नई दिल्ली तीन केंद्रीय कृषि कानूनों और कई मुद्दों को लेकर विपक्षी सदस्यों का हंगामा, लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

तीन केंद्रीय कृषि कानूनों और कई मुद्दों को लेकर विपक्षी सदस्यों का हंगामा, लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

तीन केंद्रीय कृषि कानूनों और कई मुद्दों को लेकर विपक्षी सदस्यों का हंगामा, लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

नई दिल्ली: पेगासस जासूसी मामला, तीन केंद्रीय कृषि कानूनों और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण शुक्रवार को लोकसभा की कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद दोपहर करीब 12 बजकर 25 मिनट पर दिन भर के लिये स्थगित कर दी. विपक्षी सदस्यों की नारेबाजी के बीच ही सदन ने कराधान विधि (संशोधन) विधेयक, 2021 और केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2021 को मंजूरी दी.

आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने 76 वर्ष पहले जापान के शहर हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिराये जाने की घटना का उल्लेख किया. बिरला ने कहा कि इस घटना में दोनों शहरों में हजारों लोगों की मृत्यु हो गई और सैकड़ों लोग पंगुता के शिकार हुए. इसके कारण हुए परमाणु विकिरण के दुष्प्रभाव से आज भी लोग प्रभावित हैं. लोकसभा अध्यक्ष ने कहा ‘‘ आइये, हम नरसंहार के हथियारों को नष्ट करने और विश्व में शांति एवं भाइचारे को बढ़ावा देने का संकल्प लें. 

इसके बाद अध्यक्ष ने सदन को तोक्यो ओलंपिक में पहलवान रवि कुमार दहिया द्वारा पुरुषों के 57 किग्रा भार वर्ग में रजत पदक जीतने की जानकारी दी. उन्होंने अपनी और सदन की ओर से पहलवान रवि कुमार दहिया को बधाई दी. इसके बाद बिरला ने जैसे ही प्रश्नकाल शुरू करवाया, तो कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के समीप आ गए. कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने अपने स्थान पर खड़े होकर विरोध जताया. हंगामे के बीच ही केंद्रीय मंत्रियों भारती प्रवीण पवार, भूपेन्द्र यादव, स्मृति ईरानी ने संबंधित मंत्रालयों से जुड़े पूरक प्रश्नों के उत्तर दिए.

लोकसभा अध्यक्ष ने विपक्षी सदस्यों से अपने स्थान पर जाने और कार्यवाही में हिस्सा लेने की अपील की. उन्होंने कहा कि संसद की कार्यवाही चल रही है, लोग चाहते हैं कि कार्यवाही चले. बिरला ने विपक्षी सदस्यों से कहा कि आप अपने स्थानों पर जाए और कार्यवाही में हिस्सा लें. सदन में व्यवस्था बनते न देख लोकसभा अध्यक्ष ने कार्यवाही शुरू होने के करीब 20 मिनट बाद दोपहर 12 बजे तक के लिये स्थगित कर दी. सदन की कार्यवाही फिर से आरंभ होने पर लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने पेगासस का मामला उठाने की कोशिश की, लेकिन आसन से उन्हें अनुमति नहीं मिली. पीठासीन सभापति राजेंद्र अग्रवाल ने आवश्यक कागजात सदन के पटल पर रखवाए.

विपक्षी सदस्यों की नारेबाजी के बीच ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कराधान विधि (संशोधन) विधेयक, 2021 को चर्चा और पारित कराने के लिए रखा. सदन ने इसे ध्वनिमत से मंजूरी दी. इसके बाद शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2021 चर्चा और पारित कराने के लिए रखा जिसे सदन ने मंजूरी दी. सदन में हंगामे को देखते हुए पीठासीन सभापति राजेंद्र अग्रवाल ने दोपहर करीब 12 बजकर 25 मिनट पर लोकसभा की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी. गत 19 जुलाई को मॉनसून सत्र की शुरुआत से ही कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के सदस्य पेगासस जासूसी मामला और केंद्र के तीन नये कृषि कानूनों समेत अन्य मुद्दों पर नारेबाजी कर रहे हैं. हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही बाधित रही है.(भाषा)

और पढ़ें