प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 7 जनवरी को पश्चिमी समर्पित मालवहन गलियारा के न्‍यू रेवाड़ी-न्‍यू मदार खंड का करेंगे उद्घाटन 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 7 जनवरी को पश्चिमी समर्पित मालवहन गलियारा के न्‍यू रेवाड़ी-न्‍यू मदार खंड का करेंगे उद्घाटन 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 7 जनवरी को पश्चिमी समर्पित मालवहन गलियारा के न्‍यू रेवाड़ी-न्‍यू मदार खंड का करेंगे उद्घाटन 

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी गुरुवार (7 जनवरी) को पश्चिमी समर्पित मालवहन गलियारा (वेस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर) के 306 किमी लंबे न्‍यू रेवाड़ी-न्यू मदार खंड को राष्ट्र को समर्पित करेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित एक समारोह में वह न्यू अटेली से न्यू किशनगढ़ के लिए विश्व के पहले डबल स्टैक लांग हॉल कंटेनर ट्रेन आपरेशंस(1.5 किलोमीटर लंबी कंटेनर ट्रेन) को झंडी दिखाकर रवाना भी करेंगे. इस अवसर पर राजस्‍थान और हरियाणा के राज्‍यपाल और मुख्‍यमंत्रियों के अलावा रेलमंत्री पीयूष गोयल भी उपस्थित रहेंगे.

हरियाणा और राजस्‍थान दोनों में आता है न्‍यू रेवाड़ी-न्‍यू मदार सेक्‍शनः
न्‍यू रेवाड़ी-न्‍यू मदार सेक्‍शन का हिस्‍सा हरियाणा और राजस्‍थान दोनों में आता है. इस मार्ग पर न्‍यू रेवाड़ी, न्‍यू अटेली और न्‍यू फूलेरा जैसे तीन जंक्‍शन सहित नौ स्‍टेशन बनाए गए हैं. स्टेशनों में न्यू डाबला, न्यू भगेगा, न्यू श्रीमाधोपुर, न्यू पछार मालिकपुर, न्यू सकूल और न्यू किशनगढ़ शामिल हैं. इस नए मालवहन गलियारे के खुल जाने से राजस्‍थान और हरियाणा के रेवाडी-मानेसर, नारनौल, फूलेरा और किशनगढ़ में मौजूद विभिन्‍न औद्योगिक इकाइयों को फायदा पहुंचेगा. इसके अलावा काठूवास स्‍थ‍ित कॉनकोर के कन्‍टेनर डिपो का भी बेहतर इस्‍तेमाल हो सकेगा.

मालवहन गलियारा सामान की ढुलाई को बनाएगा आसानः 
बयान में कहा गया कि यह मालवहन गलियारा गुजरात में स्थित कान्‍डला, पीपावाव, मुंद्रा और दाहेज बंदरगाहों से सामान की ढुलाई को भी आसान बना देगा. इस रेल खंड के शुरू हो जाने से देश का पश्‍चिमी और पूर्वी मालवहन गलियारा एक दूसरे से जुड़ जाएंगे. प्रधानमंत्री इससे पहले न्यू भाऊपुर और न्यू खुर्जा के बीच पूर्वी समर्पित मालवहन गलियारा राष्ट्र को समर्पित कर चुके हैं.
सोर्स भाषा

और पढ़ें