VIDEO: पीएम मोदी का आज मारवाड़ दौरा, जानें इन मायनों में है खास 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/21 07:01

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मारवाड़ और मालानी का दौरा कई मायनों में खास है। पाकिस्तान से सटे बाड़मेर उनका चुनावी संदेश क्या रहेगा इस पर सबकी नजरें रहेगी। अशोक गहलोत की सियासी कर्मस्थली जोधपुर में उनका रोड शो होगा। इससे पहले मोदी आये थे रिफाइनरी का आगाज करने। खास बात है कि बीते विधानसभा चुनावों में इन्हीं इलाकों में मिली विजय ने गहलोत को तीसरी बार मुख्यमंत्री की कुर्सी तक पहुंचाया था। अब मोदी का संदेश खास होगा। खास सियासी रिपोर्ट:

मारवाड़ का इलाका राज्य की राजनीति में सर्वाधिक ताकतवर रहा है। कई मुख्यमंत्री इसी धरती ने पैदा किये तो कई कद्दावर नेता और सामाजिक, ब्यूरोक्रेट हस्तियां यहां से निकले। जयनारायण व्यास, बरकुतल्ला खान, परसराम मदेरणा, खेत सिंह राठौड़, जसवंत सिंह, अशोक गहलोत, गंगा राम चौधरी, पूनम चंद विश्नोई सरीखे कद्दावर नेताओं की यही धरती रही है। कांग्रेस की इस उर्वर जमीन पर बीजेपी ने पिछले लोकसभा चुनावों में मोदी फेक्टर सिर चढ़कर बोला। इतना ही नहीं मोदी सरकार में इसी इलाके से आने वाले गजेन्द्र सिंह शेखावत और पीपी चौधरी को मंत्री बनाया गया, लेकिन विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने भरपाई कर ली। पाली जिले को छोड़ दे तो जोधपुर और बाड़मेर में हाथ का पंजा भारी पड़ा। खास बात यह रही कि कद्दावर नेता जसवंत सिंह के पुत्र मानवेन्द्र सिंह कांग्रेस में आ गये और अब बाडमेर से उम्मीदवार है। 

मौजूदा राजनीतिक स्टेटस:
 
—जोधपुर संभाग में चार लोकसभा इलाके आते है
—अभी चारों लोकसभा सांसद भाजपा के है
—जैसलमेर -बाडमेर से है कर्नल सोनाराम
—जोधपुर-गजेन्द्र सिंह शेखावत
—पाली-पीपी चौधरी
—जालौर सिरोही-देवजी पटेल
—बाडमेर, जैसलमेर और जोधपुर में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का ग्राफ बढ़ा
—दूसरी ओर पाली, जालोर, सिरोही में कांग्रेस कमजोर रही है
—यूं कहे जोधपुर, बाडमेर लोकसभा सीटों पर विधानसभा चुनावों परिणामों के लिहाज से देखे तो कांग्रेस मजबूत
—वहीं पाली और जालोर-सिरोही लोकसभा सीट पर बीजेपी मजबूत नजर आ रही 
—जातीय राजनीति से लबरेज है यह इलाका

गहलोत राज में मारवाड़, मालानी, गोड़वाड़ का प्रतिनिधित्व:
 
—अशोक गहलोत राज्य के मुख्यमंत्री है, उन्हीं के पास राज्य की कमान 
—हरीश चौधरी कैबिनेट के मंत्री, राजस्व महकमा इनके पास
—सालेह मोहम्मद है अल्पसंख्यक महकमे के कैबिनेट मंत्री 
—सुखराम के पास वन और पर्यावरण के तौर पर राज्य मंत्री का पद

केन्द्र और राज्य भाजपा में मारवाड़ का प्रतिनिधित्व:

—ओम प्रकाश माथुर है भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री
—गजेन्द्र सिंह शेखावत है केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री 
—पीपी चौधरी है मोदी सरकार में  मंत्री
—जसवंत सिंह विश्नोई को सियासी नियुक्ति हासिल
—बाड़मेर से जसवंत सिंह के पुत्र मानवेन्द्र उम्मीदवार 
—मानवेन्द्र पहली बार लड रहे है कांग्रेस टिकट पर चुनाव 
—उनका मुकाबला बीजेपी के कैलाश चौधरी 
—जोधपुर से केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत उम्मीदवार 
—सीएम के पुत्र और युवा चेहरे वैभव दे रहे गजेन्द्र को चुनौती

बीजेपी का यहां पुराना कैडर नेटवर्क है। सीमावर्ती इलाकों में कभी  भैंरो सिंह शेखावत और जसवंत सिंह जैसे दिग्गज नेताओं का प्रभाव रहा, भैंरो सिंह तो बाली से चुनाव लड़ चुके है। ओम प्रकाश माथुर के प्रभाव से भी यह जुडा इलाका है। आज कांग्रेस फिर से मारवाड़ में मजबूत हुई है। कांग्रेस के वोट बैंक में इजाफा हुआ है। अशोक गहलोत की ताकत बढी है, वे तीसरी बार मुख्यमंत्री बने है। ओसियां, लूणी और बायतू  जैसे पुराने गढ़ कांग्रेस ने फतह किये है। कर्नल सोनाराम की विधानसभा चुनाव में हार से सियासी संदेश गया तो वहीं मदेरणा और विश्नोई परिवारों को मौजूदा चुनाव परिणामों ने संजीवनी देने का काम किया है। इतना ही नहीं शेरगढ़ में कांग्रेस ने राजपूत पताका फिर फहराई वो भी सालों बाद। राठौड़ का दौर फिर याद आ गया, रिफाइनरी के जरिये बीजेपी ने वोट बैंक साधने की कोशिश की थी, लेकिन यह प्रयोग सफल नहीं हो पाया था। उल्टा पचपदरा में कांग्रेस जीत गई, ऐसे में मोदी चाहेंगे कि कांग्रेस के प्रभाव क्षेत्रों में फिर से कमल खिलाना। सीमावर्ती क्षेत्र है लिहाजा मोदी के दौरे से राष्ट्रवाद का मुद्दा गर्मा तय है, क्योंकि पड़ौसी पाकिस्तान तक पहुंचनी भी तय है। 

... संवाददाता योगेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in