अब UP में भी ब्लैक फंगस की दस्तक: मथुरा में बुजुर्ग महिला की आंखों की रोशनी गई, कोरोना से उबरने के 5 दिन बाद दिखे लक्षण

अब UP में भी ब्लैक फंगस की दस्तक: मथुरा में बुजुर्ग महिला की आंखों की रोशनी गई, कोरोना से उबरने के 5 दिन बाद दिखे लक्षण

अब UP में भी ब्लैक फंगस की दस्तक: मथुरा में बुजुर्ग महिला की आंखों की रोशनी गई, कोरोना से उबरने के 5 दिन बाद दिखे लक्षण

मथुरा: महाराष्ट्र के बाद अब उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी (Covid Epidemic) के बीच ब्लैक फंगस का प्रकोप तेजी से फैल रहा है. ताजा मामला मथुरा का है. यहां एक बुजुर्ग महिला की आंखों की रोशनी ब्लैक फंगस (Black Fungus) के चलते चली गई. वह कोरोना से उबर चुकी थी. परिवार के लोग अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं.

कोरोना को मात देते ही म्यूकरमाइकोसिस ने जकडा:
वृंदावन (Vrindavan) के बनखंडी क्षेत्र निवासी 72 वर्षीय महिला को ब्लैक फंगस की समस्या सामने आई है. 23 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद उन्हें राम कृष्ण मिशन अस्पताल (Ram Krishna Mission Hospital) में भर्ती कराया था. 9 मई को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद महिला को घर भेज दिया गया. अस्पताल से आने के बाद से महिला को आंखों से दिखना बंद हो गया. इसके बाद परिवार के लोग अस्पतालों के चक्कर लगा रहे हैं.

जिले में ब्लैक फंगस के केस की विभाग को नहीं है जानकारी:
जिले में ब्लैक फंगस के मामले की अभी विभाग को जानकारी नहीं है. फिर भी इस संबंध में जानकारी जुटाई जाएगी. कोविड 19 प्रभारी डॉ. भू देव (Covid 19 Incharge Dr. Bhoo Dev) ने बताया की अभी वह जानकारी जुटा रहे हैं. वृंंदावन में बुजुर्ग महिला के परिजनों से बात हुई हैं. अन्य केसों के भी बारे में जानकारी जुटा रहे हैं.

परिजनों ने जताया इलाज में लापरवाही का आरोप:
बुजुर्ग महिला के बेटे योगेंद्र ने बताया कि उन्होंने राम कृष्ण मिशन हॉस्पिटल में इस उम्मीद के साथ भर्ती कराया था कि वहां इलाज बेहतर होगा. लेकिन अस्पताल में ज्यादा ऑक्सीजन (Oxygen) देने के कारण उनकी मां की आंखों की रोशनी चली गयी.

कानपुर में ब्लैक फंगस के सबसे अधिक रोगी:
अधिकारियों के मुताबिक, कानपुर (Kanpur) में 51, गोरखपुर (Gorakhpur) में 16, लखनऊ (Lucknow) में 8, मेरठ (Meerut) में 5 और वाराणसी-झांसी में 3-3, हापुड़ और मथुरा व गाजियाबाद में एक-एक मरीज मिले हैं. बीते एक सप्ताह के अंदर देशभर में ब्लैक फंगस के मामले सामने आए हैं. इसके बाद राज्य सरकारें अलर्ट हो गई हैं. योगी सरकार (Yogi Sarkar) ने भी स्वास्थ्य विभाग (Health Department) को अलर्ट किया है. वहीं, लखनऊ में एक और कानपुर में दो रोगियों की मौत भी हो चुकी है.

और पढ़ें