जयपुर VIDEO: जयपुर में अब ई रिक्शों के चलते नहीं होगा ट्रैफिक जाम, RTO की टीम ने ई-रिक्शा परिवहन जॉन किया तैयार, देखिए खास रिपोर्ट

VIDEO: जयपुर में अब ई रिक्शों के चलते नहीं होगा ट्रैफिक जाम, RTO की टीम ने ई-रिक्शा परिवहन जॉन किया तैयार, देखिए खास रिपोर्ट

जयपुर: राजधानी में चलने वाले ई-रिक्शा जयपुर के लोगों के लिए मुसीबत बने हुए हैं क्योंकि इन ई रिक्शाओं की वजह से शहर के अलग-अलग इलाकों में हर रोज यातायात जाम की समस्या रहती है. लेकिन अब जयपुर आरटीओ ने इस समस्या का समाधान ढूंढ लिया है जल्दी जयपुर शहर के लोगों को इससे निजात मिलने वाली है. 

बीते दिनों जिस तरह से जयपुर शहर में की रिक्शाओं की संख्या बढ़ी है. उसका असर जयपुर शहर के ट्रैफिक पर देखने को मिला है राजधानी के अधिकतर इलाकों में ई रिक्शा के कारण यातायात जाम की समस्या बढ़ती जा रही है खासकर चारदीवारी के इलाकों में ई-रिक्शा ट्रैफिक जाम का सबसे बड़ा कारण बन रहे हैं यूं तो ई-रिक्शा आसपास के इलाकों में जाने के लिए लोगों के लिए अच्छा साधन है लेकिन बेतरतीब तरह से चलने के कारण यह ई रिक्शा सबसे अधिक यातायात को प्रभावित कर रहे है. पिछले काफी समय से ई-रिक्शाओ के बेहतर संचालन के लिए प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन यातायात पुलिस और परिवहन विभाग को इसमें कोई खास सफलता नहीं मिली थी अब जयपुर आरटीओ राजेश शर्मा ने इस समस्या का स्थाई समाधान ढूंढ लिया है आरटीओ के निर्देशों के बाद उनकी टीम ने, राजधानी में ई रिक्शा संचालन का पूरा खाका तैयार कर लिया है जिससे शहर में कम से कम ई रिक्शा की वजह से ट्रैफिक जाम नहीं होगा, बेहतर संचालन के लिए जयपुर आरटीओ की टीम ने ई-रिक्शा परिवहन जॉन तैयार किया है इस ई रिक्शा परिवहन जोन का ड्राफ्ट तैयार कर लिया गया है जिसे जल्द ही मंजूरी मिलने की संभावना है, ई-रिक्शा परिवहन जॉन के लिए जयपुर आरटीओ ने नगर निगम ग्रेटर और नगर निगम हेरिटेज में इलाकों का निर्धारण किया है, मंजूरी मिलने के बाद जिस ई-रिक्शा को जिस जोन के लिए चिन्हित किया जाएगा वहीं रिक्शा उसी जोन और नगर निगम के वार्डों में संचालित हो सकेगा खास बात यह है कि अलग-अलग जोन में चलने वाले ई रिक्शा को जयपुर आरटीओ ने अलग-अलग रंग दिए हैं जिससे ई-रिक्शा की आसानी से पहचान हो सकेगी.
जयपुर आरटीओ ने ई-रिक्शा के संचालकों के लिए जो ई-रिक्शा परिवहन जोन तैयार किया है उसमें हर जोन को जयपुर आरटीओ ने एक कोड दिया है. इस कोड  को जोन में चलने वाले ई रिक्शा के ऊपर अंकित किया जाएगा. जोन का चयन जयपुर आरटीओ की टीम ने वार्ड नंबरों के हिसाब से किया है. जयपुर नगर निगम ग्रेटर में जयपुर आरटीओ ने 6 जोन बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है वहीं हेरिटेज नगर निगम में 4 जोन बनाए गए हैं.

ई-रिक्शा परिवहन जॉन का ड्राफ्ट

1- नगर निगम ग्रेटर में जयपुर आरटीओ ने ई-रिक्शा परिवहन जून के लिए 6 जोन चिन्हित किए हैं

मुरलीपुरा और विद्याधर नगर जोन को मिलाकर विद्याधर नगर जॉन बनाया गया है जिसमें कुल 21 वार्ड हैं

यहां चलने वाले ई रिक्शा के लिए आसमानी हल्का नीला कलर चयनित किया गया है इस जोन को को G वन नाम दिया गया है

नगर निगम ग्रेटर में ही झोटवाड़ा जोन बनाया गया है जिसमें कुल 22 वार्ड होंगे यहां चलने वाले ई रिक्शा के लिए लाल कलर तय किया गया है,,,इस जोन को G2  नाम दिया गया है

नगर निगम ग्रेटर में  सांगानेर जोन बनाया गया है जिसमें 20 वार्ड  है यहां चलने वाले ई रिक्शा के लिए नारंगी कलर तय किया गया है,,इस जोन को G3 नाम दिया गया है

नगर निगम ग्रेटर के लिए मानसरोवर जोन बनाया गया है जिस में19 वार्ड शामिल किए गए हैं,,, मानसरोवर जोन के लिए पीला कलर तय किया गया है इस जोन को G4  नाम दिया गया है

नगर निगम ग्रेटर में जगतपुरा जोन बनाया गया है जिसमें 21 वार्ड हैं यहां चलने वाले ई रिक्शा के लिए भूरा कलर तय किया गया है इस जोन को G5 नाम दिया गया है

ग्रेटर नगर निगम में मालवीय नगर जोन बनाया गया है यहां कुल 26 वार्ड हैं,,यहां के लिए हरा कलर तय हुआ है ईस जोन को G6 नाम दिया गया है

हेरिटेज नगर निगम के लिए जयपुर आरटीओ ने 4 जोन तय किये हैं

हवामहल जोन इसमें कुल 30 वार्ड हैं यहां चलने वाले रिक्शा के लिए ग्रे कलर तय किया गया है इस जोन को  G 1 नाम दिया गया है

हेरिटेज नगर निगम में सिविल लाइन जोन बनाया गया है जिसमें कुल 24 वार्ड हैं,, यह चलने वाले ई रिक्शा के लिए मेहरूम कलर तय हुआ है इस जोन को H2 नाम दिया गया है

हेरिटेज नगर निगम में किशनपोल जोन बनाया गया है इसमें सिविल लाइंस का कुछ इलाका भी शामिल किया गया है यहां कुल 21 वार्ड है,,, यहां चलने वाले ई-रिक्शा का कलर गुलाबी होगा और यहां का कोड H3 होगा

एयरटेल नगर निगम में आदर्श नगर जोन बनाया गया है जिसमें कुल 25 बार यहां चलने वाले ई रिक्शा का कलर नीला और रॉयल ब्लू होगा और इसका कोड h4 होगा

और पढ़ें