आसाराम को जेल की सलाखों के पीछे भेजने की कहानी अब किताब में,  IPS अजयपाल लांबा ने लिखी पुस्तक

आसाराम को जेल की सलाखों के पीछे भेजने की कहानी अब किताब में,  IPS अजयपाल लांबा ने लिखी पुस्तक

जयपुर: 25 अप्रैल 2018 को जोधपुर की अदालत ने देश के ख्यातनाम संत आसाराम को नाबालिग बच्ची से रेप के मामले में दोषी करार देते हुए आजीवन उम्रकैद की सजा सुनायी थी.देश के इस बहुचर्चित मामले में आसाराम को सलाखों के पीछे पहुंचाने और उसके खिलाफ सबूत जुटाने में सीनियर पुलिस अधिकारी अजयपाल लांबा की अहम भूमिका रही है. लांबा ने इस केस को हाथ में लिया तो कई मुश्किलों का उन्हें सामना करना पड़ा.कई चुनौतियों के बावजूद 5 साल तक चले केस को अपने अंजाम तक पहुंचाने में अजयपाल लांबा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी.

90 रुपए प्रति लीटर के और नजदीक पहुंचा पेट्रोल, जानिए पेट्रोल और डीजल के आज के दाम

एक बार फिर से आसाराम केस की चर्चा:
फैसले के करीब सवा दो साल बाद अब आईपीएस अजयपाल लांबा जयपुर में तैनात है.लेकिन एक बार फिर से आसाराम केस की चर्चा हो रही है क्योकि आईपीएस अजयपाल लांबा ने इस केस में अपने अनुभव साझा करने के लिए एक किताब लिखी है.5 सितंबर को शिक्षक दिवस के मौके पर गनिंग फार द गॉडमैन ये पुस्तक बाजार में उपलब्ध होगी.रिलीज होने से पहले ही ब्यूरोक्रेसी से राजनीति,न्यायपालिका से लेकर आम लोगो में भी इस किताब को लेकर उत्सुकता बनी है.इस पुस्तक को लेकर खास बातचीत कि निजाम कण्टालिया ने.

Covid-19: रूस ने बनाई कोरोना वायरस की एक और वैक्सीन, रूस का दावा, कोई साइड इफेक्ट नहीं  

-एक ऐसे आरोपी संत की कहानी जिसे लोग भगवान समझते थे
-आईपीएस अजयपाल लांबा ने लिखी गनिंग फॉर द गॉडमैन
-बुक के लिए आईपीएस लांबा को मिली सरकार से हरी झण्डी
-दिल्ली के कमलानगर थाने में दर्ज हुई थी जीरो एफआईआर
-21 अगस्त 2013 को जोधपुर पुलिस को मिली थी जिम्मेदारी
-11 दिन बाद 1 सितंबर को किया गया था आसाराम को गिरफतार
-जोधपुर पुलिस ने आसाराम को गिरफतार करने की बनायी थी एक बड़ी रणनीति
-आसाराम को पकड़ने गयी टीम से मुकता पारीक रह गयी भीड़ के बीच
-सुनवाई के दौरान गवाहो की मौत से आसान नही था अंंजाम तक पहुंचना
-25 अप्रैल 2018 को जोधपुर की अदालत ने सुनायी आसाराम को सजा
-सजा सुनाने वाले जज का पिछा करती थी महाराष्ट्र नंबर की एक गाड़ी
-नारायण सामी की गुजरात में गिरफतारी के समय के कई राज अब भी अनसुलझे
-क्या पुलिस की सूचना पर इंकम टैक्स विभाग ने मारा थां पांच सितारा होटल पर छापा
-क्या देश के एक ख्यातनाम वकील की इंकम टैक्स विभाग ने ली थी तलाशी
-क्या आसाराम केस में ज्यूडिशरी को प्रभावित करने के भी हुए थे प्रयास 

और पढ़ें