लॉकडाउन के कारण घर जा रहे मजदूरों की ओवरलोड बस पलटी; 3 की मौत, 15 घायल

लॉकडाउन के कारण घर जा रहे मजदूरों की ओवरलोड बस पलटी; 3 की मौत, 15 घायल

लॉकडाउन के कारण घर जा रहे मजदूरों की ओवरलोड बस पलटी; 3 की मौत, 15 घायल

ग्वालियर: देश में कोरोना का डर लोगों के दिलों दिमाग में इस कदर बैठ गया है कि वें बस अब किसी भी सूरत में अपने अपने घरों में पहुंचना चाहते है. इसके लिए उनकों कुछ भी क्यो ना करना पड़े. इसी डर के कारण मध्यप्रदेश में एक बड़ा हादसा (Big Accident) हो गया. जानकारी के अनुसार दिल्ली से कोरोना की दहशत (Corona Horror) से मजदूर वर्ग मध्यप्रदेश में अपने घर जा रहा था.

तीन की मौके पर मौत 15 मजदूर घायल:
कोरोना के बढ़ते केस और लॉकडाउन के बीच दिल्ली से मध्यप्रदेश के छतरपुर आ रही मजदूरों से भरी तेज रफ्तार बस (High Speed Bus) पलट गई. हादसे में तीन मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई और 15 लोग घायल बताए जा रहे हैं. दुर्घटना ग्वालियर में झांसी हाईवे (Jhansi Highway) पर मंगलवार सुबह जौरासी घाटी के पास हुई. फिलहाल मृतकों की पहचान नहीं हो सकी है. बस में सवार यात्रियों ने खिड़कियों से कूदकर (Jumping Through Windows) अपनी जान बचाई.

दिल्ली में लॉकडाउन की वजह से लौट रहे थे घर:
दिल्ली में रविवार को ही लॉकडाउन की घोषणा की गई है. इस वजह से MP के छतरपुर के ऐसे मजदूर जो कुछ महीने से वहां मजदूरी कर रहे थे, उन्होंने पलायन शुरू कर दिया है. सोमवार रात 2 बजे करीब 100 मजदूर अपने परिवार (Self Family) के साथ बस से छतरपुर के लिए निकले थे. कई मजदूर बस की छत (Roop OF Bus) पर बैठे थे जो नीचे गिर गए. इनमें से दो बस की चपेट में आ गए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई.

पुलिस पहुंचने से पहले ही गांव वालों ने किया राहत कार्य शुरू:
घटना के बाद आसपास के गांव के लोग वहां पहुंचे और पुलिस को सूचना दी. साथ ही बचाव के काम में जुट गए. पुलिस (Police) पहुंचती उससे पहले ही उन्होंने बस के कांच तोड़कर यात्रियों को बाहर निकालना शुरू कर दिया. कुछ घायलों का मौके पर ही इलाज किया गया, जबकि कुछ को डबरा और कुछ को ग्वालियर भेजा गया है. 8 लोगों की हालत नाजुक बताई गई है.

मजदूरों से लिया गया था दोगुना किराया, क्रेन से निकाले गए शव:
बाद में क्रेन की मदद से बस को उठाकर उसके नीचे से शव निकाले गए. हादसे का कारण बस का ओवरलोड होना बताया जा रहा है. सूत्रों ने बताया कि 52 सीटर बस में 100 से ज्यादा यात्री सवार थे. इन मजदूरों से दोगुना किराया भी लिया गया था.

घायलों को मेडिकल कॉलेज के जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराया:
ग्वालियर जिले के पुलिस अधीक्षक अमित सांघी (Suprident Of Police Amit Sanghi) ने बताया कि मंगलवार सुबह करीब नौ बजे ग्वालियर-झांसी राजमार्ग के जौरासी घाटी मोड़ पर यात्रियों से भरी एक बस पलट गई. बस दिल्ली से प्रवासी मजदूरों को लेकर टीकमगढ़-छतरपुर जा रही थी. उन्होंने कहा कि इस हादसे में तीन  यात्रियों की मौत हुई है और करीब 15 लोग घायल हुए हैं, इनमे से 8 की हालत गंभीर है. इन सभी घायलों को मेडिकल कॉलेज के जयारोग्य अस्पताल (Jayarogya Hospital) में भर्ती कराया गया है. सांघी ने बताया कि अन्य यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की गयी है.

ओवरलोड थी बस, इसकी जांच की जाएगी: SP
 SP ने कहा कि इस बस में क्षमता से ज्यादा यात्री (Over Capacity Passenger) सवार थे, इसकी जांच की जाएगी. लेकिन, फिलहाल घायलों के इलाज और सभी मजदूरों को घर भेजने पर ध्यान दिया जा रहा है. इसी बीच, हादसे के तुरंत बाद मध्य प्रदेश के अपर परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सेना (Additional Transport Commissioner Arvind Saxena) मौके पर पहुंचे. उन्होंने बताया कि हादसे के बाद विभाग तुरंत कदम उठाया है और दिल्ली सहित अन्य राज्यों से कहा है कि लॉकडाउन के कारण जिन बसों से प्रवासी मजदूर घर वापस जा रहे हैं, उनकी जानकारी विभाग को दी जाए, ताकि राज्य की सीमा में उन्हें सुरक्षित घर पहुंचाया जा सके.

फरवरी में पूरे राज्य में 24000 बसों की हुई थी जांच:
 जब सक्सेना से पूछा गया कि प्रदेश में ओवरलोड बसों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की गई तो उन्होंने कहा कि फरवरी के बाद पूरे राज्य में 24,000 बसों की जांच की गई और 3000 बसों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई (Punitive Action) भी गई और 2500 बसों के परमिट भी निरस्त किए गए.

बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने रात में होटल पर पी थी शराब: यात्रि
वहीं, बस में सवार एक यात्री गनपत लाल ने बताया कि बस में ड्राइवर के साथ पूरे स्टाफ ने धौलपुर में रात में खाना खाया और शराब पी थी (Had Drunk). धौलपुर में ही बस ड्राइवर ने एक ट्रक में टक्कर मार दी, उसके बाद यहां ग्वालियर के पास बस पलटा दी. इस बस में 100 से ज्यादा यात्री सवार थे और बस की छत पर भी यात्री बैठे थे. दिल्ली से टीकमगढ़ के बस के कंडक्टर (Bus Conductor) ने 700 रुपए प्रति यात्री की वसूली की.

और पढ़ें