Live News »

पीएम मोदी आज नई दिल्‍ली में प्रमुख अर्थशास्‍त्रियों के साथ करेंगे विचार-विमर्श

पीएम मोदी आज नई दिल्‍ली में प्रमुख अर्थशास्‍त्रियों के साथ करेंगे विचार-विमर्श

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी नई दिल्‍ली में आज एक बैठक में प्रमुख अर्थशास्‍त्रियों के साथ विचार-विमर्श करेंगे. आशा है कि इस बैठक में आर्थिक वृद्धि दर बढ़ाने और रोजगार सृजन के लिए नीति का खाका तैयार करने पर चर्चा की जाएगी. 

दरअसल बैठक का आयोजन नीति आयोग ने किया है. बैठक में विभिन्‍न क्षेत्रों के विशेषज्ञों और उद्योगपतियों के भाग लेने की उम्‍मीद है. वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारामण के अगले महीने की पांच तारीख को आम बजट पेश किए जाने से पहले हो रही इस बैठक को महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है. इससे पहले इंडस्ट्रीज के 45 बड़े चेहरों के साथ नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार भी बैठक करने जा रहे है. बता दें कि यह बैठक हाल में जारी सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के आंकड़े जारी होने के बाद हो रही है.

और पढ़ें

Most Related Stories

COVID-19: देश में पिछले 24 घंटों में सामने आए रिकॉर्ड 8380 केस, मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 5 हजार पार

COVID-19: देश में पिछले 24 घंटों में सामने आए रिकॉर्ड 8380 केस, मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 5 हजार पार

नई दिल्ली: देश में लगातार कोरोना वायरस का कहर बढता जा रहा है. जानलेवा कोरोना वायरस से पिछले 24 घंटों में 193 लोगों की मौत हुई है. इसी के साथ देश में मरने वालों की संख्या 5 हजार पार पहुंच गई है. वहीं पिछले एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोना के केस आये है. देश में कुल 8 हजार 380 नए केस सामने आए हैं. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 8 हजार 693 केस, पिछले 12 घंटे में सामने आये 76 पॉजिटिव, एक मरीज की मौत

देश में कुल एक लाख 82 हजार 143 मामले:
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक एक लाख 82 हजार 143 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं 5164 लोगों की मौत हो चुकी है. 86 हजार 984 लोग ठीक भी हुए हैं. भारत दुनिया में कोरोना वायरस से अब सबसे बुरी तरह से प्रभावित नौंवा देश है.

मरीजों के स्वस्थ होने की दर 47.40 फीसदी:
स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले दोगुने होने के समय में सुधार हुआ है जो अब 13.3 दिन से बढ़कर 15.4 दिन हो गया है. वहीं देश में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 47.40 फीसदी हो गई है.

रेडियो पर मन की बात: पीएम मोदी बोले, कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी, रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया

रेडियो पर मन की बात: पीएम मोदी बोले, कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी, रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया

 रेडियो पर मन की बात: पीएम मोदी बोले, कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी, रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया

नई दिल्ली: कोरोना लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात की. लॉकडाउन में तीसरी बार पीएम मोदी ने मन की बात की. रेडियो पर प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात करते हुए कोरोना के प्रभाव से मन की बात भी अछूती नहीं. पीएम मोदी ने कहा कि सावधानियों के साथ हवाई जहाज चलने लगे है. 2 गज की दूरी के नियम में जरा भी ढील ना बरतें. हमारे देश में कोरोना केस अन्य देशों के मुकाबले कम है. अर्थव्यवस्था के विकास का हिस्सा खुल गया है. दुनिया के मुकाबले भारत में मृत्यु दर कम है.

