Rajasthan By Election 2021: PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा बोले, कांग्रेस पार्टी और कार्यकर्ता तैयार, उपचुनाव जीतेंगे

Rajasthan By Election 2021: PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा बोले, कांग्रेस पार्टी और कार्यकर्ता तैयार, उपचुनाव जीतेंगे

जयपुर: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने राज्य में विधानसभा की दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव में पार्टी की जीत का विश्वास जताते हुए कहा कि कांग्रेस व इसके कार्यकर्ता इसके लिए तैयार हैं. डोटासरा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस के कार्यकर्ता, सभी तैयार हैं. हमने पूरी तैयारी कर रखी है. हम ये चुनाव अच्छे ढंग से जीतेंगे. उल्लेखनीय है कि राजस्थान की धरियावद और वल्लभनगर विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान 30 अक्टूबर को होगा.

निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को नई दिल्ली में चुनाव कार्यक्रमों की घोषणा की. इस बारे में पूछे जाने परे डोटासरा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस के कार्यकर्ता सभी तैयार हैं. हमने पूरी तैयारी कर रखी है. उन्होंने कहा कि राज्य की कांग्रेस सरकार के ढाई साल के कार्यकाल व मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना सहित अन्य योजनाओं से लोग खुश हैं. राज्य सरकार ने कोरोना काल में ऐतिहासिक काम किया है.

उन्होंने कहा कि सरकार का अच्छा कार्यकाल सामने है. हमने पंचायत व नगरपालिका के चुनाव जीते हैं. अब हम प्रशासन गांवों के संग और प्रशासन शहरों के संग अभियान चलाने वाले हैं. इनमें पट्टे देने व अन्य जन समस्याओं के समाधान का काम मुख्यमंत्री और हमारी सरकार ने हाथ में लिया है. उससे जनता में बहुत उत्साह है और हम चुनाव अच्छे ढंग से जीतेंगे.

भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किसान आंदोलन और बढ़ती महंगाई सहित अन्य मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाने की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए डोटासरा ने कहा कि जनता जवाब चाहती है. उन्होंने कहा कि जनता जवाब चाहती है, लेकिन वे ध्यान भटकाने की राजनीति करते हैं. अब जनता को बात समझ आ गई है.

किसान इतने आक्रोशित हैं, इतने नाराज हैं कि इन उपचुनाव में तो कांग्रेस पार्टी जीतेगी ही जीतेगी लेकिन आने वाला जो भी चुनाव होगा उसमें भाजपा और राजग सरकार को बहुत बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा. डोटासरा ने कहा कि केंद्र सरकार माल एवं सेवा कर (जीएसटी) में राज्य सरकार का पैसा उसे नहीं दे रही है और प्रधानमंत्री मोदी के पास नौ- दस महीने से आंदोलन कर रहे किसानों से बात करने के लिए दो मिनट तक का समय नहीं है.

और पढ़ें