नववर्ष पर प्रदेश में चार लाख बल्क लीटर से ज्यादा शराब और बीयर की बिक्री

Nirmal Tiwari Published Date 2019/01/01 02:16

जयपुर। पर्यटन का पायोनियर कहा जाने वाला प्रदेश कल नव वर्ष की पूर्व संध्या पर जश्न के माहौल में डूबा दिखाई दिया। विभिन्न होटल, रिजॉर्ट, रेस्टोरेंट्स, क्लब और बार यहां तक की कई निजी फार्म हाउस में भी पार्टी परिंदे जाम के साथ थिरकते नजर आए। एक अनुमान के मुताबिक कल प्रदेश में चार लाख बल्क लीटर से ज्यादा शराब और बीयर की बिक्री हुई। एक रिपोर्ट: 

प्रदेश में कुल शराब दुकान    7600
होटल, क्लब, रेस्ट्रोबार          750
कल राजधानी में थे पर्यटक    22 हजार
प्रदेश में कल थे पर्यटक          2 लाख
सामान्य दिनों में दैनिक शराब बिक्री   2 से 3 लाख बल्क लीटर
31 दिसम्बर को हुई शराब बिक्री     4 लाख बल्क लीटर
जयपुर में ओकेजनल लाइसेंस     40
प्रदेश में जारी हुए           220

राजस्थान पर्यटन प्रदेश है लेकिन परंपराओं को संजोने और संस्कृति का पोषण करने में हमारे प्रदेश की दूर-दूर तक मिसाल दी जाती हैं। लेकिन पाश्चात्य संस्कृति की तरफ बढ़ते कदम और युवा पीढ़ी द्वारा त्योहार या विशेष अवसरों को सेलिब्रेट करने में शराब का इस्तेमाल बढ़ने से हमारी सांस्कृतिक विरासत की जो छवि है उस पर जरूर विपरीत असर पड़ रहा है। बहरहाल वर्ष 2018 के अंतिम दिन यानी नव वर्ष की पूर्व संध्या पर राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के प्रमुख शहर जिनमें जैसलमेर, जोधपुर, उदयपुर, बीकानेर चित्तौड़ कोटा, भरतपुर, अजमेर, अलवर और माउंट आबू सहित पूरे राज्य में कई डांस डीजे और विभिन्न थीं पार्टियां आयोजित की गई। इन पार्टियों में जमकर जाम छलकाए गए। 

प्रदेश में करीब 7600 शराब की दुकानें हैं और 750 होटल, क्लब और रेस्टरोबार हैं जिनमें कल जमकर शराब की बिक्री हुई। अमूमन दिसंबर के महीने में प्रदेश में रोजाना दो से तीन लाख बल्क लीटर शराब की बिक्री होती है जिसमें व्हिस्की और रम ज्यादा बिकती है लेकिन न्यू ईयर पर देखा गया कि करीब 4 लाख बल्क लीटर शराब की बिक्री हुई इससे साफ जाहिर होता है कि नव वर्ष सेलिब्रेट करने में शराब का जमकर इस्तेमाल हुआ। ट्रैवल ट्रेड की मानें तो न्यू ईयर ईव पर सेलिब्रेशन के तौर पर करीब 115 करोड रुपए का व्यवसाय हुआ। 

विभिन्न होटल रिजॉर्ट और रेस्टोरेंट्स में थीम आधारित पार्टियां रखी गई जिनमें कुछ बॉलीवुड सेलिब्रिटीज और नामचीन डांस डीजे बुलाए गए। अधिकांश जगह सिर्फ कपल्स को ही एंट्री दी गई युवा जोड़े देर रात तक जाम छल खाते हुए विभिन्न पार्टियों में थिरकते नजर आए। शराब की बिक्री से आबकारी विभाग को भी 1 दिन में 22 करोड़ ऊपर से ज्यादा राजस्व की प्राप्ति हुई। कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि न्यू ईयर सेलिब्रेट करने में शराब का तो जमकर इस्तेमाल हुआ है साथ ही साथ होटल और ट्रैवल ट्रेड इंडस्ट्री ने पर्यटकों से जमकर चांदी काटी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in