कोलकाता बंगाल में ममता पर गरजे PM मोदी, कहा- जो जवान आतंकवादियों और नक्सलियों से नहीं डरते, उन्हें दीदी के गुंडे क्या डराएंगे

बंगाल में ममता पर गरजे PM मोदी, कहा- जो जवान आतंकवादियों और नक्सलियों से नहीं डरते, उन्हें दीदी के गुंडे क्या डराएंगे

बंगाल में ममता पर गरजे PM मोदी, कहा- जो जवान आतंकवादियों और नक्सलियों से नहीं डरते, उन्हें दीदी के गुंडे क्या डराएंगे

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में आज चौथे चरण के लिए वोटिंग हो रही है. और वोटिंग के दौरान कूचबिहार में भारी हिंसा भी हुई है. हिंसा में पांच लोगों के मारे जाने की खबर है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिलीगुड़ी में एक चुनावी रैली को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कूचबिहार हिंसा के लिए TMC को जिम्मेदार ठहराया है. साथ ही सुरक्षाबलों पर हुए हमले को लेकर ममता बनर्जी पर सीधा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि जो जवान आतंकवादियों और नक्सलियों से नहीं डरते हैं. उन्हें दीदी और उनके गुंडे क्या डराएंगे.

BJP की जीत देखकर बौंखला गए है दीदी और उनके गुंडे:
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बंगाल में नव वर्ष शुरू होने वाला है. नव वर्ष में बुराई पर अच्छाई की जीत होने जा रही है. बीजेपी की जीत होने जा रही है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि बंगाल में BJP की जीत देख दीदी और उनके गुंडे बौखला गए हैं. उन्होंने कूचबिहार में मारे गए लोगों के लिए संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने चुनाव आयोग से सख्त से सख्त कार्रवाई का आग्रह किया है.

गोरखा समाज का अपमान कर रही दीदी:
दीदी देश के बहादुर सुरक्षा बल आतंकवादियों से नहीं डरते. नक्सलियों से नहीं डरते. तो आपके पाले-पोसे गुंडों से और आपकी धमकियों से डरेंगे क्या? ये उत्तरी बंगाल हमारा गोरखा समाज तो राष्ट्र रक्षा में हमेशा अग्रणी रहता है. उसका बहुत बड़ा अपमान दीदी कर रही हैं. 

हार देख दीदी का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा: मोदी
अपनी हार सामने देख दीदी का गुस्सा मुझ पर बढ़ता जा रहा है. बंगाल के लोगों का मुझ पर स्नेह देख. दीदी बंगाल के लोगों से भी नाराज हैं. 10 साल तक गरीबों को सताने वाले गुंडों पर, हत्यारों पर, लुटेरे तोलाबाज़ों पर दीदी को गुस्सा नहीं आया. लेकिन दीदी उन सुरक्षाबलों पर गुस्सा कर रही हैं जो बंगाल के लोगों के अधिकार की रक्षा कर रहे हैं.

दीदी और TMC के नेताओ की सोच सामने आ गई है:
दीदी और TMC के नेताओ की सोच क्या है ये अब खुलकर सामने आ रहा है. एक वीडियो सामने आया है जिसमे दीदी की करीबी एक नेता ने अनुसूचित जाति के लोगो का बहुत बड़ा अपमान किया है. उन्होंने कहा कि बंगाल में जो अनुसूचित जाति है. एसटी समुदाय है वो भिखारियों की तरह व्यवहार करती है.

बंगाल के लोग दीदी की जागीर नहीं: 
आपके साथ-साथ जाएंगे तोलाबाज. आपके साथ-साथ जाएंगे सिंडिकेट. आपके साथ जाएगी नॉर्थ बंगाल से भेदभाव करने वाली आपकी दुर्नीति. आपके साथ-साथ जाएगी बंगाल से तुष्टिकरण की राजनीति. बंगाल के लोग आपकी जागीर नहीं हैं दीदी. इसलिए बंगाल के लोगों ने तय कर दिया है कि आपको जाना ही होगा. बंगाल की जनता आपको निकाल कर ही दम लेने वाली है. आप अकेली नहीं जाएंगी. आपके पूरे गिरोह को जनता हटाने वाली है.

दीदी की गुंडागर्दी कैमरे में कैद है:
 मैंने एक वीडियो देखा जिसमें दीदी के करीबी, बंगाल के टूरिज्म मिनिस्टर और यहां पास के विधायक, लोगों को धमका रहे थे. उन्होंने कहा - BJP को वोट दिया तो लोगों को उठाकर बाहर फेंक दिया जाएगा. सब कुछ कैमरे में कैद है. ये गुंडागर्दी खुलेआम है. ये दीदी के 10 साल के राज की सच्चाई है.

बंगाल कह रहा है आशोल पॉरिबोर्तोन:
बंगाल में दशकों से जिस तरह का राजनीतिक वातावरण बना दिया गया है. वो बदलने का समय आ गया है. अब तोलाबाज मुक्त बंगाल बनेगा. अब सिंडिकेट मुक्त बंगाल बनेगा. अब कटमनी मुक्त बंगाल बनेगा. यहां से निकली संतानों ने साहित्य से लेकर सेना तक सभी को मजबूत किया है. आज उन्हीं की प्रेरणा से बंगाल ने आशोल पॉरिबोर्तोन का नारा बुलंद किया है. जिस बंगाल को डर के, भय के, अत्याचार के, अन्याय के बोझ तले दीदी और उनके दल ने दबा रखा था. आज वो कह रहा है- आशोल पॉरिबोर्तोन.

कूचबिहार हिंसा पर चुनाव आयोग ले एक्शन:
इस बीच कूचबिहार में जो हुआ है. वो बहुत दुखद है. जिन लोगों की मृत्यु हुई है. मैं उनके निधन पर दुख जताता हूं. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं. बीजेपी के पक्ष में जनसमर्थन देख कर दीदी और उनके गुंडों की बौखलाहट बेकाबू होती जा रही है. अपनी कुर्सी जाते देख, दीदी इस स्तर पर उतर आई हैं. लेकिन मैं दीदी को, टीएमसी को, उनके गुंडों को, साफ-साफ कह देना चाहता हूं कि दीदी और टीएमसी की मनमानी बंगाल में नहीं चलने दी जाएगी. मेरा चुनाव आयोग से आग्रह है कि कूचबिहार में जो हुआ है उसके दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई हो.

और पढ़ें