सेवा और त्याग हमारे आदर्श:
देश ने दिखा दिया सेवा और त्याग हमारे आदर्श है. अर्थव्यवस्था खुलने के बाद ज्यादा सावधानी बरतनी होगी. पीएम मोदी ने कहा कि जब मैंने पिछली बार आपसे मन की बात की थी, तब यात्री ट्रेनें बंद थीं, बसें बंद थीं, हवाई सेवा बंद थी. इस बार, बहुत कुछ खुल चुका है. श्रमिक स्पेशल ट्रेन चल रही हैं, अन्य स्पेशल ट्रेनें भी शुरू हो गई हैं. तमाम सावधानियों के साथ, हवाई जहाज उड़ने लगे हैं, धीरे-धीरे उद्योग भी चलना शुरू हुआ है, यानी अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा अब चल पड़ा है, खुल गया है. ऐसे में, हमें और ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है.

कोरोना के बीच आया टिड्डी संकट बेहद गंभीर, नागौर में 160 हेक्टेयर में फसलों को हुआ नुकसान

रेडियो पर प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात:
मन की बात में संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी है. रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया है. लाखों श्रमिकों को सुरक्षित घर पहुंचाने का काम जारी है. ये आपदा भविष्य के लिए सीख लेने का अवसर है. देश में आत्मनिर्भर भारत पर मंथन जारी है. लोग अब लोकल उत्पादों को ही खरीद रहे हैं. लोगों ने आत्मनिर्भर भारत को अपना मिशन बनाया है. अंधेरे से रोशनी की ओर बढ़ना हमारा स्वभाव है. कोरोना से लड़ाई में योग और आयुर्वेद मददगार है. कोरोना संकट के वक्त में योग बहुत अहम है. कई प्राणायाम का असर हम लंबे समय से देख रहे हैं.

दूसरों की सेवा में लगे व्यक्ति के जीवन में तनाव नहीं:
मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई मजबूती से लड़ रहे हैं. दुनिया की तरफ देखे तो अपनी उपलब्धि बड़ी नजर आती है. दूसरों की सेवा में लगे व्यक्ति के जीवन में तनाव नहीं. मास्क पहनने में लोग जरा भी ढील नहीं बरतें. देशवासी कोरोना से लड़ाई में नए तरीके अपना रहे हैं. सतना में किसान ने ट्रैक्टर से जोड़कर सैनिटाइजेशन मशीन बनाई है. 

जल है तो कल है, बारिश का पानी बचाना है:
पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से 1 करोड़ लोगों को मुफ्त इलाज हुआ है. गरीबों के लिए आयुष्मान भारत योजना लाए है. आयुष्मान भारत योजना से गरीबों के पैसे बचाए गए. आयुष्मान भारत योजना के 80 प्रतिशत लाभार्थी ग्रामीण क्षेत्र के है. अम्पन तूफान की वजह से कई घर तबाह हो गए है. वहीं किसानों को भी नुकसान हुआ है. टिड्डी दल से भी किसानों को संकट का सामना करना पड़ा है. प्रशासन किसानों की मदद करने में जुटा हुआ है. लॉकडाउन में जीवन की रफ्तार जरूर धीमी हुई है. जल है तो कल है, बारिश का पानी बचाना है.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 8 हजार 693 केस, पिछले 12 घंटे में सामने आये 76 पॉजिटिव, एक मरीज की मौत

8 जून से धार्मिक स्थलों को शर्तों के साथ खोलने की मंजूरी, गृह मंत्रालय की गाइडलाइन जारी

नई दिल्ली: देशभर में 1 जून से 30 जून तक अनलॉक 1 का ऐलान कर दिया गया. गृह मंत्रालय की ओर से गाइडलाइन्स जारी की गई. इसके तहत कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से छूट मिलेगी, लेकिन फिलहाल कंटेनमेंट जोन में पूरी पाबंदी रहेगी. हालांकि, जरूरी गतिविधियों को मंजूरी दी जाएंगी. अनलॉक 1 की यह गाइडलाइन्स 1 जून से जारी रहेगी. चलिए जानते है इस गाइडलाइन्स के बारे में...

