Live News »

अब हरियाणा के गुरुग्राम पहुंचा टिड्डी दल, फसलों के ऊपर मंडराने से बढ़ी किसानों की चिंता

अब हरियाणा के गुरुग्राम पहुंचा टिड्डी दल, फसलों के ऊपर मंडराने से बढ़ी किसानों की चिंता

नई दिल्ली: अब हरियाणा के गुरुग्राम में टिड्डी दल ने हमला कर दिया है. टिड्डी दल गुरुग्राम के कई इलाकों में नजर आया है. फसलों के ऊपर टिड्डी दलों को मंडराते देखकर किसान परेशान हैं और उन्हें भगाने की कोशिशों में लगे हुए है. शनिवार को टिड्डियों का दल शहरी इलाकों में भी पहुंच गया है. किसान टिड्डी दल को भगाने के लिए पटाखे, टिन के डिब्बे बजाकर और धुएं छोड रहे है. जिससे टिड्डी दल भाग जाये और फसलें चौपट होने से बच जाये. 

200 और मार्गों पर चलेंगी राजस्थान रोडवेज की बसें, गुजरात के लिए भी शुरू होगी  बस सेवा

किसान टिड्डी दलों से परेशान:
टिड्डी दलों के लगातार हमले से किसान परेशान हैं. टिड्डी दलों के हमले को लेकर जिला प्रशासन ने कोई एडवाइजरी नहीं जारी की है. महेंद्रगढ़, रेवाड़ी और गुरुग्राम के बाद कई किलोमीटर लंबा टिड्डी दल अब दिल्ली के महरौली और छतरपुर में देखा गया है. जानकारी के मुताबिक टिड्डी दल अब नोएडा और गाजियाबाद में भी पहुंच सकता है. 

किसानों और वैज्ञानिकों की बढ़ी चिंता:
इस आशंका ने दिल्ली सरकार के साथ किसानों और वैज्ञानिकों की भी चिंता बढ़ा दी है. उजवा स्थित कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों का कहना है कि शाम तक टिड्डियों का दल पूरी दिल्ली पहुंच सकता है. दिल्ली से सटे सोनीपत जिला के किसानों को डिप्टी कमिश्नर ने अलर्ट कर दिया है. उन्होंने आशंका जताई है कि ओचंडी बॉर्डर के पास खरखौदा में टिड्डी दल पहुंच सकता है. फिर खरखौदा से टिड्डी दल सोनीपत में शाम तक पहुंच सकता है. ऐसे में उन्होंने किसानों से अपील की है कि वे तेज आवाज करने वाले सभी यंत्र और सामान तैयार रखें.

रियल एस्टेट में हाउसिंग बोर्ड का दबदबा! प्रतापनगर में आयुष मार्केट की होगी ई-ऑक्शन

और पढ़ें

Most Related Stories

हरसिमरत कौर के इस्तीफे से दुष्यंत चौटाला पर बढ़ा दबाव, कांग्रेस ने कहा - किसानों से ज्यादा अपनी कुर्सी प्यारी

हरसिमरत कौर के इस्तीफे से दुष्यंत चौटाला पर बढ़ा दबाव, कांग्रेस ने कहा - किसानों से ज्यादा अपनी कुर्सी प्यारी

चंडीगढ़: कृषि विधेयकों को लेकर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले एनडीए में मतभेद साफ तौर पर उभरकर सामने आ गया है. कृषि विधेयक के खिलाफ हरियाणा और पंजाब के किसान आंदोलित हैं. इसी के चलते NDA में बीजेपी के सबसे पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के कोटे से मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने गुरुवार को इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद हरियाणा में बीजेपी की सहयोगी जननायक जनता पार्टी (JJP) पर साथ छोड़ने का दबाव बढ़ रहा है. ऐसे में जेजेपी प्रमुख डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला कशमकश में फंसे हुए हैं. 

{related}

दुष्यंत जी आपको भी डिप्टी सीएम से इस्तीफा दे देना चाहिए: 
वहीं इसी बीच कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी एक ट्वीट करते हुए कहा कि दुष्यंत जी हरसिमरत कौर बादल की तरह आपको भी कम से कम डिप्टी सीएम की पोस्ट से इस्तीफा दे देना चाहिए. आपको किसानों से ज्यादा अपनी कुर्सी प्यारी है. 

