Live News »

Yoga Day : रांची में 40 हजार लोगों के साथ PM मोदी ने किया योग, बताया अनुशासन और समर्पण

Yoga Day : रांची में 40 हजार लोगों के साथ PM मोदी ने किया योग,  बताया अनुशासन और समर्पण

रांची(झारखंड): दुनियाभर में आज 5वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर रांची में रहे. पीएम ने रांची स्थित प्रभात तारा मैदान में लगभग चालीस हजार लोगों के साथ योग किया. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम जनों को संबोधित करते हुए देशवासियों को पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं दी. 

योग को जीवन का हिस्सा बनाना जरूरी 
उन्होंने कहा कि आज देश-दुनिया के अनेक हिस्सों में लाखों लोग योग दिवस मना रहे हैं. दुनिया भर में योग के प्रचार-प्रसार के लिए मीडिया के साथी और सोशल मीडिया के लोग महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं. योग दिवस के लिए झारखंड में आना बहुत सुखद अनुभव है. पीएम ने कहा कि योग को जीवन का हिस्सा बनाना जरूरी हो गया है. 

आधुनिक योग की यात्रा शहरों से गांवों की तरफ ले जानी है
पीएम मोदी ने कहा, अब मुझे आधुनिक योग की यात्रा शहरों से गांवों की तरफ ले जानी है, गरीब और आदिवासी के घर तक ले जानी है. मुझे योग को गरीब और आदिवासी के जीवन का भी अभिन्न हिस्सा बनाना है, क्योंकि ये गरीब ही है जो बीमारी की वजह से सबसे ज्यादा कष्ट पाता है. उन्होंने कहा कि आज के बदलते हुए समय में बीमारी से बचाव के साथ-साथ कल्याण पर हमारा फोकस होना जरूरी है. यही शक्ति हमें योग से मिलती है, यही भावना योग की है, पुरातन भारतीय दर्शन की है. योग सिर्फ तभी नहीं होता जब हम आधा घंटा जमीन या मैट पर होते हैं.

योग अनुशान है, समर्पण हैं
इस दौरान पीएम ने संबोधित करते हुए कहा कि योग अनुशान है, समर्पण हैं, और इसका पालन पूरे जीवन भर करना होता है. योग आयु, रंग, जाति, संप्रदाय, मत, पंथ, अमीरी-गरीबी, प्रांत, सरहद के भेद से परे है. योग सबका है और सब योग के हैं. आज हम ये कह सकते हैं कि भारत में योग के प्रति जागरूकता हर कोने तक, हर वर्ग तक पहुंची है. 

योग से जुड़ी रीसर्च पर भी जोर देना होगा
पीएम मोदी ने कहा कि आज हमारे योग को दुनिया अपना रही है तो हमें योग से जुड़ी रीसर्च पर भी जोर देना होगा. इसके लिए जरूरी है कि हम योग को किसी दायरे को बांध कर ना रखें. योग को मेडिकल, फिजियोथेरेपी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इनसे भी जोड़ना होगा.


 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in