मध्यप्रदेश में 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने किया एलान

कंटेनमेंट जोन के अंदर सब कुछ बंद
इस गाइडलाइन के मुताबिक कंटेनमेंट जोन के अंदर सब कुछ बंद रहेगा, लेकिन कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से सब कुछ खोलने की अनु​मति होगी. 

प्रथम चरण: 8 जून से धार्मिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल खोलने की अनुमति दी जाएगी. हालांकि, यह सब शर्तों के साथ ही खोले जाएंगे.

द्वितीय चरण: इसमें स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान खोलने जाएंगे. लेकिन इसकी अनुमति राज्य सरकार की ओर से दी जाएगी. अभी जुलाई माह से स्कूलों को खोलने का प्रयास किया जाएगा. 

तृतीय चरण: इसमें अंतरराष्ट्रीय उड़ानें, मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल जैसी जगहें आदि को खोलने पर विचार होगा.

कर्फ्यू जारी रहेगा:  
रात 9 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा. इमरजेंसी सेवाओं को इसमें छूट दी गई है. स्कूल-कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान खोले जाने पर फैसला सरकार बाद में लेगी.

मनरेगा श्रमिकों का कार्य समय कम किया जाये, डिप्टी CM सचिन पायलट ने लिखा केन्द्र को पत्र

देशभर में 1 से 30 जून तक अनलॉक-1 का एलान, कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से छूट

नई दिल्ली: केन्द्र सरकार की ओर से देश में लॉकडाउन 5.0 की गाइडलाइन जारी की गई है. अब यह 1 जून से 30 जून तक लागू रहेगा. शर्तों के साथ धार्मिक स्थल खुलेंगे. बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश में लागू लॉकडाउन का चौथा चरण का रविवार यानी 31 मई को आखिरी दिन है. चौथा लॉकडाउन 18 मई से 31 मई तक के लिए लगाया गया था. इससे पहले 25 मार्च से 14 अप्रैल, 15 अप्रैल से 3 मई और 4 मई से 17 मई तक के लिए लॉकडाउन का एलान किया गया था.

लॉकडाउन 5.0  पर गृह मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन
-देशभर में 1 से 30 जून तक अनलॉक-1 का एलान
-कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से छूट
-कंटेनमेंट जोन 30 जून तक रहेंगे बंद
-1 जून से 30 जून तक जारी रहेगी गाइडलाइन
-कंटेनमेंट जोन के बाहर आर्थिक गतिविधियों में छूट होगी
-रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा
-8 जून से धार्मिक स्थलों को शर्तों के साथ खोलने की मंजूरी
-स्कूल,कॉलेज खोलने पर राज्य सरकारें लेंगी फैसला
-होटल,रेस्टोरेंट,मॉल्स 8 जून से खोले जाएंगे

-सिर्फ जरूरी कार्य व स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए ही बाहर निकलें
-पहले की तरह मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी होगा
-भीड़ लगाना मना होगा, शादियों के लिए ज्यादा से ज्यादा 50 लोग इकट्ठे हो पाएंगे
-अंतिम संस्कार के लिए 20 से ज्यादा लोग इकट्ठे न हों
-सार्वजनिक जगहों पर थूकने पर प्रतिबंध जारी रहेगा
-सार्वजनिक जगहों पर पान, गुटखा, शराब का सेवन प्रतिबंधित रहेगा
-जहां तक हो सके लोग घर से ही काम करें, वर्क फ्रॉम होम को बढ़ावा

मध्यप्रदेश में 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने किया एलान

मध्यप्रदेश में 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने किया एलान

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन 15 दिन और बढ़ा दिया गया है. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार शाम इसका एलान किया है.यानी अब मध्यप्रदेश में 1 जून से लॉकडाउन-5 लागू हो जाएगा. 