BJP, JJP नेता किसान से विश्वासघात करने में लगे हुए: 
कांग्रेस नेता व राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि पंजाब के अकाली दल, AAP ने संसद में कांग्रेस के साथ किसान विरोधी 3 अध्यादेशों का विरोध करने का साहस दिखाया, पर दुर्भाग्य कि हरियाणा के BJP, JJP नेता सत्ता-सुख के लिए किसान से विश्वासघात करने में लगे हुए हैं. जब पंजाब के सब दल किसान के पक्ष में एक हो सकते हैं तो हरियाणा BJP-JJP क्यूँ नहीं? अकाली हरसिमरत जी के इस्तीफे के बाद इस प्रश्न को और बल मिलता है- जब पंजाब के सारे दल किसान के पक्ष में एक होकर केंद्र के इन किसान-घातक अध्यादेशों के विरोध में आ सकते हैं तो हरियाणा के सत्तासीन BJP-JJP नेता क्यूँ किसान से विश्वासघात कर रहे हैं? किसान-हित से ऊपर सत्ता-लोभ.

खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार जेजेपी के सहयोग से चल रही: 
बता दें कि हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार जेजेपी के सहयोग से चल रही है. जेजेपी का राजनीतिक आधार ग्रामीण इलाके और किसानों पर टिका हुआ है, क्योंकि चौधरी  देवीलाल किसान नेता के तौर पर देश भर जाने जाते थे. किसानों की नाराजगी और राजनैतिक नुकसान को देखते हुए जेजेपी ने लाठीचार्ज को लेकर किसानों से माफी मांगी है. दुष्यंत चौटाला के छोटे भाई दिग्विजय चौटाला ने कहा, 'किसानों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर जेजेपी माफी मांगती है. जेजेपी हमेशा किसानों के साथ है और किसानों के हित की बात पार्टी के लिए सबसे ऊपर है. 

सीएम दुष्यंत चौटाला कृषि संबंधी विधेयक के समर्थन में:
जेजेपी प्रमुख और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला कृषि संबंधी विधेयक के समर्थन में हैं और कांग्रेस पर किसानों को बहकाने का आरोप लगा रहे हैं. दुष्यंत चौटाला ने अभी तक इस किसान विधेयक का विरोध नहीं किया है, लेकिन यह जरूर कहा है कि इसमें एमएसपी का जिक्र होना चाहिए.
 

कोरोना को हराने के बाद सीएम खट्टर पहुंचे चंडीगढ़, कहा-कोरोना से डरने की नहीं, बल्कि सतर्क रहने की जरूरत

 कोरोना को हराने के बाद सीएम खट्टर पहुंचे चंडीगढ़, कहा-कोरोना से डरने की नहीं, बल्कि सतर्क रहने की जरूरत

नई दिल्ली: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद चंडीगढ़ लौट आए. मनोहर लाल खट्टर ने लोगों से सुरक्षित रहने के लिए मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते रहने की अपील की. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से डरने की नहीं बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है. 

24 अगस्त को पाये गए थे कोरोना सं​क्रमित:
आपको बता दें कि मनोहर लाल खट्टर को विधानसभा का एक दिवसीय मॉनसून सत्र शुरू होने से 2 दिन पहले 24 अगस्त को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था.कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए जाने से 3 दिन पहले खट्टर (66) ने बुखार और बदन दर्द की शिकायत की थी. उन्हें 25 अगस्त को अस्पताल ले जाया गया था, जहां वे 17 दिन तक भर्ती रहे. संक्रमण से उबरने के बाद उन्होंने कुछ दिन तक गुड़गांव में पीडब्ल्यूडी के विश्राम गृह में आराम किया. 

{related}

अभी 10 दिन और थोड़ा रहेगा परहेज:
सीएम खट्टर ने कहा कि मैं 24 अगस्त को कोरोना से प्रभावित हुआ था और आज पूरी तरह स्वस्थ होकर वापस चंडीगढ़ लौट रहा हूं. मैं सभी लोगों का धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस समय मेरे लिए शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा कि लोगों से मिलने-जुलने के लिए अभी 10 दिन और थोड़ा परहेज रहेगा.

