नई दिल्ली राहुल गांधी समेत विपक्षी नेताओं ने निकाला साइकिल मार्च, सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

राहुल गांधी समेत विपक्षी नेताओं ने निकाला साइकिल मार्च, सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

राहुल गांधी समेत विपक्षी नेताओं ने निकाला साइकिल मार्च, सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

नई दिल्ली: कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में कांग्रेस समेत 15 विपक्षी दलों की बैठक के बाद सरकार के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए आज लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसद साइकिल पर सवार होकर संसद भवन पहुंचे. इससे पहले बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि विपक्षी पार्टियां आपस में बहस कर सकती हैं. पेट्रोल-डीज़ल के मसले पर हम सभी को आवाज़ उठानी चाहिए, हम यहां से संसद तक साइकिल मार्च कर सकते हैं. 

उसके बाद राहुल गांधी समेत अन्य कांग्रेसी सांसद व दूसरे दलों के सांसद भी कॉन्सटीट्यूशन क्लब से संसद तक साइकिल से गए. विपक्ष के हंगामे के बीच राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित हो गई. हालांकि हंगामे के बीच लोकसभा कार्यवाही अभी जारी है. 

कई प्रमुख विपक्षी दलों के नेता नाश्ते पर कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में मिले:
इससे पहले पेगासस जासूसी मामले पर चर्चा की मांग कर रहे विपक्षी दलों के हंगामे के कारण संसद में बने गतिरोध के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने विपक्ष के नेताओं के साथ मिलकर सरकार को घेरने और दबाव बनाने की रणनीति पर मंगलवार को चर्चा की. राहुल गांधी के न्योते पर कई प्रमुख विपक्षी दलों के नेता नाश्ते पर कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में मिले.

आम आदमी पार्टी और बसपा का कोई नेता इस बैठक में नहीं पहुंचा:
बैठक में राहुल गांधी के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, तृणमूल कांग्रेस के नेता कल्याण बनर्जी, शिवसेना के नेता संजय राउत, राजद के मनोज झा और कई अन्य दलों के नेता शामिल हुए. जानकारी के अनुसार आम आदमी पार्टी और बसपा का कोई नेता इस बैठक में नहीं पहुंचा है. 

पिछले कई दिनों से संसद के दोनों सदनों में गतिरोध बना हुआ:
कांग्रेस नेता ने विपक्षी नेताओं के साथ नाश्ते पर ऐसे समय बैठक की है जब पेगासस और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर पिछले कई दिनों से संसद के दोनों सदनों में गतिरोध बना हुआ है. 19 जुलाई से मॉनसून सत्र आरंभ हुआ था. लेकिन, अब तक दोनों सदनों की कार्यवाही बाधित रही है.

चर्चा कराने के लिए सरकार के तैयार होने के बाद ही संसद में गतिरोध खत्म होगा:
विपक्षी दलों का कहना है कि पेगासस जासूसी मुद्दे पर पहले चर्चा कराने के लिए सरकार के तैयार होने के बाद ही संसद में गतिरोध खत्म होगा. संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने विपक्ष की मांग को खारिज करते हुए शुक्रवार को लोकसभा में कहा था कि यह कोई मुद्दा ही नहीं है. 


 

और पढ़ें