लॉकडाउन 4 का कल आखिरी दिन:
देश में लागू लॉकडाउन-4 का रविवार यानी 31 मई को आखिरी दिन है. इस बीच मध्य प्रदेश के सीएम ने राज्य में इसे बढ़ाने का एलान कर दिया है. देश में भी लॉकडाउन 5 का आज ऐलान हो सकता है. क्योंकि देशव्यापी लॉकडाउन 31 मई को समाप्त होने जा रहा है.

लॉकडाउन 5 को लेकर सुगबुगाहट तेज! गृहमंत्री अमित शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी से की मुलाकात 

मध्यप्रदेश में कोरोना के 7 हजार से ज्यादा मामले:
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के अब तक 7645 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. वहीं कोरोना वायरस की चपेट में आने से अब तक 334 लोगों की मौत हो चुकी है. उपचार के बाद 4269 लोग रिकवर हुए हैं.

प्रवासियों ने बढ़ाई उदयपुर की मुसिबत, नए पॉजिटिव आने के बाद झाडोल और चावण्ड में लगाया कर्फ्यू 

लॉकडाउन 5 को लेकर सुगबुगाहट तेज! गृहमंत्री अमित शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी से की मुलाकात 

लॉकडाउन 5 को लेकर सुगबुगाहट तेज! गृहमंत्री अमित शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी से की मुलाकात 

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन जारी है, ये लॉकडाउन का चौथा चरण चल रहा है. ऐसे में लॉकडाउन 31 मई को समाप्त होने वाला है. ऐसे में अभी तक लॉकडाउन 5 पर कोई ऐलान नहीं हुआ है. लेकिन जिस तरह से देशभर में कोरोना के मामले बढ रहे है, वैसे अंदाजा लगाया जा रहा है कि देश में लॉकडाउन 5 भी लागू किया जा सकता है, लेकिन लॉकडाउन 4 में मिली छूट को देखते हुए लॉकडाउन 5 में छूट ​दी जाएगी. 

कई अहम मुद्दों पर चर्चा:
इस बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. जानकारी के मुताबिक इस मुलाकात में लॉकडाउन सहित कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई. राज्यों के सुझाव पर लॉकडाउन पर फैसला लिया जाएगा. इस बैठक के दौरान पीएमओ और गृह मंत्रालय के अधिकारी भी मौजूद रहे. पीएम मोदी और गृहमंत्री शाह के बीच शनिवार को फिर से करीब एक घंटे तक मुलाकात चली. 

ऋतिक रौशन की चचेरी बहन पश्मिना जल्द ही बॉलीवुड में करेगी डेब्यू, अभिनेता ने लिखी ये शानदार पोस्ट

मोदी सरकार-2 के एक साल पूरे होने पर चर्चा:
जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी के साथ हुई बैठक में मोदी सरकार-2 के एक साल पूरे होने पर भी चर्चा हुई. शुक्रवार को भी दोनों नेताओं के बीच करीब 2 घंटे तक बैठक हुई थी. रविवार को लॉकडाउन का आखिरी दिन है ऐसे में आज की ये बैठक को महत्वपूर्ण माना जा रहा है.गौरतलब है कि कोरोना से बचाव के लिए देशव्यापी लॉकडाउन का चौथा चरण का रविवार यानी 31 मई को समाप्त होने वाला है. चौथा लॉकडाउन 18 मई से 31 मई तक के लिए लगाया गया था. इससे पहले 25 मार्च से 14 अप्रैल, 15 अप्रैल से 3 मई और 4 मई से 17 मई तक के लिए लॉकडाउन का एलान हुआ था. 

प्रवासियों ने बढ़ाई उदयपुर की मुसिबत, नए पॉजिटिव आने के बाद झाडोल और चावण्ड में लगाया कर्फ्यू 

Coronavirus Vaccine बनाने में अब एक और कंपनी ने जगाई दुनिया की उम्मीदें, अक्टूबर के अंत तक हो सकती है तैयार

Coronavirus Vaccine बनाने में अब एक और कंपनी ने जगाई दुनिया की उम्मीदें, अक्टूबर के अंत तक हो सकती है तैयार

नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन तैयार करने को लेकर कई देशों में शोध चल रहा है. इसी बीच अब एक और कंपनी ने वैक्सीन बनाने में उम्मीदें जगा दी है. वियाग्रा जैसी दवाओं का आविष्कार करने वाली अमेरिकन फार्मास्यूटिकल कंपनी Pfizer ने दावा किया है कि इस साल अक्टूबर के अंत तक इसकी वैक्सीन बनकर तैयार हो जाएगी. 