दुश्मनों को पस्त करने वाला राफेल वायुसेना में शामिल, अंबाला एयरबेस पर किया फ्लाईपास्ट

दुश्मनों को पस्त करने वाला राफेल वायुसेना में शामिल, अंबाला एयरबेस पर किया फ्लाईपास्ट

अंबाला: भारत और चीन में सीमा पर जारी गतिरोध के बीच आज पांच राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप अंबाला एयरबेस पर औपचारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल हो गई. ये विमान वायुसेना के 17वें स्क्वाड्रन, "गोल्डन एरो" का हिस्सा होंगे. अंबाला में ही राफेल फाइटर जेट्स की पहली स्क्वाड्रन तैनात होगी. इस स्क्वाड्रन में 18 राफेल लड़ाकू विमान, तीन ट्रैनर और बाकी 15 फाइटर जेट्स होंगे.

कार्यक्रम में फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ली ने हिस्सा लिया:
इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ली सहित चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, वायुसेनाध्यक्ष आरकेएस भदौरिया सहित अन्य लोगों ने हिस्सा लिया. लंबी राजनीतिक बहस और प्रक्रिया पूरे होने के बाद राफेल लड़ाकू विमान भारत पहुंचे हैं, जो अत्याधुनिक तकनीक के साथ वायुसेना में शामिल हुए हैं. 

{related}

सभी धर्मों के गुरुओं ने अंबाला एयरबेस पर पूजा की:
भारतीय वायुसेना की प्रक्रिया के तहत सभी धर्मों के गुरुओं ने अंबाला एयरबेस पर पूजा की. इसके बाद विधिवत रूप से राफेल को बल में शामिल किया. इस दौरान जवानों की सलामती के लिए भी दुआएं मांगी गई. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ली ने राफेल लड़ाकू विमानों के फ्लाईपास्ट को देखा. 

राफेल विमान की रफ्तार ध्वनि की गति से दोगुना:
राफेल विमान की रफ्तार 2130 किमी प्रति घंटा है, यानी ध्वनि की गति से दोगुना. यह परमाणु हमले में भी सक्षम है. राफेल की नोज पर लगी मल्टी डायरेक्शनल रडार 100 किमी की रेंज में 40 से अधिक टारगेट निशाने पर ले सकता है. इसमें लगा एक टन का कैमरा इतना ताकतवर है कि जमीन पर पड़ी क्रिकेट बॉल तक की फोटो ले सकता है. 

राफेल अत्याधुनिक हथियारों और मिसाइलों से लैस: 
राफेल अत्याधुनिक हथियारों और मिसाइलों से लैस हैं. सबसे खास है दुनिया की सबसे घातक समझे जाने वाली हवा से हवा में मार करने वाली मेटयोर (METEOR) मिसाइल. ये मिसाइल चीन तो क्या किसी भी एशियाई देश के पास नहीं है. यानी राफेल प्लेन वाकई दक्षिण-एशिया में गेम-चेंजर साबित हो सकता है.


 

हरियाणा सरकार का फैसला, अब राज्य में नहीं होगा सोमवार और मंगलवार को लॉकडाउन

हरियाणा सरकार का फैसला, अब राज्य में नहीं होगा सोमवार और मंगलवार को लॉकडाउन

हरियाणा: कोरोना संकट के बीच देशभर में अनलॉक 4 शुरू हो गया है. केन्द्र सरकार ने अनलॉक 4 की गाइडलाइन जारी की है. हरियाणा सरकार केन्द्र सरकार की ओर से अनलॉक 4 की गाइडलाइन जारी होने के बाद बड़ा फैसला लिया है. राज्य में होने वाला सोमवार और मंगलवार को लॉकडाउन अब नहीं होगा. सप्ताह में सातों दिन बाजार खुल सकेंगे.

गृहमंत्री अनिल विज ने ट्वीट करके दी जानकारी:
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने ट्वीट करके यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि राज्य में अब कोई लॉकडाउन नहीं होगा. जब केंद्र सरकार की गाइडलाइन आ गई है तो राज्य सरकार का कोई अधिकार नहीं है कि लॉकडाउन लगाया जाए.केंद्र सरकार ने अनलॉक 4 में प्रदेश सरकारों को लॉक डाउन करने का अधिकार नही दिया है इसलिए हरियाणा सरकार का 28 अगस्त का सोमवार और मंगलवार को बाज़ार बंद रखने का आदेश वापिस ले लिया है. इसलिए अब कोई लॉक डाउन नहीं होगा.

