बीयर पर 5 रुपए की वृद्धि की गई है. देसी शराब के प्रति पव्वे और राजस्थान निर्मित शराब के प्रति पव्वे पर डेढ़ रुपए सरचार्ज लगाया गया है. आदेश में यह भी कहा गया है कि रिटेलर से यह राशि खरीदारी के समय ही वसूल की जाएगी और रिटेलर इस राशि को उपभोक्ता से वसूलेगा. बड़ी बात यह है कि सर चार्ज की राशि एमआरपी यानी अधिकतम खुदरा मूल्य में शामिल नहीं होगी ऐसे में लाइसेंसी और उपभोक्ता के बीच दरों को लेकर गफलत ही रहेगी. 

खजाना भरने के लिए शराब की दरों में लगातार वृद्धि:
इससे लाइसेंसी और ग्राहक के बीच तनाव बढ़ेगा. ध्यान रहे राज्य सरकार ने बीते वित्त वर्ष में अंग्रेजी शराब की दरों में 4 बार वृद्धि की थी और चालू वित्त वर्ष में दो बार वृद्धि की जा चुकी है. एक साल पहले जो शराब 100 रुपए की मिलती थी उसकी कीमत आज 200 रुपए से ज्यादा हो चुकी है सीधे तौर पर कहा जा सकता है कि राज्य सरकार खजाना भरने के लिए शराब की दरों में लगातार वृद्धि कर रही है. इससे उपभोक्ता को तो अपना शौक पूरा करने के लिए मोटी राशि चुकानी पड़ रही है साथ ही लाइसेंसी के लिए शराब बेचना मुश्किल हो गया है. सूत्रों की मानें तो सरकार शराब की दर बढ़ाकर राजस्व कमाना चाहती है जबकि हो इससे उलट रहा है. शराब की दर बढ़ने से शराब की बिक्री में कमी आई है ऐसी स्थिति में लाइसेंसी के लिए अपने राशि निकालना मुश्किल हो गया है और उपभोक्ता पर भी भार पड़ रहा है.

ढाई महीने के लंबे इंतजार के बाद खुले पर्यटन स्थल, पर्यटन स्थलों पर 524 पर्यटक ही पहुंचे 

Open Covid-19