नई दिल्ली कांग्रेस में लागू रहेगा एक व्यक्ति-एक पद सिद्धांत ! आज केरल में राहुल ने फिर से दोहराया यह 'कमिटमेंट'

कांग्रेस में लागू रहेगा एक व्यक्ति-एक पद सिद्धांत ! आज केरल में राहुल ने फिर से दोहराया यह 'कमिटमेंट'

कांग्रेस में लागू रहेगा एक व्यक्ति-एक पद सिद्धांत ! आज केरल में राहुल ने फिर से दोहराया यह 'कमिटमेंट'

नई दिल्ली: आज केरल में भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo yatra) के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक फिर एक व्यक्ति-एक पद सिद्धांत का 'कमिटमेंट' दोहराया है ! उदयपुर चिंतन शिविर में कांग्रेस ने यह प्रस्ताव पारित किया था. उधर केरल में ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (ashok gehlot) ने भी आगे बढ़कर यही बात कही. 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष दो पद पर काम नहीं कर सकता है. इसका अर्थ यह कि गहलोत भी इस सिद्धांत के अपवाद नहीं होंगे और 19 अक्टूबर को कांग्रेस अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद किसी भी समय इस्तीफा दे सकते हैं. अब 19 अक्टूबर के बाद ही नए मुख्यमंत्री के चयन की प्रक्रिया शुरू होगी.  लेकिन यदि गहलोत हो गए निर्विरोध निर्वाचित तो फिर यह प्रक्रिया एक अक्टूबर से ही शुरू हो सकती है. 

आपको बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज एक बार फिर मीडिया से मुखातिब हुए. इस दौरान उन्होंने 17 अक्तूबर को होने वाले कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी. उन्होंने कहा कि मैं अपने पुराने रुख पर कायम हूं और मैं चुनाव लड़ने नहीं जा रहा हूं. बता दें कि 2019 में लोकसभा चुनाव में बुरी तरह से हार के बाद उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. 

कोई भी कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं उन्हें याद रखना चाहिए कि वे एक ऐतिहासिक स्थान ले रहे:  
उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सिर्फ एक संगठनात्मक पद नहीं है, यह एक वैचारिक पद और एक विश्वास प्रणाली है. उन्होंने आगे कहा कि जो कोई भी कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं उन्हें याद रखना चाहिए कि वे एक ऐतिहासिक स्थान ले रहे हैं. एक ऐसा स्थान जो भारत के एक विशेष दृष्टिकोण को परिभाषित करती है. आप (कांग्रेस अध्यक्ष) विचारों के एक समूह का प्रतिनिधित्व करते हैं. 

 

और पढ़ें