{related}

हरियाणा सरकार ने वापस लिया लॉकडाउन के आदेश:
आपको बता दें कि हरियाणा सरकार ने कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए सरकार ने पहले वीकेंड लॉकडाउन, फिर सोमवार और मंगलवार के दिन लॉकडाउन लगाने के आदेश जारी किए थे. जिसे अब हरियाणा सरकार ने वापस ले लिया है. अब हरियाणा में किसी भी तरह का कोई लॉकडाउन नहीं है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी 

 हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी 

नई दिल्ली: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मुख्यमंत्री खट्टर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मैंने कोरोना का टेस्ट आज करवाया. मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने ट्वीट में लिखा, 'आज मेरा कोरोना टेस्ट किया गया था. मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.  मैं अपने सभी सहकर्मियों और सहयोगियों से अपील करता हूं कि अगर वे मेरे संपर्क में आए हैं तो वे अपना टेस्ट करवाएं. मैं अपने करीबियों से अपील करता हूं कि वे तुरंत खुद को क्वारंटीन कर लें.

गणेश घोघरा पदभार ग्रहण समारोह, सीएम गहलोत बोले, मुझे खुशी है कि एक नई जान यूथ कांग्रेस में आ गई

इससे पहले हरियाणा विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. रविवार की रात उन्हें सांस लेने में परेशानी हुई तो अस्पताल में भर्ती करवाया गया. उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव मिला. वहीं दूसरी ओर विधानसभा के 6 नियमित के अलावा 3 कांट्रेक्ट कर्मचारी भी संक्रमित हैं. 26 अगस्त से शुरू होने वाले विधानसभा के मानसून सत्र के लिए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के कोरोना टेस्ट के लिए विधानसभा सचिवालय में विशेष कैम्प का आयोजन किया गया था. 

तीन सौ वर्ष में पहली बार नहीं भरेगा भादरवीं पूर्णिमा का मेला, अंबाजी मंदिर में इस बार नहीं भरेगा भादरवीं पूर्णिमा का महाकुंभ

दिल्ली-NCR में बारिश से कई इलाकों में जलभराव, गुरुग्राम में सड़कों पर भरा पानी, आमजन हुए परेशान

 दिल्ली-NCR में बारिश से कई इलाकों में जलभराव, गुरुग्राम में सड़कों पर भरा पानी, आमजन हुए परेशान

नई दिल्ली: भादो में दिल्ली-एनसीआर में मेघ जमकर बरसे, जिसकी वजह से हर तरफ सड़क पर पानी भर गया. गुरुवार सुबह हुई तेज बारिश से सडकों पर पानी भर गया. आमजन को समस्याओं को सामना करना पड़ा. मौसम विभाग (आईएमडी) ने पहले ही चेतावनी दी थी कि निचले इलाकों में पानी भर सकता है. 

बारिश के पानी में फंसे लोग:
आईएमडी के मुताबिक अरब सागर से दक्षिण-पश्चिमी हवाएं और बंगाल की खाड़ी से दक्षिण-पूर्वी हवाएं एनसीआर में बारिश करा रही हैं. गुड़गांव में तेज बारिश की वजह से सड़क पर चलने लगी नाव. लोग अपने घरों में फंस गए और उन्हें निकालने के लिए नाव लाना पड़ा. 

बाबा रामदेव समाधि का हुआ पंचामृत से अभिषेक, चादर चढ़ा कर किया स्वर्ण मुकुट स्थापित, कोरोना की वजह से मेला स्थगित 

कई सड़कों पर यातायात को पूरी तरह रोकना पड़ा:
हरियाणा के गुरुग्राम में इतनी बारिश हुई है कि कई रिहायशी इलाकों में बारिश का पानी भर गया. लोग नावों पर सवार होकर बाहर निकले. गुड़गांव के कई अंडरपास में इतना पानी भर गया कि वहां से पानी निकालने के लिए भारी मशीनों को लगाना पड़ा. तेज बारिश की वजह से कई सड़कों पर यातायात को पूरी तरह रोक देना पड़ा. गुरुग्राम पुलिस ने आमजन से जरूरी काम होने पर ही लोग निकले घरों से बाहर निकलने की अपील की है.

