देहरादून स्वतंत्रता के बाद प्रत्येक चुनाव में सत्ता का सुगम हस्तांतरण भारतीय लोकतंत्र का विशिष्ट गुण: बिरला

स्वतंत्रता के बाद प्रत्येक चुनाव में सत्ता का सुगम हस्तांतरण भारतीय लोकतंत्र का विशिष्ट गुण: बिरला

स्वतंत्रता के बाद प्रत्येक चुनाव में सत्ता का सुगम हस्तांतरण भारतीय लोकतंत्र का विशिष्ट गुण: बिरला

देहरादूनः लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को कहा कि भारत में स्वतंत्रता के बाद 17 आम चुनावों तथा 300 से अधिक विधानसभा चुनावों में सत्ता का सुगम हस्तांतरण भारतीय लोकतंत्र का विशिष्ट गुण रहा है. उन्होंने कहा कि शासन के केंद्र में लोगों का होना संविधान की मूल अवधारणा रहा है और इससे लोकतंत्र में नागरिकों का विश्वास गहरा हुआ है.

ओम बिरला ने ग्राम पंचायत को बताया बतया भारतीय लोकतंत्र मुख्य शक्तिः
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने यह भी कहा कि पंचायती राज संस्थाओं को मजबूत किए बिना और उन्हें लोगों के प्रति अधिक जवाबदेह बनाए बिना देश सशक्त नहीं हो सकता. पंचायत प्रतिनिधियों को संसद की कार्यप्रणाली और लोकतांत्रिक सिद्धांतों से परिचित कराने से संबंधित कार्यक्रम में बिरला ने यहां कहा कि भारतीय लोकतंत्र की शक्ति के पीछे ग्राम पंचायत मुख्य शक्ति हैं.

ओम बिरला ने कहा- हमने पंचायत से लेकर संसद तक लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए प्रयास किएः
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि 17 आम चुनावों और 300 से अधिक विधानसभा चुनावों के बाद सत्ता का सुगम हस्तांतरण हमारे लोकतंत्र की विशिष्टता रहा है. हमने पंचायत से लेकर संसद तक लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए प्रयास किए हैं.
सोर्स भाषा

और पढ़ें