जयपुर एयरपोर्ट से आज 20 में से 12 फ्लाइट रद्द, 6 दिन बाद एयरलाइन्स पहुंची पहले दिन के संचालन पर 

अक्टूबर के अंत तक वैक्सीन तैयार हो जाएगी: 
कंपनी के सीईओ के मुताबिक, अगर सबकुछ ठीक रहा तो अक्टूबर के अंत तक वैक्सीन तैयार हो जाएगी. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि एक गुणकारी और सुरक्षित वैक्सीन के लिए हम भरपुर प्रयास कर रहे हैं. Pfizer जर्मनी की फर्म बायोन्टेक के साथ यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में कई संभावित वैक्सीन को लेकर काम कर रहा है.

कंपनी चार अलग-अलग वैक्सीन पर काम कर रही: 
Pfizer कंपनी फिलहाल चार अलग-अलग वैक्सीन पर काम कर रही है. ऐसे में जून जुलाई तक यह साफ हो जाएगा कि कौन सी वैक्सीन सबसे ज्यादा कारगर और सुरक्षित है. इसके लिए डाटा इकट्टा कर उसका विश्लेषण किया जा रहा है. 

राज्य के प्रधान मुख्य वन संरक्षक हाईकोर्ट में तलब, 8 माह पूर्व पकड़े गये एक ट्रक से जुड़ा पूरा मामला 

पूरे विश्व में 120 वैक्सीन पर काम चल रहा:
बता दें कि दुनियाभर में कई दवा कंपनियां और वैज्ञानिक दिन रात एक कर वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं. WHO के अनुसार इस समय पूरे विश्व में 120 वैक्सीन पर काम चल रहा है. वहीं दूसरी ओर अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों की माने तो नई वैक्सीन तैयार होने में अभी एक से डेढ़ साल का समय लग सकता है. लेकिन Covid-19 जैसी महामारी वाली विशेष परिस्थितियों में एक्सपेरिमेंटल वैक्सीन कामयाब हो सकती हैं. 
 

मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: PM मोदी का जनता के नाम पत्र, कहा- एक साल में लिए गए फैसले बड़े सपनों की उड़ान

मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: PM मोदी का जनता के नाम पत्र, कहा- एक साल में लिए गए फैसले बड़े सपनों की उड़ान

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल का पहला साल आज पूरा हो गया है. इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने देश के नाम चिट्ठी लिखर पिछले 1 साल की सरकार की उपलब्धियों का रोडमैप बताया है.

VIDEO: जून में होगी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं, 31 मई के बाद भी जारी रहेगा रात्रिकालीन कर्फ्यू  

कोरोना पर जीत के लिए देश के दृढ़ संकल्प को भी सलाम किया: 
प्रधानमंत्री मोदी ने पत्र में लिखा कि देशवासियों की आशाओं-आकांक्षाओं की पूर्ति करते हुए हम तेज गति से आगे बढ़ ही रहे थे, कि कोरोना वैश्विक महामारी ने भारत को भी घेर लिया. कई लोगों ने आशंका जताई थी कि जब कोरोना भारत पर हमला करेगा, तो भारत पूरी दुनिया के लिए संकट बन जाएगा. पीएम ने अपनी चिट्ठी में कोरोना पर जीत के लिए देश के दृढ़ संकल्प को भी सलाम किया. 

