नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले- प्रधानमंत्री मोदी चाहते थे कि एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा उत्तर प्रदेश में ही बने

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले- प्रधानमंत्री मोदी चाहते थे कि एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा उत्तर प्रदेश में ही बने

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले- प्रधानमंत्री मोदी चाहते थे कि एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा उत्तर प्रदेश में ही बने

नोएडा: नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का निर्देश था कि एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा उत्तर प्रदेश में बनाया जाए. सिंधिया आज यहां जेवर में नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के शिलान्यास समारोह में शामिल हुए. 

उन्होंने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गौतम बुद्ध नगर जिले के जेवर में बनने वाले हवाई अड्डा पर 34,000 करोड़ रुपये का निवेश होगा और ‘ग्रीनफील्ड’ परियोजना के पहले चरण के 2024 में पूरा होने की उम्मीद है और इसकी क्षमता सालाना 1.2 करोड़ यात्रियों की होगी. सिंधिया ने कार्यक्रम में कहा, "विकास के आखिरी चरण तक, नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को भी पीछे छोड़ देगा और भारत का प्रमुख हवाई अड्डा बन जाएगा.

 

सिंधिया ने पिछली गैर-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले केवल चार हवाई अड्डे थे, लेकिन अब नौ हवाई अड्डे हैं और यह (जेवर) राज्य का 10 वां हवाई अड्डा होगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का निर्देश था कि एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा उत्तर प्रदेश में बनाया जाए." उन्होंने कहा, "जहां चाह , वहां राह यह प्रधानमंत्री का महत्वाकांक्षी संकल्प था, जो आज सच हो रहा है. सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें