सरसों की एक तिहाई बुवाई पूरी, 25 अक्टूबर तक करीब 75 फीसदी बुवाई होगी

सरसों की एक तिहाई बुवाई पूरी, 25 अक्टूबर तक करीब 75 फीसदी बुवाई होगी

सरसों की एक तिहाई बुवाई पूरी, 25 अक्टूबर तक करीब 75 फीसदी बुवाई होगी

जयपुर: प्रदेश में डीएपी संकट के बीच सरसों की बुवाई जोरों पर है.पूर्वी राजस्थान के भरतपुर, अलवर, धौलपुर, करौली, दौसा और सवाईमाधोपुर जिलों में सरसों की बुवाई का कार्य तेजी से किया जा रहा है.हालांकि इन जिलों में पिछले दिनों डीएपी संकट की वजह से सरसों की बुवाई का कार्य प्रभावित हो रहा था.

अब तक करीब 64 हजार मीट्रिक टन डीएपी मिला:
लेकिन पिछले दिनों कृषि मंत्री डॉ. लालचंद कटारिया द्वारा केन्द्रीय उर्वरक मंत्री से बातचीत करने के बाद इसका समाधान निकल सका है.इस माह के लिए केन्द्र सरकार ने राजस्थान को 68 हजार मीट्रिक टन डीएपी स्वीकृत किया था, इसमें से अब तक करीब 64 हजार मीट्रिक टन डीएपी मिल चुका है.

इस माह करीब 1 लाख मीट्रिक टन डीएपी मिलने की संभावना:
कृषि विभाग से जुड़े सूत्रों का कहना है कि इस माह करीब 1 लाख मीट्रिक टन डीएपी मिलने की संभावना है.डीएपी की आपूर्ति बढ़ने से प्रदेश में 30 लाख हैक्टेयर की सरसों बुवाई के लक्ष्य के विपरीत अब तक 10 लाख हैक्टेयर सरसों की बुवाई हो चुकी है.इसी तरह अब चना और गेहूं की बुवाई भी शुरू होने जा रही है.हालांकि गेहूं की बुवाई मुख्य रूप से दिवाली के आस-पास के दिनों में की जाएगी.

और पढ़ें