राजीव गांधी की जयंती: PCC में हुआ पुष्पांजलि कार्यक्रम का आयोजन, गोविन्द डोटासरा ने दी श्रद्धांजलि

अब फिर से ​हरियाणा रोडवेज बस में बैठेगी पूरी सवारियां, इन गाइडलाइन का करना होगा पालन

अब फिर से ​हरियाणा रोडवेज बस में बैठेगी पूरी सवारियां, इन गाइडलाइन का करना होगा पालन

नई दिल्ली: हरियाणा रोडवेज की बसें फिर से पूरी सवारियां भरकर चलाई जाएगी. यह फैसला हरियाणा सर​कार ने लिया है.परिवहन विभाग ने सभी डिपो के महाप्रबंधकों को गुरुवार  को यह निर्देश दिए है. 52 सीटों की क्षमता वाली बसें अभी 35 सवारियां ही लेकर चल रही थीं. लेकिन फिर से अब पूरी सवारियों के साथ बसें चलेंगी. हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस के बीच ये बड़ा फैसला लिया है. 

आईसीसी का फैसला, अब भारत में होगा 2021 का ICC टी-20 विश्वकप 

निदेशक, परिवहन ने डिपो महाप्रबंधकों को भेजे पत्र ये निर्देश दिए.
-सरकार के फैसले मुताबिक अब 52 सवारियों के साथ सेवा दी जाएंगी. 
-बस में चढ़ने से पहले सभी सवारियों की स्क्रीनिंग की जाए. 
-बिना मास्क किसी को बस में प्रवेश नहीं दिया जाए. 
-बसों को हर रोज सैनिटाइज किया जाए. 
-कोविड-19 की गाइडलाइन का पूरा पालन किया जाएं.

अभी राजस्थान और उत्तर प्रदेश के लिए ही बसों का संचालन:
सभी महाप्रबंधक सरकार के फैसले के मुताबिक प्रदेश में सभी रूट पर बसों का संचालन करें. सवारियों की संख्या को मद्देनजर रखते हुए ही बसें चलाई जाएं. अभी हरियाणा से बाहर राजस्थान और उत्तर प्रदेश के लिए ही बसों का संचालन किया जा रहा है. अन्य प्रदेशों से बस संचालन के लिए अभी एनओसी नहीं मिली है. कोरोना की वजह से और  डीजल के दाम बढ़ने पर रोडवेज को अब तक 900 करोड़ से अधिक का राजस्व घाटा हो चुका है. सरकार अन्य राज्यों से एनओसी मिलने पर ही रोडवेज बसों का संचालन शुरू करेगी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े फैसले, पुलिस विभाग में चतुर्थ श्रेणी के 326 पदों पर होगी सीधी भर्ती

अब हरियाणा में बनेंगे परिवार पहचानपत्र, मिलेगा सरकारी योजनाओं का लाभ

अब हरियाणा में बनेंगे परिवार पहचानपत्र, मिलेगा सरकारी योजनाओं का लाभ

नई दिल्ली: हरियाणा सरकार ने प्रदेश के आमजन को सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए अब परिवार पहचान पत्र की शुरूआत की है. जिससे अब हरियाणा के आजमन को अनेक दस्तावेजों को संभालने की आवश्यकता नहीं होगी, बल्कि उनकी जगह अब परिवार पहचान पत्र एक नया दस्तावेज बनाया जाएगा. इसमें परिवार सहित बाकी दस्तावेजों की एकीकृत जानकारी होगी. इसके माध्यम से लोग सरकार के साथ पत्राचार और संवाद करेंगे. मंगलवार को पंचकूला में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने परिवार पहचान पत्र वितरित कर योजना का शुभारंभ किया. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के सभी जिलों में इनका वितरण किया गया. फरीदाबाद में केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने इस बैठक की अध्यक्षता की. 

देश की अर्थव्यवस्था अब सुधर रही, रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

वर्तमान में चल रही है 4 योजनाएं:
वर्तमान में 4 योजनाएं - मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना, वृद्धावस्था सम्मान भत्ता योजना, दिव्यांग जन पेंशन योजना और विधवा एवं निराश्रित महिला पेंशन योजना - को परिवार पहचान पत्र के साथ जोड़ा गया है. सीएम मनोहर लाल खट्टर ने घोषणा की कि अगले 3 माह के भीतर राज्य के सभी सरकारी विभागों की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं को परिवार पहचान पत्र से जोड़ा जाएगा.

20 लाभार्थियों को परिवार पहचानपत्र वितरित:
एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि मनोहर लाल खट्टर ने पंचकूला में एक कार्यक्रम में 20 लाभार्थियों को परिवार पहचानपत्र वितरित किए. इस मौके पर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला और केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया भी उपस्थित थे.

टीवी अभिनेता समीर शर्मा ने की आत्महत्या, पंखे से लटका मिला शव, जांच में जुटी मुंबई पुलिस  

Open Covid-19