उन्होंने लिखा कि यदि सामान्य स्थिति होती तो मुझे आपके बीच आकर आपके दर्शन का सौभाग्य मिलता, लेकिन वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से जो परिस्थितियां बनी हैं उन परिस्थितियों में, मैं इस पत्र के द्वारा आपका आशीर्वाद लेने आया हूं.

बड़े शहरों को छोड़ कर जा रहे मजदूरों का मर्म भी दिखा:
मोदी के खत में बड़े शहरों को छोड़ कर जा रहे मजदूरों का मर्म भी दिखा. उन्होंने कहा कि ''निश्चित तौर पर, इतने बड़े संकट में कोई ये दावा नहीं कर सकता कि किसी को कोई तकलीफ और असुविधा न हुई हो. हमारे श्रमिक साथी, प्रवासी मजदूर भाई-बहन, छोटे-छोटे उद्योगों में काम करने वाले कारीगर, पटरी पर सामान बेचने वाले, रेहड़ी-ठेला लगाने वाले, हमारे दुकानदार भाई-बहन, लघु उद्यमी, ऐसे साथियों ने असीमित कष्ट सहा है. इनकी परेशानियां दूर करने के लिए सभी मिलकर प्रयास कर रहे हैं.

2014 की उपलब्धियों का जिक्र:
पिछले कार्यकाल की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए पीएम मोदी ने लिखा कि हमने गरीबों के बैंक खाते खोलकर, उन्हें मुफ्त गैस कनेक्शन देकर, मुफ्त बिजली कनेक्शन देकर, शौचालय बनवाकर और घर बनवाकर गरीब की गरीमा भी बढ़ाई. इससे आगे उन्होंने लिखा कि उस कार्यकाल में जहां सर्जिकल स्ट्राइक हुई, एयर स्ट्राइक हुई. वहीं हमने वन रैंक वन पेंशन, वन नेशन वन टैक्स- जीएसटी, किसानों की MSP की बरसों पुरानी मांगों को भी पूरा करने का काम किया. पहला कार्यकाल अनेकों आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए समर्पित रहा.

एक साल में लिए गए फैसले इन्हीं बड़े सपनों की उड़ान: 
पीएम ने कहा कि इस एक साल में लिए गए फैसले इन्हीं बड़े सपनों की उड़ान है. उन्होंने आगे लिखा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' इस मंत्र को लेकर आज देश सामाजिक हो या आर्थिक, वैश्विक हो या आंतरिक, हर दिशा में आगे बढ़ रहा है.

बीते एक वर्ष में कुछ महत्वपूर्ण निर्णय ज्यादा चर्चा में रहे: 
प्रधानमंत्री ने बताया कि बीते एक वर्ष में कुछ महत्वपूर्ण निर्णय ज्यादा चर्चा में रहे और इस वजह से इन उपलब्धियों का स्मृति में रहना भी बहुत स्वाभाविक है. राष्ट्रीय एकता-अखंडता के लिए आर्टिकल 370 की बात हो, सदियों पुराने संघर्ष के सुखद परिणाम-राम मंदिर निर्माण की बात हो, आधुनिक समाज व्यवस्था में रुकावट बना ट्रिपल तलाक हो, या फिर भारत की करुणा का प्रतीक नागरिकता संशोधन कानून हो, ये सारी उपलब्धियां आप सभी को स्मरण हैं. 

पर्यटन क्षेत्र को मिलेगी संजीवनी,1 जून से खुलेंगे पर्यटन स्थल, शुरू में स्मारकों में प्रवेश रहेगा फ्री

किसान सम्मान निधि के दायरे में हर किसानः
गरीब, किसान, महिलाओं और युवाओं का जिक्र करते हुए मोदी ने लिखा कि अब पीएम किसान सम्मान निधि के दायरे में हर किसान आ चुका है. पिछले एक साल में एस योजना के तहत 9.50 करोड़ से ज्यादा किसानों के खातों में 72 हजार करोड़ रुपये से अधिक राशि जमा कराई गई है.

Open Covid-19